प्रदेश में कमजोर पड़ा मानसून फिर होगा सक्रिय, अगले दो दिन में कई जगहों पर भारी वर्षा की संभावना

प्रदेश में कमजोर पड़ा मानसून फिर होगा सक्रिय, अगले दो दिन में कई जगहों पर भारी वर्षा की संभावना

राजस्थान में पिछले करीब 20 दिनों से कमजोर पड़े मानूसन के अब शनिवार से फिर सक्रिय होने का अनुमान है और अगले 2 दिनों में प्रतापगढ़, बांसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, भीलवाड़ा एवं झालावाड़ जिलों में कहीं-कहीं भारी बरसात होने की संभावना हैं।

जयपुर। राजस्थान में पिछले करीब 20 दिनों से कमजोर पड़े मानूसन के अब शनिवार से फिर सक्रिय होने का अनुमान है और अगले 2 दिनों में प्रतापगढ़, बांसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, भीलवाड़ा एवं झालावाड़ जिलों में कहीं-कहीं भारी बरसात होने की संभावना हैं। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार को प्रतापगढ़, बांसवाड़ा, चित्तौडगढ और झालावाड़ जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश की संभावना है जबकि शनिवार और रविवार को अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौड़गढ़, धौलपुर, डूंगरपुर, जयपुर, झालावाड़, झुंझुनूं, करौली, कोटा, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाईमाधोपुर, सीकर, सिरोही, टोंक एवं उदयपुर जिलों में कहीं-कही मेघगर्जन एवं वज्रपात के साथ अचानक तीस-चालीस किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से तेज हवा चलने की संभावना है।

इसी तरह 10 जुलाई को पश्चिमी राजस्थान के श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ बीकानेर, चूरू, नागौर और पाली जिलों में मेघगर्जन, वज्रपात एवं धूल भरी आंधी के साथ 40-50 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से तेज हवा चलने की संभावना हैं। इसके बाद रविवार को प्रतापगढ़, बांसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, भीलवाड़ा एवं झालावाड़ में भारी बारिश की संभावना है। 11 जुलाई को पश्चिमी राजस्थान के श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ जालोर, बीकानेर, चूरू, बाड़मेर, नागौर, जोधपुर, पाली जिलों में कहीं-कहीं पर मेघगर्जन एवं आकाशीय बिजली गिरने के साथ अचानक 40-50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा चलने की संभावना है। वहीं जैसलमेर, बाड़मेर, जोधपुर में मेघगर्जन, वज्रपात एवं धूल भरी आंधी चलने की संभावना हैं।  

मौसम विभाग के अनुसार जयपुर एवं इसके आसपास 10 से 13 जुलाई तक आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहने तथा मेघगर्जन के साथ वर्षा होने की संभावना है। प्रदेश में मानसून के कमजोर पड़े रहने से अब तक सामान्य से लगभग 37 प्रतिशत वर्षा कम हुई, जिससे दो दर्जन से अधिक जिलों में बरसात की कमी बनी हुई हैं। जल संसाधन विभाग के अनुसार प्रदेश में गत 1 जून से 8 जुलाई तक सामान्य वर्षा 97.08 मिलीमीटर के मुकाबले 61.47 मिलीमीटर बारिश हुई हैं जो सामान्य से 36.7 प्रतिशत  कम हैं।

 

पिछले वर्ष इस दौरान 90.93 प्रतिशत वर्षा हो चुकी थी। कम वर्षा के कारण राज्य के 19 जिलों अजमेर, बांसवाड़ा, बाड़मेर, भरतपुर, भीलवाड़ा, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, गंगानगर, जयपुर, जालोर, झालावाड़, जोधपुर, करौली, नागौर, सवाईमाधोपुर, सीकर, सिरोही एवं उदयपुर में बरसात की कमी है जबकि 6 जिलों अलवर, बारां, बूंदी, झुंझुनूं, कोटा एवं टोंक में अल्प वर्षा हुई है। प्रदेश में अब तक चूरू, हनुमानगढ़ एवं जैसलमेर 3 जिले ऐसे हैं, जहां सामान्य से अधिक वर्षा हो चुकी है जबकि बीकानेर, चित्तौड़गढ, पाली, प्रतापगढ़ एवं राजसमंद में अब तक सामान्य बारिश रिकॉर्ड की गई हैं।    

Read More रंजिश का लेकर गैंगवार, एक युवक की गोली लगने से मौत 

Post Comment

Comment List

Latest News

हिमाचल प्रदेश:वोटों की गिनती से पहले भाजपा और कांग्रेस की नजर बागियों पर हिमाचल प्रदेश:वोटों की गिनती से पहले भाजपा और कांग्रेस की नजर बागियों पर
सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने 8 दिसंबर को चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद प्रियंका...
करीना कपूर ने मलाइका अरोड़ा को नए शो के लिए बधाई दी
जापान: नर्सरी स्कूल के शिशुओं के साथ दुर्व्यवहार के आरोप में तीन शिक्षिकाएं गिरफ्तार
ट्विटर पर एप्पल विज्ञापन फिर से हुए बहाल: मस्क
राजू ठेहठ हत्याकांड में 24 घंटे के अंदर पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 5 बदमाशों को पकड़ा
पार्टी के नए नेताओं को देना पड़ेगा मौका : खड़गे
पंजाब में ड्रोन से 3 किलोग्राम हेरोइन बरामद