मुख्यमंत्री निरोगी राजस्थान चिरंजीवी स्वास्थ्य शिविर शुरू : आमजन को मिलेगा इलाज और होगी हेल्थ स्क्रीनिंग

मुख्यमंत्री निरोगी राजस्थान चिरंजीवी स्वास्थ्य शिविर शुरू : आमजन को मिलेगा इलाज और होगी हेल्थ स्क्रीनिंग

प्रदेश में बारह हजार से ज्यादा पंचायत मुख्यालयों पर 31 मार्च तक चिकित्सा शिविर लगेंगे

 जयपुर। राजस्थान में रविवार को प्रदेशभर में मुख्यमंत्री निरोगी राजस्थान चिरंजीवी स्वास्थ्य शिविर लगाने का अभियान शुरू हो गया है। इसके माध्यम से प्रदेश में आम-अवाम की हेल्थ स्क्रीनिंग होगी। जांचों में रोगी मिलने पर उनका इलाज होगा। प्रदेश में निरोगी राजस्थान के अभियान के तहत ही प्रदेशभर की 12 हजार से ज्यादा ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर यह शिविर 31 मार्च तक लगाए जाएंगे। अभियान के तहत तीस से अधिक उम्र के लोगों की गहन स्क्रीनिंग होगी। ताकि समय रहते उनमें बीपी, डायबिटीज, सहित अन्य बीमारियों को पकड़ा जा सके। रविवार को चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने वर्चुअली माध्यम से इनकी शुरुआत की। इस मौके पर जिलों में जनप्रतिनिधि सहित आला अधिकारी मौजूद रहे। जयपुर में चिकित्सा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग, विभाग के प्रमुख शासन सचिव वैभव गालरिया सहित अफसर मौजूद थे।


शिविरों में ये मिलेंगी चिकित्सा सुविधाएं
जांचें: 48 तरह की खून की जांच, टीबी, लीवर संबंधित, पेट संबधित, गुर्दा मलेरिया, ईसीजी, तीन कॉमन कैंसर, प्रसव पूर्व जांच, आंखों की जांच, सिलिकोसिस, कुष्ठ रोगों की जांच होगी।


टेली कंसलटेसी से विशेषज्ञों से इलाज

शिविर में इंटरनेट के माध्यम से ई-टेली कंसलटेंसी के जरिए सुपर स्पेशलिटी व स्पेशलिस्टों की आॅनलाइन कंसलटेंसी सेवा के लिए जोड़ा जा रहा है। इसके लिए जयपुर के एसएमएस अस्पताल के पांच सुपर स्पेशलिस्ट एवं स्वास्थ्य भवन से 10 विशेषज्ञ चिकित्सक की सेवाएं टेली कंसलटेंसी के लिए दी जाएगी।

ये डॉक्टर देंगे खास सेवाएं
शिविर में फिजिशियन, शिशु रोगी, स्त्री रोगी, दंत रोगी, नेत्र रोगी, आयुष चिकित्सक मौजूद रखकर इलाज करेंगे।
अन्य सेवाएं
जांच उपरांत जरूरत होने पर सर्जरी के लिए मरीज को उच्चतर अस्पतालों में रैफर किया जाएगा। जननी सुरक्षा योजना, शिशु सुरक्षा योजना, सीएम राजश्री योजना का लाभ ले सकेंगे। कुपोषित बच्चों की पहचान-पोषाहार के लिए कोर्डिनेशन कर इलाज, टीबी के संदिग्ध मरीजों का बड़े अस्पतालों में जांच एक्स रे इत्यादि हो सकेगी।

घर-घर चिकित्सा पहुंचाना चुनौतीपूर्ण

शिविरों की शुरुआत करते हुए चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा ने कहा कि आमजन स्वस्थ रहेगा तो ही राजस्थान विकास के नए आयाम स्थापित कर सकता है। निरोगी राजस्थान को शिविर एक अहम कड़ी रहेंगे। कहा कि विषम भौगोलिक संरचना के चलते घर-घर तक चिकित्सा सुविधाएं पहुंचाना बेहद चुनौती भरा है। शिविर प्रदेश में 12 हजार से ज्यादा ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर लगाए जा रहे हैं। उन्होंने पूर्व पीएम पंडित नेहरू की जयंती पर उन्हें याद करते हुए कहा कि वे आधुनिक भारत के निर्माता थे। उनकी जन्मतिथि पर ऐसे शिविरों का आयोजन उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि है। शिविरों की अधिकारियों को लगातार मोनिटरिंग करने के निर्देश भी दिए ताकि लोगों को ज्यादा से ज्यादा फायदा मिल सके। कोरोना प्रबन्धन और वैक्सीनेशन में राजस्थान अव्वल रहा है। चिकित्सा ढांचे को निरंतर मजबूत किया जा रहा है। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उदयपुर, अजमेर, बारां, जोधपुर, भरतपुर, बांसवाड़ा जिलों की विभिन्न ग्राम पंचायतों के शिविरों में आए लाभार्थियों से संवाद किया।

Read More आरजीएचएस योजना के लिए 500 करोड़ अतिरिक्त बजट का प्रावधान

Post Comment

Comment List

Latest News

फ्लोरिडा के इतिहास में इयान सबसे घातक हो सकता है : बाइडेन फ्लोरिडा के इतिहास में इयान सबसे घातक हो सकता है : बाइडेन
बाइडेन ने वाशिंगटन डीसी में संघीय आपातकालीन प्रबंधन एजेंसी मुख्यालय की यात्रा के दौरान इयान का जिक्र करते हुए कहा...
मल्लिकार्जुन खड़गे, शशि थरुर और के एन त्रिपाठी ने भरा नामांकन, दिग्विजय हुए रेस से बाहर
नारायण बारेठ का कार्यकाल समाप्त, किया 7 हजार से ज्यादा मामलों का निस्तारण
उद्योग मंत्री ने की इन्वेस्ट राजस्थान क्विज के विजेताओं की घोषणा
ताइवान के बेड़े में शामिल हुआ नया युद्धपोत
शेयर बाजार 1.5 प्रतिशत की तेजी के साथ हुआ बंद 
तमिलनाडु में फटा गैस सिलेंडर, 3 की मौत