स्टालिन के बेटे उदयनिधि के खिलाफ मुकदमे की याचिका पर तमिलनाडु सरकार को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस

पीठ ने हाई कोर्ट नही जाने पर पूछे सवाल

स्टालिन के बेटे उदयनिधि के खिलाफ मुकदमे की याचिका पर तमिलनाडु सरकार को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस

उच्चतम न्यायालय ने तमिलनाडु में  दो सितंबर को आयोजित सनातन धर्म उन्मूलन सम्मेलन की सीबीआई से जांच और उदयनिधि स्टालिन के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का निर्देश देने की मांग वाली एक याचिका पर राज्य सरकार को नोटिस जारी किया।

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने तमिलनाडु में  दो सितंबर को आयोजित सनातन धर्म उन्मूलन सम्मेलन की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच और वहां के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन के बेटे राज्य के मंत्री उदयनिधि स्टालिन के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का निर्देश देने की मांग वाली एक याचिका पर शुक्रवार को राज्य सरकार को नोटिस जारी किया।

न्यायमूर्ति अनिरुद्ध बोस और न्यायमूर्ति बेला एम त्रिवेदी की पीठ ने मद्रास उच्च न्यायालय के वकील बी जगन्नाथ की याचिका पर नोटिस जारी किया। पीठ ने याचिकाकर्ता से सवाल किया कि उन्होंने उच्च न्यायालय का दरवाजा क्यों नहीं खटखटाया। याचिकाकर्ता के एक वकील ने कहा कि अगर यह किसी व्यक्ति विशेष के धर्म के खिलाफ बयानबाजी का मामला होता तो इसे समझा जा सकता था। उन्होंने कहा कि लेकिन यहां एक मंत्री और राज्य मशीनरी एक विशेष धर्म के खिलाफ मोर्चा खोल रही है।

शीर्ष अदालत ने वकील की इस दलील पर कि घृणास्पद भाषण से संबंधित समान मुद्दे लंबित हैं, मामले में नोटिस जारी किया। याचिका में जगन्नाथ ने मंत्री उदयनिधि, डीएमके नेता पीटर अल्फोंस, ए राजा और थोल थिरुमावलवन और उनके अनुयायियों के खिलाफ सनातन धर्म या हिंदू धर्म के खिलाफ कोई भी नफरत भरा भाषण देने के खिलाफ निषेधाज्ञा की गुहार लगाई गई है।

जगन्नाथ ने अपनी याचिका में शीर्ष अदालत से यह घोषणा करने की मांग की कि 2 सितंबर 2023 को आयोजित सनातन धर्म उन्मूलन सम्मेलन में राज्य के मंत्रियों की भागीदारी असंवैधानिक थी और संविधान के अनुच्छेद 25 और 26 का उल्लंघन थी।

Read More अभी सामान्य वायरस बता रहे, लेकिन राजस्थान अलर्ट

याचिकाकर्ता अपनी याचिका में तमिलनाडु राज्य सरकार के उच्च शिक्षा विभाग को यह निर्देश देने की भी मांग की है  कि कर्नाटक के हिजाब मामले में शीर्ष अदालत के फैसले के अनुसार सभी माध्यमिक विद्यालयों में किसी भी हिंदू धर्म के खिलाफ कोई भी सम्मेलन नहीं होना चाहिए।

Read More पश्चिमी विक्षोभ से आज तीसरे दिन भी मावठ, सर्दी बढ़ी, किसानों के खिले चेहरे, कई जिले कोहरे की चपेट में

वकील की याचिका में शीर्ष अदालत से आग्रह किया गया कि वह तुरंत राज्य के पुलिस महानिदेशक को एक रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दे कि सम्मेलन को पुलिस की अनुमति कैसे दी गई और उक्त सम्मेलन के लिए जिम्मेदार कथित अपराधियों तथा संगठन के खिलाफ कोई कार्रवाई क्यों नहीं की गई। इसके साथ ही याचिका में तमिलनाडु राज्य के गृह सचिव और पुलिस महानिदेशक को शीर्ष अदालत के 2018 के फैसले के अनुसार नफरत फैलाने वाले भाषण के लिए तुरंत एक नोडल अधिकारी नियुक्त करने का निर्देश देने की मांग की गई है।

Read More जयपुर में ट्रिपल मर्डर : नकाबपोश ने घर में घुसकर की दो बेटों-मां की चाकू से हत्या

Post Comment

Comment List

Latest News

मोदी ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों से की बात, महिला किसान ड्रोन केंद्र का किया उद्घाटन  मोदी ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों से की बात, महिला किसान ड्रोन केंद्र का किया उद्घाटन 
प्रधानमंत्री ने बातचीत के दौरान ओडिशा के रायगढ़ के किसान पूर्ण चंद बेनिया का जय जग्गनाथ कहकर स्वागत किया। बेनिया...
बे मौसम की बारिश अरमानों को धो रही, तमन्ना का गला घोट रही
समृद्धि के लिए देश की सीमाओं के साथ आंतरिक सुरक्षा है आवश्यक : मुर्मु
इजरायल में बंदूकधारियों ने की बस स्टॉप पर फायरिंग, 5 लोगों की मौत 
कांग्रेस प्रत्याशियों ने पीसीसी अध्यक्ष डोटासरा से मुलाकात की
उत्तराखंड में 2 बच्चों में मिले चीन की बीमारी के लक्षण
Parliment Winter Session: सरकार ने सत्र से पहले शनिवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई