असर खबर का - आयुक्त ने गठित की जांच कमेटी, संचालक को दिया नोटिस

पशु मेला स्थल पर ट्रेड फेयर के नाम पर जनता से प्रवेश शुल्क वसूली का मामला

असर खबर का - आयुक्त ने गठित की जांच कमेटी, संचालक को दिया नोटिस

दैनिक नवज्योति समाचार पत्र में समाचार प्रकाशित करने के बाद निगम अधिकारी हरकत में आए।

कोटा। नगर निगम के दशहरा मैदान स्थित पशु मेला स्थल पर ट्रेड फेयर लगाने वाली राजकोर्ट की फर्म द्वारा प्रवेश शुल्क से 100 रुपए वसूलने के मामले में नगर निगम कोटा दक्षिण की आयुक्त ने मंगलवार को जांच कमेटी गठित की। साथ ही मेला संचालक को नोटिस जारी कर 24 घंटे में स्पष्टीकरण देने को कहा है। इधर कोटा दक्षिण के कांग्रेस पार्षदों ने भी इस मामले में आयुक्त कक्ष के बाहर धरना दिया और नारेबाजी की। उसके बाद आयुक्त को ज्ञापन देकर मामले की जांच करवाने की मांग की। नगर निगम कोटा दक्षिण की आयुक्त सरिता सिंह ने इस मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया है। जिसमें उपायुक्त प्रथम महावीर सिंह सिसोदिया, राजस्व अधिकारी विजय अग्निहोत्री और उप नगर नियोजक सत्य नारायण राठौड़ को शामिल किया गया है। कमेटी को इस मामले में जांच कर शीघ्र रिपोर्ट पेश करने को कहा है। इधर कमेटी द्वारा जांच रिपोर्ट आने से पहले ही आयुक्त ने राजकोट गुजरात की फर्म महावीर पोली प्रिंट के प्रोपराइटर व मेला संचालक को नोटिस जारी किया है। जिसमें कहा है कि उनके द्वारा ट्रेड फेयर के नाम से निगम से रियायती दर पर जगह ली गई है। उसके बाद भी मेले में आने वाले आमजन से प्रवेश शुल्क के नाम पर 100 रुपए की वसूली की जा रही है। इस संबंध में उनसे 24 घंटे में स्पष्टीकरण देने को कहा है। 

पार्षदों ने की जांच की मांग
इधर नगर निगम कोटा दक्षिण के कांग्रेसी पार्षद दिन में नगर निगम आयुक्त से मिलने पहुंचे। उस समय आयुक्त के कार्यालय में नहीं होने पर पार्षद उनके कक्ष के बाहर धरने पर बैठ गए और निगम प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। कुछ समय बाद आयुक्त के कार्यालय पहुंचने पर पार्षदों ने उनसे मुलाकात कर मेला संचालक  द्वारा आमजन से प्रवेश शुल्क के नाम पर 100 रुपए टिकट राशि वसूलने पर आपत्ती जताते हुए विरोध किया। साथ ही इस मामले की जांच करवाने की मांग की। 

दो दिन का समय चाहा
सूत्रों के अनुसार नगर निगम का कर्मचारी जब मेला सचालक को नोटिस देने पहुंचा तो उनके कर्मचारियों ने बताया कि प्रोपराइटर शहर से बाहर हैं। फोन पर बात करने पर संचालक ने बताया कि वे शहर से बाहर हैं। दो दिन बाद आएंगे। ऐसे में उन्हें जवाब के लिए दो दिन का समय दिया जाए। 

नव्ज्योति ने उठाया था मुद्दा
गौरतलब है कि पशु मेला स्थल पर निगम से रियायती दर पर जगह लेकर जनता से प्रवेश टिकट के 100 रुपए और  स्टैंड पर पार्किंग की अधिक राशि वसूलने का मामला दैनिक नवज्योति ने प्रमुखता से उठाया था। समाचार पत्र में 28 जनवरी के अंक में पेज दो पर ’ ट्रेड फेयर के नाम निगम से रियायत लेकर निजी फर्म कमा रही हर दिन लाखों रुपए’ शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया था। उसके बाद 29 जनवरी को कांग्रेस पार्षदों ने आयुक्त से मुलाकात की थी। उसके बाद निगम अधिकारी हरकत में आए। आयुक्त ने मंगलवार को सुबह तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित की। साथ ही निजी फर्म के प्रोपराइटर को नोटिस जारी कर स्पष्टेीकरण देने को कहा है।  

Read More  चोरी की 10 मोटरसाइकिल सहित दो गिरफ्तार, एक नाबालिक निरुद्ध

दशहरा मेले में दुकानदारों को रियायत नहीं फिर बाहर की फर्म को क्यों
आयुक्त से मुलाकात के दौरान पार्षद इसरार मोहम्मद, जितेन्द्र सिंह, ऐश्वर्य श्रृंगी व देवेश तिवारी समेत कई पार्षदों ने कहा कि दशहरा मेले के दौरान जब दुकानदार व ठेले वाले पशु मेले की जगह रियायती दर पर देने की मांग करते हैं। उस समय निगम उन्हें रियायत नहीं देता। वरन् नीलामी में ऊंचे दामों पर जगह दी जाती है। जिससे कई दुकानदार तो मेले में दुकानें भी नहीं लगा पाते। जबकि गुजरात की फर्म को रियायती दर पर जगह दी गई है। जिससे निगम को राजस्व का नुकसान हो रहा है। साथ ही जनता से भी प्रवेश शुल्क के नाम पर टिकट लेकर वसूली की जा रही है। पार्षदों ने कहा कि इस मामले की जाच करवाई जाए। कार्रवाई नहीं होने पर इस मामले की शिकायत एसीबी में करेंगे।  ज्ञापन देने वालों में पार्षद किशन प्रजापति, अनुराग गौतम, तबस्सुम मिर्जा, कुलदीप गौतम,आसिफ मिर्जा, बादशाह भाई,पीोडी. गुप्ता, मनोज गुप्ता,साहिब हुसैन, मोहन नंदवाना,दीपक नंदवाना, कुलदीप प्रजापति,, इति शर्मा, ’योति सलमन,शिवांगी सोनी, लेखराज योगी,मोनिका विजय व प्रदीप कसाना समेत कई अन्य पार्षद शामिल थे। 

Read More सड़क पर वाहनों की अव्यवस्थित पार्किंग से बिगड़ी यातायात व्यवस्था

Post Comment

Comment List

Latest News