भाजपा के प्रदर्शन में अलग गुट में नजर आए नेता, हिरासत में सतीश पूनिया सहित कई नेता

शहीद स्मारक पर यह प्रदर्शन शुरू हुआ

भाजपा के प्रदर्शन में अलग गुट में नजर आए नेता, हिरासत में सतीश पूनिया सहित कई नेता

शहीद स्मारक से प्रदर्शन शुरू हुआ और सिविल लाइन्स फाटक पर खत्म हुआ। फाटक पर बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया सहित कई नेताओं को पुलिस ने हिरासत में लेकर विद्याधर नगर पुलिस थाने पर छोड़ा

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार में खराब कानून व्यवस्था के खिलाफ भाजपा ने सड़कों पर प्रदर्शन किया। शहीद स्मारक से प्रदर्शन शुरू हुआ और सिविल लाइन्स फाटक पर खत्म हुआ। फाटक पर बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया सहित कई नेताओं को पुलिस ने हिरासत में लेकर विद्याधर नगर पुलिस थाने पर छोड़ा। प्रदर्शन के दौरान नेता अपने-अपने कार्यकर्ताओं-समर्थकों के साथ अलग-अलग गुट में नजर आए। प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया के नेतृत्व में शहीद स्मारक पर यह प्रदर्शन शुरू हुआ, जहां से सैंकड़ों भाजपा नेता और कार्यकर्ता रैली निकालते हुए सिविल लाईन्स फाटक तक पहुंचे। गर्वमेंट हॉस्टल चौराहा और सरदार पटेल मार्ग होते हुए सिविल लाईन्स फाटक तक पहुंची। इस रैली में पूनिया के साथ नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया, राज्यसभा सांसद घनश्याम तिवाड़ी, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरूण चतुर्वेदी, सांसद रामचरण बोहरा, अजमेर सांसद भागीरथ चौधरी और करौली-धौलपुर सांसद मनोज समेत पार्टी के कई पदाधिकारी और कार्यकर्ता शामिल हुए। यहां पहुंचने के बाद कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़प भी हुई, लेकिन इस प्रदर्शन के बाद कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी। पूनिया समेत तमाम नेताओं को पुलिस ने 4 बसों में बैठाकर विद्याधर नगर थाने ले गए और वहां से छोड़ दिया।

पहली बेरिकेट्स की सिक्योरिटी को तोड़ा
सिविल लाइन्स फाटक से करीब 100 मीटर दूरी पर पुलिस ने 2 लेयर सिक्योरिटी कर रखी थी। लेकिन कार्यकर्ताओं की भीड़ और भगदड़ के चलते पुलिस के जवान पहली लेयर की सिक्योरिटी से कार्यकर्ताओं को रोकने में फेल हो गए। यहां कार्यकर्ताओं ने बेरिकेट्स को हटाकर आगे बढ़ गए। इसके बाद फाटक से 20 मीटर दूर दूसरे लेयर की बेरिटकेटिंग पर पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच मामूली झड़प हो गई। लेकिन अबकी बार पुलिस ने कार्यकर्ताओं को यहां से आगे नहीं बढ़ने दिया। यहां करीब आधा घंटे तक कार्यकर्ता और पदाधिकारी नारेबाजी करते रहे, जिसके बाद पुलिस ने करीब 200 नेताओं और कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया।

गर्मी से तबियत खराब
प्रदर्शन के दौरान तेज गर्मी और उमस से कई नेताओं के पसीने छूट गए। गर्मी से बेहाल हुए नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया को प्रदर्शन स्थल पर ही पुलिस और कार्यकर्ताओं ने संभाला। इसके बाद राज्यसभा सांसद घनश्याम तिवाड़ी ने उन्हें पानी दिया।

Read More वसुंधरा राजे हमारी नेता थी, हैं और हमारी नेता रहेगी : कालीचरण सर्राफ

 

Post Comment

Comment List

Latest News

भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस
उन्होंने कहा कि यात्रा को पहले दक्षिण के पांच राज्यों में भारी समर्थन मिला था और जब यात्रा  महाराष्ट्र पहुंची...
झुंझुनूं में विकास की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी : बृजेंद्र ओला
भारतीय संविधान विश्वभर के लोकतंत्रों की सर्वश्रेष्ठ व्याख्या: राज्यपाल मिश्र
खाद की कमीः क्षेत्र में खाद भी राशन की तरह बांटना पड़ा
वसुंधरा राजे हमारी नेता थी, हैं और हमारी नेता रहेगी : कालीचरण सर्राफ
सेना के जवान का बीमारी के चलते निधन राजकीय सम्मान से किया अंतिम संस्कार
भाजपा के टेपन 978 वोट से हुए विजयी