मंदी आने की आशंका से शेयर बाजार में भूचाल

वैश्विक स्तर पर बिकवाली का असर घरेलू बाजार पर

मंदी आने की आशंका से शेयर बाजार में भूचाल

दुनिया की तीन प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं अमेरिका, चीन और यूरोपीय क्षेत्र की अर्थव्यवस्था तेजी से नीचे जा रही है। इसके कारण अगले वर्ष वैश्विक स्तर पर फिर से मंदी आने की आशंका है।

मुंबई। विश्व बैंक की दुनिया में फिर से मंदी आने की चेतावनी के बाद वैश्विक स्तर पर शेयर बाजारों में हुई बिकवाली का असर घरेलू बाजार पर भी दिखा। जहां शेयर बाजार में चौतरफा बिकवाली से भूचाल आ गया। सेंसेक्स करीब 1100 अंक और निफ्टी लगभग 350 अंक टूट गया। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1093.22 अंकों की गिरावट लेकर 58840.79 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 346.55 अंक लुढ़ककर 17530.85 अंक पर आ गया। दिग्गज कंपनियों की तुलना में छोटी और मझौली कंपनियों पर अधिक दबाव दिखा। जिससे बीएसई का मिडकैप 2.85 प्रतिशत उतरकर 25558.21 अंक पर और स्मॉलकैप 2.38 प्रतिशत गिरकर 29199.39 अंक पर आ गया। बीएसई में शामिल सभी समूह लाल निशान में रहे। जिसमें रियल्टी में सबसे अधिक 3.53 प्रतिशत, आईटी 3.37 प्रतिशत, टेक 3.03 प्रतिशत, बेसिक मटेरियल्स 3.05 प्रतिशत, ऑटो 2.67 प्रतिशत, तेल एवं गैस 2.30 प्रतिशत, धातु 1.99 प्रतिशत और एनर्जी 2.41 प्रतिशत प्रमुखता से शामिल है। बीएसई में कुल मिलाकर 3610 कंपनियों में कारोबार हुआ जिसमें 2532 को नुकसान उठाना पड़ा। जबकि, मात्र 972 कंपनियां लाभ में रही। 106 कंपनियों में कोई बदलाव नहीं हुआ। 

विश्व बैंक ने कल कहा था कि दुनिया की तीन प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं अमेरिका, चीन और यूरोपीय क्षेत्र की अर्थव्यवस्था तेजी से नीचे जा रही है। इसके कारण अगले वर्ष वैश्विक स्तर पर फिर से मंदी आने की आशंका है। उधर बढ़ती महंगाई के कारण लोगों के फिर से ऑनलाइन के स्थान पर दुकानों में जाकर खरीदी करने की चलन में तेजी आई है। इससे ऑनलाइन कारोबार करने वाली कंपनियों पर भी विपरीत असर पडऩे की आशंका जतायी जा रही है। वैश्विक बाजार पर इन कारकों का असर दिखा है। जिसके कारण कल अमेरिकी बाजार गिरावट लेकर बंद हुये और आज भी लाल निशान में ही खुले हैं।

 

Read More हबल मनी दे रहा आईफोन-14 पर 7200 रुपए की छूट

 

 

 

Read More ग्राहकों के अनुरूप सेवाएं देने में तत्पर ओम टोयोटा : ठोलिया 

Post Comment

Comment List

Latest News