असर खबर का - यूआईटी ने हरितिमा पट्टी से हटाया अतिक्रमण

घोड़े वाले बाबा चौराहे के पास स्लीप लेन को कराया खाली

असर खबर का - यूआईटी ने हरितिमा पट्टी से हटाया अतिक्रमण

न्यास सचिव ने बताया कि अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई लगातार की जा रही है।

कोटा। नगर विकास न्यास के अतिक्रमण निरोधक दस्ते ने गुरुवार को कार्रवाई करते हुए घोड़े वाले बाबा चौराहे के पास से हरितिमा पट्टी का अतिक्रमण हटाया। साथ ही स्लीप लेन को खाली करवाया गया। करीब 25 डम्पर से अधिक मलबा साफ किया गया। नगर विकास न्यास के सचिव मानसिंह मीणा के निर्देश पर पुलिस उप अधीक्षक आशीष भार्गव के नेतृत्व में न्यास का दस्ता सुबह 11 बजे एरोड्राम चौराहे पर पहुचा था। यहां से अतिक्रमण हटाया और अवैध रूप से बनी टापरियों को भी साफ किया गया। इसके बाद दस्ता घोड़े वाले बाबा चौराहे पर पहुंचा। यहां हरितिमा पट्टी पर हो रहे अतिक्रमण को हटाना शुरु किया। उप अधीक्षक आशीष भार्गव ने बताया कि यहां  हतितिमा पट्टी व स्लीप लेन पर लोगों ने अतिक्रमण तो किया हुआ था। साथ ही गोबर के कंडे और मलबा डालकर गंदगी भी फेला रखी थी। जिससे स्लीप लेन से निकलना मुश्किल हो रहा था। मवेशी बांध रखे थे। जिससे वहां रास्ता जाम रहने और दुर्गंध तक फेल रही थी। न्यास सचिव के निर्देश पर जेसीबी डम्पर मंगवाकर श्रमिकों की सहायता से मौके से करीब 25 से 30 डम्पर मलबा साफ किया गया। जो कंडे सूख रहे थे उन्हें हटवाया गया। सुबह 11 से शाम 4 बजे तक 5 घंटे चली कार्रवाई के दौरान अतिक्रमण हटाने और मलबा साफ किया गया। कार्रवाई के दौरान न्यास का दस्ता मौजूद था। न्यास सचिव मानसिंह मीणा ने बताया कि अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई लगातार की जा रही है। घोड़े वाले बाबा चौराहे से अतिक्रमण हटाकर हरितिमा पट्टी व स्लीप लेन को खाली कराया गया। जिससे रास्ता क्लीयर कराया। मीना ने बताया कि वैसे तो पूरा अतिक्रमण साफ किया गया है लेकिन फिर भी यदि रह गया है तो उसे लगातार कार्रवाई के दौरान हटा दिया जाएगा। 

नवज्योति ने किया था प्रकाशित
एरोड्राम चौराहे से घोड़ा चौराहे के आगे तक बड़ी संख्या में अतिक्रमण हो रहा था। हरितिमा पट्टी भी अतिक्रमण की चपेट में थी। स्थानीय बस्ती के लोगों ने हरितिमा पट्टी को बाड़े के रूप में काम में लिया जा रहा था। मवेशी बांध रखे थे। पूरी हरितिमा पट्टी पर कंडे सुखा रखे थे। साथ ही स्लीप लेन पर भी अतिक्रमण हो रहा था। जिससे वहां से लोगों का निकलना मुश्किल हो रहा था। इस संबंध में दैनिक नव’योति ने 12 फरवरी को पेज 11 पर हरियाली के लिए विकसित की पट्टी पर सूख रहे कंडें शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया था। जिसमें पूरी स्थिति को बताया गया था। साथ ही मेन रोड पर हो रहे अतिक्रमण व गंदगी पर निगम व न्यास प्रशासन का ध्यान नहीं होने की जानकारी दी गई थी। उस समय निगम आयुक्त ने कार्रवाई का आश्वासन दिया था। उसके बाद न्यास प्रशासन हरकत में आया। जिसके बाद न्यास की टीम ने घोड़े वाले बाबा चौराहे की हरितिमा पट्टी से अतिक्रमण हटाया। 

Post Comment

Comment List

Latest News