चौराहे रोशन, रास्तों में पसरा अंधेरा

अधिकतर चौराहे रात में रोशनी से रहते हैं जगमग,सड़कों पर अंधेरा रहनेसे दुुर्घटना की आशंका

चौराहे रोशन, रास्तों में पसरा अंधेरा

चौराहे आकर्षक हो गए हैं। रोशनी से जगमग हो रहे हैं। लेकिन हालत यह है कि नयापुरा समेत कई क्षेत्रों के मुख्य मार्गों पर लाइटें ही नहीं होने से अंधेरा छाया रहता है।

कोटा । शहर में हजारों करोड़ रुपए के विकास कार्य करवाए जा रहे हैं। जिससे शहर की सूरत ही बदल गई है। अधिकतर चौराहों पर बिजली के आकर्षक खम्बों से रोशनी की गई है। लेकिन नयापुरा समेत अधिकतर मुख्य मार्गों पर लाइटें नहीं होने से अंधेरा छाया हुआ है।  शहर का मुख्य प्रवेश नयापुरा स्थित विवेकानंद चौराहा हो या अंटाघर चौराहा। जेडीबी कॉलेज तिराहा हो या घोड़े वाले बाबा तिराहा। यहां एक से बेहतर एक आकर्षक बिजली के खम्बे लगाए गए हैं। जिससे यहां शाम होते ही लाइटें जल जाती हं तो पूरी रात चौराहों को रोशन कर रही हैं। जबकि चौराहों के बीच के मुखय मार्ग अंधेरे में डूबे हुए हैं।  लोगों ने बताया कि शहर में विकास हो रहा है वह अच्छा है। चौराहे आकर्षक हो गए हैं। रोशनी से जगमग हो रहे हैं। लेकिन हालत यह है कि  नयापुरा समेत कई क्षेत्रों के मुख्य मार्गों पर लाइटें ही नहीं होने से अंधेरा छाया रहता है।  लोगों का कहना है कि नयापुरा चौराहे से अंटाघर चौराहे तक जेल रोड पर लाइटें नहीं होने से रात के  समय अंधेरा रहता है। यही हालत नयापुरा में बालिका बाग स्कूल के सामने की सड़क और सीबी गार्डन के सामने से होते हुए स्टेडियम रोड पर भी लाइटें नहीं है। जिससे यहां भी अंधेरा रहने लगा है। जबकि कुछ समय पहले तक यहां रोड लाइटें डिवाइडर के बीच में लगी हुई थी। लोगों का कहना है कि रोड चौड़ी करने के लिए  डिवाइडर हटाने के साथ ही लाइटों को भी हटा दिया था। जिसके बाद दोबारा से अभी तक लाइटें नहीं लगी हैं। इस कारण से वहां रात के समय अंधेरा रहने लगा है। जबकि ये रोड सबसे अधिक व्यस्त रहते हैं।ो ऐसे में अंधेरे में यहां दुर्घटनाओं का खतरा बना हुआ है।  इसी तरह से अधिकतर समय स्टेशन रोड, डीसीएम रोड, छावनी बगाली कॉलोनी और बारां रोड पर भी लाइटें बंद रहने से अंधेरा रहता है।  इस बारे में नगर निगम अधिकारियों का कहना है कि निगम क्षेत्र में नगर निगम और यूआईटी के क्षेत्र में यूआईटी द्वारा लाइटों का काम देखा जा रहा है। वैसे डिवाइडर के अधिकतर मुख्य मार्ग यूआईटी क्षेत्र में आ रहे हैं। निगम अधिकारियों का कहना है कि शहर में यूआईटी द्वारा विकास कार्य करवाए जा रहे हैं। जिससे लाइटें हटाई गई होंगी। वहां नई लाइटें लगने में  समय लग रहा होगा। यदि निगम क्षेत्र में कहीं रोड लाइटें बंद हैं तो उन्हें दिखवाकर चालू कराया जाएगा।  वहीं यूआईटी अधिकारियों का कहना है कि कहीं काम के कारण लाइटें लगना शेष होंगी। लेकिन कोई भी क्षेत्र लाइटों के बिना अंधेरे में नहीं रहेगा। सभी जगह रोड लाइटें लगाई जा रही हैं। 

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News

ओडिशा में एसटीएफ ने नकली नोट रखने के आरोप में एक व्यक्ति को किया गिरफ्तार  ओडिशा में एसटीएफ ने नकली नोट रखने के आरोप में एक व्यक्ति को किया गिरफ्तार 
नकली जब्त किए गए नोटों को भारतीय रिजर्व बैंक नोट मुद्रण प्राइवेट लिमिटेड, मुद्रा नगर, सालाबोनी, पचिमा मिदनापुर, पश्चिम बंगाल...
फ्रांस के हेलीकाप्टर जापान, भारत और अमेरिका के साथ सैन्य अभ्यास में शामिल होंगे
झारखंड की दो 'केराकत' ने यूथ गेम्स में जमाया रंग
अलग-अलग किरदार निभाना चाहती है कृति सैनन
कैंसर जॉच आपके द्वार अभियान का हुआ आगाज
जोधपुर में 20 से 22 मार्च को आयोजित होगा राजस्थान इंटरनेशनल एक्सपो
ओवरलोड वाहनों के चलते संपर्क सड़कें हुई जर्जर