कोटा उत्तर क्षेत्र में लगाए जागरूकता बैनर

स्वच्छता सर्वेक्षण 2023 की हो रही तैयारी

कोटा उत्तर क्षेत्र में लगाए जागरूकता बैनर

शहर की सड़कों को साफ रखने के लिए नगर निगम कोटा उत्तर ने रोड स्वीपर मशीन का भी उपयोग करना शुरू कर दिया है। शहर के मुख्य मार्गों पर, डिवाइडर रोड पर रोड स्वीपर मशीन से सफाई की जा रही है।

कोटा। केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय की ओर से हर साल किए जाने वाले स्वच्छ भारत मिशन के तहत स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए केंद्रीय टीम का कोटा दौरा प्रस्तावित है । ऐसे में नगर निगम कोटा उत्तर व दक्षिण की ओर से तैयारी शुरू कर दी गई है । नगर निगम कोटा उत्तर की ओर से शहर के विभिन्न स्थानों पर जागरूकता संदेश के लिए बैनर लगाए गए हैं । किशोर सागर तालाब की पाल , बड़ तिराहा और जेडीबी कॉलेज समेत कोटा उत्तर निगम क्षेत्र में जगह-जगह पर बैनर लगाए गए हैं । जिनमें स्वच्छता सर्वेक्षण 2007 और गीला और सूखा कचरा अलग-अलग डस्टबिन में डालने के लिए लोगों को जागरूक किया गया है । नगर निगम कोटा उत्तर इस जागरूकता संदेश के माध्यम से नगर निगम कोटा उत्तर को स्वच्छता सर्वेक्षण में नंबर वन बनाने की अपील कर रहा है।  नगर निगम कोटा उत्तर ने सार्वजनिक शौचालय की साफ-सफाई , मरम्मत और उन पर पेंटिंग का काम शुरू किया है जिसमें सफाई से संबंधित संदेश लिखे जा रहे हैं ।  शहर की सड़कों को साफ रखने के लिए नगर निगम कोटा उत्तर ने रोड स्वीपर मशीन का भी उपयोग करना शुरू कर दिया है। शहर के मुख्य मार्गों पर, डिवाइडर रोड पर रोड स्वीपर मशीन से सफाई की जा रही है।  नगर निगम कोटा दक्षिण की ओर से भी सड़क पर कचरा व मलबा डालने वालों के खिलाफ जुमार्ने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। 

 नगर निगम कोटा दक्षिण के उपायुक्त राजेश डागा ने बताया कि कोई भी व्यक्ति चाहे मकान में रहने वाला हो या दुकानदार ,व्यवसायिक प्रतिष्ठान संचालक हो या शोरूम संचालक ,फल सब्जी के ठेले वाला हो या पालतू कुत्तों को सड़क पर लघु शंका करवाने का मामला यदि सड़क पर किसी भी तरह की गंदगी फैलाई गई तो उन पर 100 रुपए से लेकर 5000 रुपए तक के जुमार्ने का प्रावधान किया गया है । उन्होंने बताया कि एक  दिन पहले एक मकान मालिक ने मकान का मलबा नाले में डालकर नाले को अवरुद्ध कर दिया था जिसकी जानकारी मिलने पर उसके खिलाफ कार्रवाई करते हुए 5000 रुपए का जुमार्ना लगाया गया है । 

गौरतलब है कि केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय की ओर से स्वच्छता सर्वेक्षण का भौतिक सत्यापन करने के लिए मार्च के अंतिम सप्ताह या अप्रैल में केंद्रीय टीम के कोटा आने का कार्यक्रम प्रस्तावित है । उसे देखते हुए दोनों ही नगर निगमों की ओर से सफाई के प्रयास तेज कर दिए गए हैं । गत वर्ष कोटा उत्तर नगर निगम की तुलना में कोटा दक्षिण नगर निगम की स्वच्छता रैंकिंग में कुछ सुधार था ।जबकि कोटा उत्तर की रैंकिंग काफी पिछड़ी हुई थी। इसे देखते हुए इस बार दोनों नगर निगम सफाई को बेहतर बनाने के प्रयास में जुटे हुए हैं । नगर निगम कोटा उत्तर की ओर से सिटीजन फीडबैक और दस्तावेजों को आॅनलाइन फीडिंग के लिए प्राइवेट कंपनी का सहारा लिया जा रहा है।

Post Comment

Comment List

Latest News

किसान भूमि नीलामी बिल का केंद्र से अनुमोदन कराए भजनलाल सरकार : गहलोत किसान भूमि नीलामी बिल का केंद्र से अनुमोदन कराए भजनलाल सरकार : गहलोत
राज्यपाल ने यह बिल केन्द्र सरकार से अनुमोदन के लिए भेज दिया था, लेकिन अभी तक इसे केन्द्र सरकार से...
भीषण गर्मी में नरेगा श्रमिकों को काम करना पड़ रहा भारी, श्रमिक परिवारों की संख्या में कमी
30 लाख सरकारी पद भरकर युवाओं का भविष्य सुरक्षित करेगी कांग्रेस, अग्निवीर योजना होगी बंद : खड़गे
सिंधी कैंप बस स्टैंड पर यात्रियों की भारी भीड़, रोडवेज ने चलाई अतिरिक्त बसें
कांग्रेस ने जगन्नाथ पहाड़िया को दी श्रद्धांजलि
कश्मीर में आतंकवादी हमले में घायल दंपत्ति के घर पहुंचे आरआर तिवाड़ी, सरकार से की मुआवजे की मांग 
एयर इंडिया के विमान के इंजन में लगी आग, एयरपोर्ट पर की आपात लैंडिंग