एमडीयू के छात्रसंघ अध्यक्ष ने चाणक्य भवन का मुख्य द्वार बंदकर किया प्रदर्शन

लगभग 1 घंटे तक गोदारा व विद्यार्थी गेट बंद कर प्रदर्शन करते रहे

एमडीयू के छात्रसंघ अध्यक्ष ने चाणक्य भवन का मुख्य द्वार बंदकर किया प्रदर्शन

इस दौरान कुलपति प्रो. अनिल कुमार शुक्ला सहित विश्वविद्यालय के शिक्षक व अधिकारी वहां पहुंचे प्रोफेसर शुक्ला ने गोदारा को आश्वासन दिया कि 15 फरवरी को आयोजित दीक्षांत समारोह की बात भवनों की मरम्मत सहित लैब में संसाधन मुहैया कराने की मांग पूरी कर दी जाएगी।

अजमेर। महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय के छात्रसंघ अध्यक्ष महिपाल गोदारा ने गुरुवार को चाणक्य भवन का मुख्य द्वार बंद कर प्रदर्शन किया। गोदारा व विद्यार्थियों का आरोप है कि जिन मांगों को लेकर उन्होंने नवंबर माह में भूख हड़ताल की थी, उन्हें अब तक पूरा नहीं किया गया है। इन मांगों में विश्वविद्यालय परिसर स्थित गर्ल्स हॉस्टल व अन्य भवनों की मरम्मत और लैब में संसाधन मुहैया कराने संबंधी मांग शामिल है। विश्वविद्यालय ने भवनों की मरम्मत के लिए लगभग दो करोड़ रुपए और लैब में संसाधन उपलब्ध कराने के लिए लगभग एक करोड़ की राशि स्वीकृत कर दी है। लेकिन अब तक काम शुरू नहीं हुआ है। गोदारा ने यह भी आरोप लगाया कि गर्ल्स हॉस्टल में कार्यरत कुक शराब पीकर काम करते हैं। छात्राओं ने इसकी शिकायत कई बार हॉस्टल वार्डन प्रो. रितु माथुर से की है लेकिन अब तक कोई कार्यवाही नहीं हुई। लगभग 1 घंटे तक गोदारा व विद्यार्थी गेट बंद कर प्रदर्शन करते रहे।

इस दौरान कुलपति प्रो. अनिल कुमार शुक्ला सहित विश्वविद्यालय के शिक्षक व अधिकारी वहां पहुंचे प्रोफेसर शुक्ला ने गोदारा को आश्वासन दिया कि 15 फरवरी को आयोजित दीक्षांत समारोह की बात भवनों की मरम्मत सहित लैब में संसाधन मुहैया कराने की मांग पूरी कर दी जाएगी। गर्ल्स हॉस्टल के कुक द्वारा शराब पीकर काम करने के आरोप पर उन्होंने कहा कि इस पर जल्द ही एक्शन लिया जाएगा। उन्होंने छात्राओं से कहा कि वह चाहे तो छात्र संघ की मदद से स्वयं के स्तर पर भी हॉस्टल का संचालन कर सकती हैं। कुलपति के आश्वासन के बाद गेट खोल दिया गया।

Tags: mdu ajmer

Post Comment

Comment List

Latest News