ऑनलाइन गेमिंग की आय पर टीडीएस नियमों में संशोधन

कमाई लिमिट 10 हजार को हटा दिया

ऑनलाइन गेमिंग की आय पर टीडीएस नियमों में संशोधन

वित्त विधेयक 2023 में किए गए संशोधन के अनुसार ऑनलाइन गेमिंग पर टीडीएस प्रभावी होगा। ऑनलाइन गेमिंग की कमाई लिमिट 10 हजार को हटा दिया गया है और कितनी भी कमाई पर टैक्स देना होगा।

नई दिल्ली। डेट म्यूचुअल फंड के टैक्सेशन में बदलाव करने और सात लाख रु. से अधिक आय वाले छोटे टैक्सपेयर्स को मामूली राहत देने के अलावा बजट 2023 में ऑनलाइन गेमिंग पर लागू टीडीएस सीमा में संशोधन किया गया है। वित्त विधेयक 2023 में किए गए संशोधन के अनुसार ऑनलाइन गेमिंग पर टीडीएस प्रभावी होगा। ऑनलाइन गेमिंग की कमाई लिमिट 10 हजार को हटा दिया गया है और कितनी भी कमाई पर टैक्स देना होगा। इंडसलॉ के पार्टनर शशि मैथ्यूज कहते हैं कि वित्त विधेयक 2023 को लोकसभा ने पारित कर दिया है। गेमिंग उद्योग द्वारा किए गए आवेदनों को ध्यान में रखते हुए सरकार ने ऑनलाइन गेमिंग पर लागू नई टीडीएस प्रावधानों को लागू करने का प्रस्ताव दिया था। इसके अलावा संबंधित टैक्सपेयर्स द्वारा रिटर्न फाइलिंग में अनुपालन न करने की स्थिति में टीडीएस को दोगुनी दर से काटने का भी प्रस्ताव था। इन संशोधनों को अब स्वीकार कर लिया गया है। इस प्रावधान के अनुपालन को सुनिश्चित करने के लिए गेमिंग आॅपरेटरों को यूजर्स से दस्तावेज मांगे जा सकते हैं। 
बजट 2023 में ऑनलाइन गेमिंग जीत पर टीडीएस की सीमा को हटा दिया हैण् इसका मतलब है कि पहले 10 हजार से अधिक की कमाई पर टीडीएस देना होता थाए लेकिन अब कितनी भी कमाई पर टैक्स देना होगा। 31 मार्च 2023 तक आॅनलाइन गेम पर जीत की रकम पर टीडीएस तब लागू होता था जब जीत की राशि 10,000 रु. से अधिक हो जाती थी। एक अप्रैल 2023 से ऑनलाइन गेम में जीती गई रकम पर प्रवेश शुल्क घटाकर अर्जित प्रत्येक रु. के लिए टीडीएस काटा जाएगा। ऑनलाइन गेम से जीत पर टीडीएस 30 फीसदी की दर से काटा जाएगा।

ऑनलाइन गेमिंग की कमाई पर टीडीएस काटने का गणित उदाहरण से समझिए
मान लीजिए कि किसी ऑनलाइन गेमिंग कंपनी किसी व्यक्ति को 1,000 रु. का शुल्क लेकर ऑनलाइन गेम में प्रवेश देती है और वह शख्स 35,500 रु. जीत जाता है तो ऑनलाइन गेमिंग कंपनी 1,000 रु. प्रवेश शुल्क घटाकर कुल 34,500 रु. पर 30 फीसदी की दर से टीडीएस काटेगी। इसका मतलब है कि 34,500 रु. में 30 फीसदी टीडीएस 10,350 रु. का टैक्स सरकार को जमा किया जाएगा और बचे 24,150 रु. आॅनलाइन गेम जीतने वाले शख्त के खाते में जाएंगे।

आय पर टीडीएस कटे या नहीं आईटीआर में बताना जरूरी
वर्तमान आयकर कानूनों के अनुसार इनकम टैक्स रिटर्न (आईटीआर) फाइल करते समय ऑनलाइन गेमिंग से कमाई को ‘अन्य स्रोतों से आय’ शीर्षक के तहत रिपोर्ट किया जाना आवश्यक है। यहां यह ध्यान देने वाली बात है कि भले ही ऑनलाइन गेमिंग कमाई से टीडीएस काटा गया हो या नहीं, संबंधित टैक्सपेयर को अपने आयकर रिटर्न में इसकी रिपोर्ट करनी होगी और उसके अनुसार आयकर का भुगतान करना होगा। लेकिन, यदि गेमिंग की कमाई का खुलासा आईटीआर में नहीं किया जाता है तो दोगुनी दर से टीडीएस काटा जाएगा।

 

Read More स्वाति मालीवाल ने जांच एजेंसियों के दवाब में लगाए झूठे आरोप : आप

Post Comment

Comment List

Latest News

किसान भूमि नीलामी बिल का केंद्र से अनुमोदन कराए भजनलाल सरकार : गहलोत किसान भूमि नीलामी बिल का केंद्र से अनुमोदन कराए भजनलाल सरकार : गहलोत
राज्यपाल ने यह बिल केन्द्र सरकार से अनुमोदन के लिए भेज दिया था, लेकिन अभी तक इसे केन्द्र सरकार से...
भीषण गर्मी में नरेगा श्रमिकों को काम करना पड़ रहा भारी, श्रमिक परिवारों की संख्या में कमी
30 लाख सरकारी पद भरकर युवाओं का भविष्य सुरक्षित करेगी कांग्रेस, अग्निवीर योजना होगी बंद : खड़गे
सिंधी कैंप बस स्टैंड पर यात्रियों की भारी भीड़, रोडवेज ने चलाई अतिरिक्त बसें
कांग्रेस ने जगन्नाथ पहाड़िया को दी श्रद्धांजलि
कश्मीर में आतंकवादी हमले में घायल दंपत्ति के घर पहुंचे आरआर तिवाड़ी, सरकार से की मुआवजे की मांग 
एयर इंडिया के विमान के इंजन में लगी आग, एयरपोर्ट पर की आपात लैंडिंग