15 दिसंबर से पीसीसी में शुरू होगी जनसुनवाई

15 दिसंबर से पीसीसी में शुरू होगी जनसुनवाई

दिल्ली में महगाई रैली का दिया लक्ष्य

जयपुर। पीसीसी में एक बार फिर से जनसुनवाई शुरू होगी। ये जनसुनवाई सप्ताह में तीन दिन सोमवार, मंगलवार एवं बुधवार को होगी। इसका कार्यक्रम मीडिया के जरिए जारी होगा। निर्धारित दिन संबंधित मंत्री को जनसुनवाई में मौजूद रहना आवश्यक होगा। अगर कोई मंत्री किसी कारण से जनसुवाई में नहीं आ पाए तो इसकी पूर्व स्वीकृति मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से लेनी होगी। 12 दिसंबर की रैली के लिए सभी मंत्री अपने प्रभार वाले जिलों में जाकर समस्त कांग्रेस कार्यकर्ताओं एवं पधाधिकारी से रैली में अधिक से अधिक भीड़ लाने के लिए अलग अलग टारगेट तय करेंगे।

दिल्ली में महगाई रैली का दिया लक्ष्य
मंहगाई को लेकर 12 दिसंबर को दिल्ली में होने वाली रैली को लेकर मंगलवार को पीसीसी में अहम बैठक आयोजित हुई। बैठक में एआईसीसी महासचिव अजय माकन, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा सहित मंत्री, एमएलए और पार्टी के पदाधिकारी शामिल हुए। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने एक बार फिर से कार्यकर्ताओं की पीसीसी में सुनवाई की घोषणा भी की। पीसीसी महासचिव पुष्पेंद्र भारद्वाज ने बताया कि बैठक में सभी मंत्रियों एवं पढ्ढिकारियो को दिल्ली रैली में अधिक से अधिक कार्यकर्ता लेकर जाने का लक्ष्य दिया है। प्रदेश से लगभग 60 हजार कांग्रेसी रैली में जाएंगे। उन्होंने बताया कि पीसीसी में अब तीन दिन दो मंत्री पार्टी पधाधिकारी के साथ बैठकर लोगो की जनसुनवाई करेंगे।

बीजेपी सरकार हर मोर्चे पर विफल
खाद्य मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने बैठक के बाद कहा की केंद्र की बीजेपी सरकार हर मोर्चे पर विफल है मंहगाई ने आम आदमी की कमर तोड़ दी है। कांग्रेस की रैली देश में बढ़ती मंहगाई के खिलाफ हो रही है। राजस्थान से रैली में सबसे अधिक लोग जाएंगे।

Read More झुंझुनूं में विकास की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी : बृजेंद्र ओला

Post Comment

Comment List

Latest News

भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस
उन्होंने कहा कि यात्रा को पहले दक्षिण के पांच राज्यों में भारी समर्थन मिला था और जब यात्रा  महाराष्ट्र पहुंची...
झुंझुनूं में विकास की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी : बृजेंद्र ओला
भारतीय संविधान विश्वभर के लोकतंत्रों की सर्वश्रेष्ठ व्याख्या: राज्यपाल मिश्र
खाद की कमीः क्षेत्र में खाद भी राशन की तरह बांटना पड़ा
वसुंधरा राजे हमारी नेता थी, हैं और हमारी नेता रहेगी : कालीचरण सर्राफ
सेना के जवान का बीमारी के चलते निधन राजकीय सम्मान से किया अंतिम संस्कार
भाजपा के टेपन 978 वोट से हुए विजयी