यूजर्स से छोटा मासिक शुल्क ले सकता है एक्स : एलन

अक्टूबर 2022 में 44 अरब डॉलर में एक्स का अधिग्रहण हुआ था

यूजर्स से छोटा मासिक शुल्क ले सकता है एक्स : एलन

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म एक्स के मालिक एलन मस्क ने बॉट्स में कटौती की आवश्यकता जताते हुए कहा है कि एक्स सभी यूजर्स से छोटा मासिक शुल्क ले सकता है।

वाशिंगटन। ऑनलाइन प्लेटफॉर्म एक्स के मालिक एलन मस्क ने बॉट्स में कटौती की आवश्यकता जताते हुए कहा है कि एक्स सभी यूजर्स से छोटा मासिक शुल्क ले सकता है।

मस्क ने अक्टूबर 2022 में 44 अरब डॉलर में एक्स का अधिग्रहण करने के बाद इसमें कई बदलाव किए हैं। अधिग्रहण के बाद उन्होंने हजारों कर्मचारियों को निकालने के साथ हर एक भुगतान प्रीमियम विकल्प पेश किया और कंटेट मॉडरेशन में कटौती की। वहीं पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प सहित अन्य के पूर्व प्रतिबंधित अकाउंट को फिर से बहाल किया।

उन्होंने कहा कि जुलाई में ऑनलाइन प्लेटफॉर्म ने अपने विज्ञापन राजस्व का लगभग आधा हिस्सा गंवा दिया। एक्स पर बॉट्स सामान्य रूप से प्रचलित हैं, जिसे व्यक्ति नहीं बल्कि कंप्यूटर प्रोग्राम द्वारा चलाया जाता है, जहां उनका उपयोग राजनीतिक संदेशों या नस्लीय हिंसा को बढ़ावा देने के लिए किया जा सकता है।

इससे पहले सोमवार को इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने मस्क के साथ ऑनालइन बातचीत के दौरान यहूदी-विरोधीवाद का मुद्दा उठाया और पूछा कि कैसे एक्स बॉट्स के उपयोग को रोक लगाने के साथ ही इसके दोहराव और बढ़ावा को रोका जा सकता है। मस्क ने अपने जवाब में कहा कि कंपनी एक्स के उपयोग के लिए एक छोटा मासिक शुल्क लेने की दिशा में आगे बढ़ रही है और मेरी नजर में यही एकमात्र तरीका है जिसके माध्यम से हम बॉट्स की विशाल सेनाओं का मुकाबला कर सकते हैं।

Read More Rahul Gandhi MP Visit: राहुल गांधी कल मध्यप्रदेश में, जनाक्रोश यात्रा में होंगे शामिल

उन्होंने कहा कि एक बॉट की कीमत एक पैसे का एक मामूली अंश है बल्कि एक पैसे का दसवां हिस्सा लेकिन अगर किसी को कुछ डॉलर, कुछ मामूली राशि का भुगतान करना पड़ता है, तो बॉट्स की प्रभावी लागत बहुत ज्यादा होगी और फिर आपको प्रत्येक बार एक नया बॉट के लिए एक नयी भुगतान विधि भी प्राप्त करनी होगी।

Read More त्योहारी सीजन में 10 स्पेशल ट्रेनों का होगा संचालन

एक्स पर यह बातचीत ऐसे समय प्रसारित की गई है जब टेस्ला टाइकून का अमेरिका स्थित यहूदी संगठन एंटी-डिफेमेशन लीग (एडीएल) के साथ विवाद चल रहा है। मस्क ने एडीएल पर आरोप लगया है कि वह यहूदी-विरोधी होने का निराधार आरोप लगा रहा है, जिससे विज्ञापनदाता डर रहे हैं और उनकी कंपनी के राजस्व को नुकसान पहुंचाया है। उन्होंने एडीएल पर अरबों डॉलर का मुकदमा करने की धमकी भी दी है।

Read More मालदीव में मुइज्जू ने जीता राष्ट्रपति पद का चुनाव

Post Comment

Comment List

Latest News