सरकार की योजनाओं को लेकर विपक्ष का आरोप गलत, ये चुनावी स्कीम नहीं : गहलोत

विपक्षी आरोप लगते है कि इन योजनाओं से देश दिवालिया हो जाएगा

सरकार की योजनाओं को लेकर विपक्ष का आरोप गलत, ये चुनावी स्कीम नहीं : गहलोत

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इंदिरा गांधी सिलेंडर सब्सिडी योजना के शुभारंभ समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी योजनाओं को लेकर विपक्ष कहता है देश दिवालिया हो जाएगा, उज्ज्वला योजना का डेटा तक हमें उपलब्ध नहीं कराया गया।

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इंदिरा गांधी सिलेंडर सब्सिडी योजना के शुभारंभ समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी योजनाओं को लेकर विपक्ष कहता है देश दिवालिया हो जाएगा, उज्ज्वला योजना का डेटा तक हमें उपलब्ध नहीं कराया गया। 'हमने जो भी वादे किए हैं हम उन्हें निभा रहे हैं, आज बटन दबाते ही करोड़ों रुपए लाभार्थियों के खातों में पहुंच गए,  यह सभी राजीव गांधी जी की देन है, हमने राजस्थान में चिकित्सा का अधिकार कानून बनाया, रजिस्ट्रेशन कभी से हो लेकिन पैसा मई से मिलेगा, हमारी योजनाएं कोई चुनावी योजनाएं नहीं हैं, यह परमानेंट योजनाएं हैं, हमारी सोच सामाजिक सुरक्षा' देने की है। बीजेपी का काम हमेशा हमारी योजनाओं को बंद करना रहा है। हमने सिलेंडर सस्ता करके प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना को ही प्रमोट किया है। हमने कभी बीजेपी की योजनाओं को बंद करने का काम नहीं किया। उन्होंने रिफाइनरी का काम बंद करके प्रदेश की जनता को बहुत नुकसान पहुंचाया।

गहलोत ने कहा  ये स्कीम चुनाव के लिये नहीं है। हमेशा रहेगी। हमारी सोच लोगो को सोशल सिक्योरिटी देना है। जैसा विदेशों में होता है। वहां लोग टेंशन नहीं लेते। हम चाहते हैं, भारत सरकार ऐसा कानून पास करें। लोगों को जीवन जीने लायक पेंशन मिले। वो चाहे 2 हजार हो या 3 हजार लोगों को ये नहीं लगना चाहिए की हम सरकारी नौकरी नहीं करते। ओपीएस को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जिद्दी हैं । लोकतंत्र में ये ठीक नहीं है। वो जो सोच लेते हैं। वही करते हैं। हिमाचल में जिद के कारण ही सरकार चली गई। वहां के तत्कालीन सीएम ने कहा था ओपीएस पर विचार करो। उन्होंने साफ मना कर दिया |

Post Comment

Comment List

Latest News

राज्यवर्धन राठौड़ ने निगम के अधिकारियों साथ की बैठक, विकास कार्यों पर की चर्चा राज्यवर्धन राठौड़ ने निगम के अधिकारियों साथ की बैठक, विकास कार्यों पर की चर्चा
मानसून के आगमन से पहले सारी व्यवस्थाएं सही करने के भी निर्देश दिए। 
चंद्रबाबू नायडू ने 2 साल बाद विधानसभा में किया प्रवेश, अपमानित होने के बाद चले गए थे बाहर
बिना रजिस्ट्रेशन के रियल स्टेट में खरीद-बेचान करने वाले एजेंटों पर रेरा अथॉरिटी का शिकंजा, थमाएं नोटिस
2.69 करोड़ ग्राहकों के साथ प्रदेश में सबसे आगे जियो
पत्नी की हत्या : कटा सिर और हाथ नाले में फेंके
रूस में हेलीकॉप्टर क्रैश, पायलट सहित 3 लोगों की मौत
अन्नपूर्णा रसोईयों का किया औचक निरीक्षण, 7 लाख से अधिक का लगाया जुर्माना