आस्ट्रेलिया के लोग पहले चंद्रमा रोवर के नाम पर मतदान करेंगे

आस्ट्रेलिया के लोग पहले चंद्रमा रोवर के नाम पर मतदान करेंगे

ऑस्ट्रेलियाई अंतरिक्ष एजेंसी (एएसए) ने रोवर के लिए चार नामों की घोषणा की, जिन्हें जनता से मिली 8,000 से अधिक प्रविष्टियों में से चुना गया। 

कैनबरा। आस्ट्रेलिया के लोगों को देश के पहले चंद्रमा रोवर के नाम पर वोट करने का अवसर दिया गया है।

ऑस्ट्रेलियाई अंतरिक्ष एजेंसी (एएसए) ने रोवर के लिए चार नामों की घोषणा की, जिन्हें जनता से मिली 8,000 से अधिक प्रविष्टियों में से चुना गया। 

आस्ट्रेलियाई लोग सोमवार से एक दिसंबर तक, इस बात पर मतदान कर सकेंगे कि रोवर का नाम कूलामोन, काकीरा, मेटशिप या रू-वेर रखा जाएगा या नहीं। विजेता की घोषणा 06 दिसंबर को की जाएगी। 

एएसए ने बताया कि कूलामोन एक जहाज है जिसका उपयोग स्वदेशी आस्ट्रेलियाई लोगों द्वारा इक्टठा करने और ले जाने के लिए किया जाता है। काकीरा का अर्थ दक्षिण ऑस्ट्रेलिया (एसए) के कौरना आदिवासी लोगों की भाषा में चंद्रमा है जहां एएसए आधारित है। मेटशिप ऑस्ट्रेलिया में एक सांस्कृतिक शब्द है दोस्ती और रू-वेर का एक राष्ट्रीय चरित्र गुण ऑस्ट्रेलिया के प्रतिष्ठित कंगारुओं को शामिल करता है। 

Read More Bharat Gaurav Award : फ्रांस की सीनेट में मिला देश-विदेश की 35 हस्तियों को अवार्ड

रोवर को नाम दिए जाने के बाद नासा के साथ उसके आर्टेमिस मिशन पर एक समझौते के तहत चंद्रमा पर भेजा जाएगा, जिसे 2026 या 2027 में प्रक्षेपित करने का लक्ष्य है।

Read More वियतनाम में मूसलाधार बारिश के कारण बाढ़, भूस्खलन से 3 लोगों की मौत

 

Read More चीन में एक नाव के पलटने से 3 लोगों की मौत, चालक दल ले रहा था प्रशिक्षण 

Post Comment

Comment List

Latest News

जन भागीदारी विकास योजना में फंड आवंटित, परिसम्पत्ति सृजन के अटके काम शुरू होंगे जन भागीदारी विकास योजना में फंड आवंटित, परिसम्पत्ति सृजन के अटके काम शुरू होंगे
ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग ने महात्मा गांधी जन भागीदारी विकास योजना में 33 जिलों को 20 करोड़ रुपए का...
संग्रहाध्यक्ष, खोज व उत्खनन अधिकारी प्रतियोगी परीक्षा-2023 होगी 19 जून को
NDA Government राजस्थान पर मेहरबान, केंद्र ने राज्य को जारी किए 8421.38 करोड़
बाड़मेर-ऋषिकेश एक्सप्रेस रेलसेवा एलएचबी रैक से संचालित होगी
राज्यवर्धन ने सूचना सहायक पदों की संख्या बढ़ाई
कांग्रेस ने आंध्रप्रदेश के विशेष दर्जे पर मोदी से मांगा स्पष्टीकरण
सीएम को लिखा पत्र : निकायों का पुनः परिसीमांकन एवं वार्डों की संख्या के निर्धारण का कार्य पारदर्शी तरीके से हो: राजेंद्र राठौड़