पीएम मोदी के अनुरोध पर मिली थी 2021 के बजाय 2023 की जी-20 मेजबानी

जी-20 का यह 18वां शिखर सम्मेलन देश के कई शहरों में होने की संभावना है।

पीएम मोदी के अनुरोध पर मिली थी 2021 के बजाय 2023 की जी-20 मेजबानी

भारत एक दिसम्बर 2022 से लेकर 30 नवम्बर 2023 तक जी-20 की अध्यक्षता करेगा।

 नई दिल्ली/जयपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अनुरोध पर भारत में 2021 के बजाय 2023 में जी-20 की मेजबानी का मौका मिला है।  यह भारत में वैश्विक समूह की पहली बैठक होगी। जी-20 का यह 18वां शिखर सम्मेलन देश के कई शहरों में होने की संभावना है। इसके लिए अन्य स्थान भी  तलाशे जा रहे हैं। इससे पहले इसी साल दिसम्बर माह में राजस्थान के उदयपुर में शेरपा की बैठक होगी। जी-20 के सभी सदस्य देशों का एक-एक प्रतिनिधि होता है, जिसे शेरपा कहा जाता है। शिखर सम्मेलन से पहले शेरपा की बैठकें होती है। भारत एक दिसम्बर 2022 से लेकर 30 नवम्बर 2023 तक जी-20 की अध्यक्षता करेगा।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक दिसम्बर-2018 को अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में जी-20 नेताओं के शिखर सम्मेलन में भाग लेने गए थे। इस सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अनुरोध किया था कि भारत 2022 में अपने आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर बड़े कार्यक्रम आयोजित करेगा। इसलिए हम चाहते है कि 2023 में भारत को जी-20 के 18वें शिखर सम्मेलन की मेजबानी करने का मौका मिले। 2023 का यह जी-20 शिखर सम्मेलन इटली में होने वाला था और भारत में 2021 में होना था। लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इटली से अनुरोध किया था कि क्या हम 2021 के बजाय 2023 में जी-20 शिखर की मेजबानी प्राप्त कर सकते है।

मोदी के इस अनुरोध को इटली ने स्वीकार कर लियाइसके लिए मोदी ने उसी दिन इटली का धन्यवाद भी ज्ञापित किया था। इटली में अक्टूबर 2021 में आयोजित भी हो गया। जी-20 का 17वां शिखर सम्मेलन सन 2022 में इंडोनेशिया और 19वां शिखर सम्मेलन 2024 में ब्राजील में प्रस्तावित है।

ये देश है जी-20 में
जी-20 में अर्जेंटीना, आस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाड़ा, चीन, जर्मनी, फ्रांस, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मेक्सिको, रूस, सउदी अरब, दक्षिणी अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, तुर्की, यूनाइटेड किंगडम, संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय संघ शामिल है।

Read More बलिया में एंबुलेंस ड्राइवर ने लगाया मरीज को इंजेक्शन, वीडियो वायरल

Post Comment

Comment List

Latest News

भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस
उन्होंने कहा कि यात्रा को पहले दक्षिण के पांच राज्यों में भारी समर्थन मिला था और जब यात्रा  महाराष्ट्र पहुंची...
झुंझुनूं में विकास की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी : बृजेंद्र ओला
भारतीय संविधान विश्वभर के लोकतंत्रों की सर्वश्रेष्ठ व्याख्या: राज्यपाल मिश्र
खाद की कमीः क्षेत्र में खाद भी राशन की तरह बांटना पड़ा
वसुंधरा राजे हमारी नेता थी, हैं और हमारी नेता रहेगी : कालीचरण सर्राफ
सेना के जवान का बीमारी के चलते निधन राजकीय सम्मान से किया अंतिम संस्कार
भाजपा के टेपन 978 वोट से हुए विजयी