राहुल गांधी का केरल में चुनाव अभियान, कई रैलियां

अपना नामांकन पत्र दाखिल करने आये थे

राहुल गांधी का केरल में चुनाव अभियान, कई रैलियां

सुल्तान बाथरी में एक रैली को संबोधित करते हुए गांधी ने कहा कि देश में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और कांग्रेस की विचारधारा के बीच लड़ाई चल रही है।

वायनाड। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केरल के वायनाड संसदीय क्षेत्र में अपने दो दिवसीय चुनाव अभियान के पहले दिन को कई रैलियां और जनसभाएं की। गांधी लगभग करीब दस बजे मैसूर से हेलीकॉप्टर द्वारा नीलगिरिस आर्ट्स एंड साइंस कॉलेज मैदान पहुंचकर एक रैली की। इस दौरान, कांग्रेस नेता की झलक पाने के लिए कई लोग सड़क के किनारे एकत्र हुए। इस बीच, गांधी ने सुल्तान बाथरी, मननथावाडी, वेल्लामुंडा और पुलपल्ली में रैली के दौरान जनसभाएं की। इससे पहले, गांधी अपनी बहन प्रियंका गांधी के साथ अपना नामांकन पत्र दाखिल करने आये थे। 

उन्होंने थलूर में चुनाव अभियान शुरू किया और नीलगर्ल्स कॉलेज के बागान श्रमिकों और विद्यार्थियों से मुलाकात की। सुल्तान बाथरी में एक रैली को संबोधित करते हुए गांधी ने कहा कि देश में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और कांग्रेस की विचारधारा के बीच लड़ाई चल रही है। हालांकि देश ब्रिटिश उपनिवेशवाद से मुक्त हो गया, लेकिन आरएसएस समर्थित भाजपा की विचारधारा के अधीन नहीं आया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस आम लोगों के साथ है। कांग्रेस नेता ने कहा कि एक राष्ट्र, एक व्यक्ति और एक भाषा की भाजपा की राजनीतिक थीम देश में लागू नहीं हो सकती  सत्तारूढ़ भाजपा देश में एक नेता का विचार थोप रही है और यह देश के लोगों का अपमान है। 

गांधी ने कहा कि भारत फूलों के गुलदस्ते की तरह है और प्रत्येक फूल का सम्मान किया जाना चाहिए, क्योंकि वे पूरे गुलदस्ते की सुंदरता को बढ़ावा देते हैं। भाषा कोई ऐसी चीज नहीं है जो ऊपर से थोपी जाती है, बल्कि वह भाषा है जो लोगों के दिल से आती है। गांधी ने कहा कि मलयाली लोगों को यह बताना कि मलयालम हिंदी से कमतर है, मलयाली और मलयालम का अपमान करने के समान है। वायनाड मेरा परिवार है और आप मेरे परिवार के सदस्य हैं। एक परिवार में एक भाई और बहन की राजनीति अलग-अलग हो सकती है। इसका मतलब यह नहीं है कि उनमें एक-दूसरे के लिए प्यार या सम्मान नहीं है। राजनीति दूसरे इंसानों का सम्मान करने से शुरू होती है।

 

Read More मोदी ने 10 साल के कार्यकाल का नहीं दिया हिसाब : तेजस्वी

Tags: Congress

Post Comment

Comment List

Latest News

बेहद जरूरी है संकटग्रस्त जैव प्रजातियों का संरक्षण बेहद जरूरी है संकटग्रस्त जैव प्रजातियों का संरक्षण
वन्य जीव-जंतु और उनकी विविधता धरती पर अरबों वर्षों से हो रहे जीवन के सतत् विकास की प्रक्रिया का आधार...
उद्योगों के लिए संसाधन पर्याप्त, राजनीतिक इच्छा शक्ति नहीं
पेयजल सिस्टम गड़बड़ाया : पानी का प्रेशर कम, सप्लाई समय भी घटाया
लोकसभा चुनाव : 2019 की क्लोज कॉन्टेस्ट वाली वो सीटें जिनपर टिका है एनडीए और इंडिया दोनों का 2024 का चुनावी गणित!
म्यांमार में हिंदुओं और बौद्धों पर आफत, 5000 घर जलाए 
चार जून को करौली-धौलपुर का सबसे पहले और बाड़मेर का अंत में होगा नतीजा घोषित
कंप्यूटर पार्ट्स फैक्ट्री में लगी भीषण आग