फीफा वर्ल्ड कप में पहली बार होंगी महिला रैफरी

फुटबॉल विश्व कप के 92 साल के इतिहास में होगा एतिहासिक

 फीफा वर्ल्ड कप में पहली बार होंगी महिला रैफरी

पहली बार वर्ल्ड कप नवंबर-दिसंबर में खेला जाएगा और अब पहली बार इस टूर्नामेंट में महिलाएं रेफरी की भूमिका में नजर आएंगी। वर्ल्ड कप का आयोजन 21 नवंबर से 18 दिसंबर तक होगा।

कतर। फीफा वर्ल्ड कप का आयोजन इस साल के अंत में कतर में होना है। यह वर्ल्ड कप अपने आप में एतिहासिक होगा। इस बार कई ऐसी चीजें होंगी जो पहली बार वर्ल्ड कप इतिहास में देखने को मिलेंगी। पहली बार दुनिया का सबसे ज्यादा देखा जाने वाला टूर्नामेंट मिडिल ईस्ट में होगा। पहली बार वर्ल्ड कप नवंबर-दिसंबर में खेला जाएगा और अब पहली बार इस टूर्नामेंट में महिलाएं रेफरी की भूमिका में नजर आएंगी। वर्ल्ड कप का आयोजन 21 नवंबर से 18 दिसंबर तक होगा।


फीफा ने टूर्नामेंट के लिए दुनिया भर से 36 रेफरी, 69 असिस्टेंट रेफरी और 24 वीएआर अधिकारियों का चयन किया है। तीन महिलाओं को रेफरी के तौर पर चुना गया है। फ्रांस की स्टेफनी फ्रेंपार्ट, रवांडा की सलिमा मुकानसांगा और जापान की योशिमि यामाशिता वर्ल्ड कप के दौरान रेफरी की भूमिका में दिखाई देंगी। इन तीनों के अलावा असिस्टेंट रेफरी के तौर पर ब्राजील की नुएजा बैक, मैक्सिको की करेन डियाज मेडिना और अमेरिका की कैथरिन नेसबीट को चुना गया है।


स्टेफनी यूईएफए चैंपियंस लीग के मैच में रेफरी की भूमिका निभाने वाली पहली महिला थीं। इसके अलावा वो  वर्ल्ड कप क्वालिफिकेशन में भी नजर आ चुकी हैं। रवांडा की सलिमा इस साल अफ्रीका कप के मैच में रेफरी की भूमिका निभाने वाली पहली महिला बनी थीं। वहीं जापान की योशिमि यामाशिता ने इस साल एएफसी चैंपियंस लीग के दौरान इतिहास रचा था। वो इस टूर्नामेंट में रेफरी बनने वाली पहली महिला बनी थीं।

Read More हेमा देवड़ा और जय जवान जय किसान टीमें शीर्ष पर

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News