टीम इंडिया के चीफ कोच बने रहेंगे द्रविड़, बीसीसीआई ने कोचिंग स्टाफ का भी कार्यकाल बढ़ाया

टीम इंडिया के चीफ कोच बने रहेंगे द्रविड़, बीसीसीआई ने कोचिंग स्टाफ का भी कार्यकाल बढ़ाया

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने बुधवार को भारतीय टीम के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ सहित सभी कोचिंग स्टाफ का कार्यकाल बढ़ा दिया है।

मुम्बई। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने बुधवार को भारतीय टीम के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ सहित सभी कोचिंग स्टाफ का कार्यकाल बढ़ा दिया है। बीसीसीआई की आज यहां जारी विज्ञप्ति में बताया गया कि बीसीसीआई ने हाल ही में समाप्त हुए एकदिवसीय विश्वकप 2023 के उपरांत राहुल द्रविड़ के अनुबंध समाप्त होने के बाद उनके साथ सार्थक बातचीत की और सबकी सहमति से अनुबंधन को आगे बढ़ाने का फैसला लिया गया। उन्होंने कहा कि बोर्ड भारतीय टीम को ढालने में राहुल द्रविड़ की भूमिका को पहचानता है और उनकी असाधारण प्रतिभा की सरहाना करता है। बोर्ड वीवीएस लक्ष्मण के भी एनसीए के हेड कोच और टीम इंडिया के स्टैंड इन हेड कोच के रोल की सहराना करता है। अपनी महान ऑनफील्ड साझेदारी से ही राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण ने भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाने का काम किया है।

अनुबंध अवधि का खुलासा नहीं
इस अनुबंध को कितनी अवधि के लिए बढ़ाया गया है, यह स्पष्ट नहीं हो पाया है लेकिन माना जा रहा है कि यह कम से कम जून 2024 में होने वाले टी-20 विश्वकप तक चलेगा।

राठौड़, महाम्ब्रे और दिलीप भी अपने पदों पर बने रहेंगे
प्राप्त जानकारी के अनुसार बीसीसीआई मौजूदा टीम ढांचे में निरंतरता चाहती है जो कि नये कोचिंग स्टाफ के आने से प्रभावित हो सकता है। इस कोचिंग स्टाफ में बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़, गेंदबाजी कोच पारस महाम्ब्रे और क्षेत्ररक्षण कोच टी दिलीप शामिल हैं।

पहली चुनौती दक्षिण अफ्रीकी दौरा
दूसरे कार्यकाल में द्रविड़ और उनका कोचिंग स्टाफ सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका दौरे पर जाएगा, जहां उन्हें तीन टी-20, तीन एकदिवसीय और दो टेस्ट मैच खेलने है। इसके बाद उन्हें इंग्लैंड के साथ पांच मैचों की घरेलू टेस्ट सीरीज खेलनी है और फिर टी-20 विश्वकप शुरू हो जाएगा।

Read More IND vs ENG 5th Test: बुमराह टीम में, चोट के कारण राहुल हुए बाहर

आज ही दिया था राहुल द्रविड़ को प्रस्ताव
उल्लेखनीय है कि इससे पहले की रिपोर्टो में बताया गया था कि बीसीसीआई ने फिर से राहुल द्रविड़ को अगले साल जून में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप तक कोच बने रहने का प्रस्ताव दिया।  एकदिवसीय विश्वकप के फाइनल मे मिली हार के बाद द्रविड़ ने कहा था कि मैंने इसके बारे में नहीं सोचा है। मेरे पास समय ही नहीं था, जब मुझे समय मिलेगा तब सोचूंगा। लेकिन अभी मेरा पूरा ध्यान विश्वकप अभियान पर है। मैंने भविष्य के बारे में कतई नहीं सोचा है।

Read More घुटने की सर्जरी के चलते आईपीएल से बाहर हुए शमी

Post Comment

Comment List

Latest News