प्रेम विवाह के 14 साल बाद विवाहिता ने की आत्महत्या

मानसिक तनाव के चलते उठाया कदम

प्रेम विवाह के 14 साल बाद विवाहिता ने की आत्महत्या

रविवार दोपहर सवा दो बजे उसे दवा खिलाकर बाजार जाने के लिए निकला था। बच्चे घर के बाहर खेल रहे थे। गली में खड़े किसी से बात कर रहा था। तभी बेटी रोते हुए आई और घर चलने को कहा। बेटी ने बताया कि मम्मी ने पलंग पर चढ़कर गले में चुन्नी बांध ली।

कोटा । शहर के नयापुरा थाना क्षेत्र में एक विवाहिता द्वारा फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया। पुलिस ने बताया कि विवाहिता  जानकीबाई ने 14 साल पूर्व प्रेम विवाह किया था । इसके बाद से उसके परिजन उसे दूर हो गए तथा आना जाना बंद कर दिया था। इस बात से विवाहिता अवसाद में चल रही थी । उसका इलाज भी  चल रहा था बताया जा रहा है कि विवाहिता ने फांसी का फंदा लगाने से पूर्व  परिवार के सदस्यों के साथ खाना खाया  इसके बाद पति ने उसको दवा खिलाई और मार्केट से कुछ घंटे बाद लौटकर आने का कहकर घर से बाहर निकल गया । पति के निकलने के कुछ देर बाद पत्नी ने फांसी का फंदा लगा लिया । फंदे पर लटकी अपनी मां को देखकर 12 साल की बेटी  रोते हुए पिता के पास पहुंची और उन्हें पूरी बात  बताई।  घर पहुंचकर पति ने पत्नी को फांसी के फंदे से उतारा और  एमबीएस हॉस्पिटल लेकर पहुंचा। लेकिन कुछ घंटे बाद  उसकी मौत हो गई।

पति बाल सिंह परमार ने बताया कि उसकी पत्नी जानकी बाई (35) पिछले तीन साल से मानसिक रूप से बीमारी थी। हॉस्पिटल में इलाज के अलावा देवी देवताओं के यहां भी जाते थे। लेकिन  कुछ भी फर्क नहीं पड़ रहा था। वो अजीब अजीब हरकतें करती थी। उसकी दवाइयां चल रही थी। रविवार दोपहर सवा दो बजे उसे दवा खिलाकर बाजार जाने के लिए निकला था। बच्चे घर के बाहर खेल रहे थे। गली में खड़े किसी से बात कर रहा था। तभी बेटी रोते हुए आई और घर चलने को कहा। बेटी ने बताया कि मम्मी ने पलंग पर चढ़कर गले में चुन्नी बांध ली। मौके पर जाकर चुन्नी को काटा। करीब सवा तीन बजे हॉस्पिटल लेकर आया।  उस समय उसकी पल्स चल रही थी। डॉक्टरों ने उसे आईसीयू में शिफ्ट किया। रात करीब साढ़े 9 बजे  पत्नी ने दम तोड़ दिया। 

एसआई नवल किशोर ने बताया कि साल 2008 में लव मैरिज की थीं। दोनों किराए से रह रहे थे। रविवार दोपहर को महिला ने फांसी लगा ली। दोनों पक्षों के परिजन मौके पर आए है। उन्होंने मानसिक रूप से बीमार होना बताया है। दोनों के बीच कोई झगड़े की बात सामने नहीं आई है। परिजनों की सहमति से शव का पोस्टमार्टम करवा कर उन्हें सौंप दिया गया  है। मामले की जांच की जा रही है।

Post Comment

Comment List

Latest News

प्रदेशभर में मनाया लैब टेक्नीशियन दिवस प्रदेशभर में मनाया लैब टेक्नीशियन दिवस
प्रदेश भर के सभी चिकित्सा संस्थानों में 15 अप्रैल को लैब टेक्नीशियन दिवस बड़े जोश उल्लास के साथ मनाया गया।...
5.25 लाख की आबादी भुगत रही जेडीए की हठधर्मिता का खामियाजा
भाजपा के संकल्प पत्र पर गहलोत का निशाना- मंहगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर बात नहीं करती भाजपा
आरपीआई पार्टी के अध्यक्ष और केन्द्रीय मंत्री रामदास अठावले बोले- पार्टी भाजपा के साथ
निर्वाचन आयोग ने की रिकार्ड 4650 करोड़ की जब्ती, 75 साल के इतिहास की सबसे बड़ी जब्ती
ट्यूबवेल सात माह से खराब, पेयजल का संकट
टोल बचाने की जुगत: सुकेत में भारी वाहनों का दबाव बढ़ा