मुख्यमंत्री से मिलने की मांग पर टंकी पर चढ़ा साधु

मुख्यमंत्री से मिलने की मांग पर टंकी पर चढ़ा साधु

साधु राष्ट्रीय गौ-रक्षक संत दयाल पुरी महाराज बाड़मेर का रहने वाला है। उन्होंने अपने मांगपत्र में लिखा कि बाड़मेर के मगरा में जन सहयोग से बनाया गया वृद्धा आश्रम लंबे समय से चल रहा था, लेकिन कुछ भू-माफियाओं से मिलीभगत कर प्रशासन ने उसे जमींदोज कर दिया।

ब्यूरो/नवज्योति, जयपुर। बाड़मेर के मगरा में संचालित वृद्धा आश्रम को जमींदोज करने के मामले में मुख्यमंत्री से मिलने जयपुर आया एक साधु मंगलवार दोपहर को ढहर का बालाजी के पास स्थित पानी की टंकी पर चढ़ गया। सूचना पर पहुंची सिविल डिफेंस टीम और पुलिस ने टंकी पर चढे साधु से बात की। साधु ने पुलिस को बताया कि वृद्धा आश्रम के मामले में उसे मुख्यमंत्री से मिलना है। वह काफी समय से प्रयास कर रहा है पर मुलाकात नहीं हो पा रही। ऐसे में वह मुरलीपुरा आकर पानी की टंकी पर चढ़ गया। इसके बाद पुलिस अधिकारियों ने सीएमओ को सूचना दी तो उन्होंने सीएम के आने पर मिलाने का आश्वासन दिया। उसके बाद साधु नीचे उतरा।  

यह है मामला
साधु राष्ट्रीय गौ-रक्षक संत दयाल पुरी महाराज बाड़मेर का रहने वाला है। उन्होंने अपने मांगपत्र में लिखा कि बाड़मेर के मगरा में जन सहयोग से बनाया गया वृद्धा आश्रम लंबे समय से चल रहा था, लेकिन कुछ भू-माफियाओं से मिलीभगत कर प्रशासन ने उसे जमींदोज कर दिया। इस मामले की जांच किसी ईमानदार अधिकारी से कराई जाए और वृद्धा आश्रम के लिए बालोतरा में पांच बीघा जमीन और भवन निर्माण के लिए पांच करोड़ रुपए की मांग रखी। इसके अलावा बाड़मेर-जैसलमेर हाईवे पर सरकारी जमीन पर कुछ भू-माफियाओं द्वारा किया गया अतिक्रमण हटवाकर तारबंदी करवाई जाए। इस मामले में पहले भी एक साधु आत्महत्या कर चुका है।  

Post Comment

Comment List

Latest News

छत्तीसगढ़ कोल ब्लॉक पर दोनों सीएम के बयानों से विरोधाभास: गहलोत छत्तीसगढ़ कोल ब्लॉक पर दोनों सीएम के बयानों से विरोधाभास: गहलोत
इस मुद्दे पर गुमराह कर रहे हैं या दोनों मुख्यमंत्री मिलकर अपने-अपने राजनीतिक हितों के अनुरूप जनता को गुमराह कर...
RPF ने पिछले 7 वर्षों में 'ऑपरेशन नन्हे फरिश्ते' के तहत 84,119 बच्चों को बचाया
सुस्त निवेश से 10 वर्ष में घाटी आर्थिक विकास की रफ्तार : कांग्रेस
आतंकी हमलों की रोकथाम के लिए केंद्र करे गम्भीरता से प्रयास: गहलोत
बड़ी बड़ी बातें नहीं कर केन्द्र आतंकियों के खिलाफ करें सख्त कार्यवाही: डोटासरा
जयपुर संभाग में हुआ 9 लाख 92 हजार से ज्यादा वृक्षारोपण
औषधि के उच्च मानक तय करना जरूरी, विश्व स्तरीय विनियामक ढांचे की आवश्यकता है: नड्डा