दिल्ली वालों को मिली वायु प्रदूषण से राहत

राजधानी से सटे गुरुग्राम में भी वायु गुणवत्ता सूचकांक 152 रहा

दिल्ली वालों को मिली वायु प्रदूषण से राहत

वायु गुणवत्ता सूचकांक शून्य से 100 तक अच्छी श्रेणी में माना जाता है। जबकि 100 से 200 के बीच को मध्यम, 200 से 300 तक खराब श्रेणी और 300 से 400 के बीच बेहद खराब श्रेणी तथा 400 से 500 के बीच को गंभीर श्रेणी में माना जाता है।

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में गुरुवार को दूसरे दिन भी वायु गुणवत्ता मध्यम श्रेणी में रहने से दिल्ली वासियों ने राहत की सांस ली। दिल्ली में समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक 173 रहा। वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान की प्रणाली (सफर) ने यह जानकारी दी। इससे पहले बुधवार को राजधानी में वायु गुणवत्ता सूचकांक 193 रहा था। जबकि शहर में मंगलवार को यह 286 रिकॉर्ड किया गया। 

राजधानी से सटे गुरुग्राम में भी वायु गुणवत्ता सूचकांक 152 रहा, जो कि मध्यम श्रेणी में रही। नोएडा में वायु गुणवत्ता सूचकांक खराब श्रेणी में रहा जहां सूचकांक 262 रिकॉर्ड किया गया।

दिल्ली के पूसा में वायु गुणवत्ता सूचकांक 156, हवाई अड्डा क्षेत्र में 140, मथुरा रोड में 152, आईआईटी दिल्ली में 137 और लोधी रोड़ में 124 रहा। जबकि आया नगर में यह 144 रिकॉर्ड किया गया है। राजधानी में दिल्ली विश्वविद्यालय और धीर पुर के इलाकों में वायु गुणवत्ता सूचकांक की स्थिति खराब श्रेणी में रही।  इन इलाकों के वायु गुणवत्ता सूचकांक क्रमश: 215 और 314 रिकॉर्ड किया गया। 

उल्लेखनीय है कि वायु गुणवत्ता सूचकांक शून्य से 100 तक अच्छी श्रेणी में माना जाता है। जबकि 100 से 200 के बीच को मध्यम, 200 से 300 तक खराब श्रेणी और 300 से 400 के बीच बेहद खराब श्रेणी तथा 400 से 500 के बीच को गंभीर श्रेणी में माना जाता है।

Read More कश्मीर में तीन दिन में तीन हमलों ने खोल दी शांति बहाली के दावों की पोल : कांग्रेस

Post Comment

Comment List

Latest News

जन भागीदारी विकास योजना में फंड आवंटित, परिसम्पत्ति सृजन के अटके काम शुरू होंगे जन भागीदारी विकास योजना में फंड आवंटित, परिसम्पत्ति सृजन के अटके काम शुरू होंगे
ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग ने महात्मा गांधी जन भागीदारी विकास योजना में 33 जिलों को 20 करोड़ रुपए का...
संग्रहाध्यक्ष, खोज व उत्खनन अधिकारी प्रतियोगी परीक्षा-2023 होगी 19 जून को
NDA Government राजस्थान पर मेहरबान, केंद्र ने राज्य को जारी किए 8421.38 करोड़
बाड़मेर-ऋषिकेश एक्सप्रेस रेलसेवा एलएचबी रैक से संचालित होगी
राज्यवर्धन ने सूचना सहायक पदों की संख्या बढ़ाई
कांग्रेस ने आंध्रप्रदेश के विशेष दर्जे पर मोदी से मांगा स्पष्टीकरण
सीएम को लिखा पत्र : निकायों का पुनः परिसीमांकन एवं वार्डों की संख्या के निर्धारण का कार्य पारदर्शी तरीके से हो: राजेंद्र राठौड़