भारत की नजर दस साल बाद आईसीसी ट्रॉफी जीतने पर

डब्ल्यूटीसी फाइनल: टेस्ट बादशाहत के लिए महा मुकाबला आज से

भारत की नजर दस साल बाद आईसीसी ट्रॉफी जीतने पर

टेस्ट क्रिकेट की बादशाहत के लिए भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच बुधवार से वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप (डब्ल्यूटीसी) का फाइनल खेला जाएगा

ओवल। टेस्ट क्रिकेट की बादशाहत के लिए भारत औरस्ट्रेलिया के बीच बुधवार से वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप (डब्ल्यूटीसी) का फाइनल खेला जाएगा। साल 2021 में भी भारतीय टीम ने विराट कोहली की कप्तानी में डब्ल्यूटीसी का फाइनल खेला था, लेकिन तब न्यूजीलैंड के सामने भारत का खिताब जीतने का सपना अधूरा रह गया था। लेकिन भारत ने एक बार फिर शानदार प्रदर्शन करते हुए फाइनल में जगह बनाई है। इस बार कप्तानी रोहित शर्मा के हाथ में है। साथ ही उम्मीद की जा रही है कि इस बार तो कम से कम दस साल का सूखा खत्म होगा और टीम इंडिया एक बार फिर से आईसीसी ट्रॉफी लेकर घर वापस आएगी। लेकिनस्ट्रेलियाई टीम भी काफी तगड़ी है और इससे मुकाबला कोई आसान नहीं होगा। इंग्लैंड के ग्रीन विकेट पर तो कंगारू तेज गेंदबाज और भी ज्यादा खतरनाक साबित हो सकते हैं।

रहाणे के शतक के बाद भारत नहीं हारी है एक भी मैच

बल्लेबाजी में भारत की उम्मीदें विराट कोहली और रोहित शर्मा के साथ अजिंक्य रहाणे पर होंगी। रहाणे के साथ एक अनूठा संयोग रहा है। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 12 शतक बनाए हैं। जब भी रहाणे के बल्ले से शतकीय पारी निकली है, टीम इंडिया वो मेच नहीं हारी है। भारत ने या तो मैच जीता है या मुकाबला ड्रॉ पर समाप्त हुआ है। रहाणे ने पहला शतक 2014 में न्यूजीलैंड के खिलाफ लगाया और वो टेस्ट ड्रॉ रहा। इसके बाद 2014 में ही इंग्लैंड के खिलाफ 103 रन की पारी खेली और मैच भारत ने जीता। इसके बाद आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ 147 रन की पारी खेल मैच ड्रॉ कराया। 2015 में श्रीलंका के खिलाफ शतक और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ रहाणे ने दो शतक लगाए सभी मैचों में भारतीय टीम विजयी रही। पिछले कई वर्षों से रहाणे के साथ यह संयोग चल रहा है।

विराट 2000 टेस्ट रन से मात्र 21 रन दूर

Read More BAN vs SL Match : बांग्लादेश ने श्रीलंका के खिलाफ दर्ज की रोमांचक जीत

विराट कोहली के पास डब्ल्यूटीसी फाइनल में आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ 2000 टेस्ट रन पूरा करने का मौका होगा।  विराट के इस वक्त आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट फॉर्मेट में 1979 रन हैं। उन्हें 2000 के आंकड़े तक पहुंचने के लिए सिर्फ 21 रनों की जरूरत है। वो भारत के लिए ऐसा करने वाले 5वें बल्लेबाज बनेंगे। आस्ट्रेलिया के खिलाफ 3630 रन सचिन तेंदुलकर ने बनाए हैं। इसके बाद वीवीएस लक्ष्मण (2434), राहुल द्रविड़ (2143), चेतेश्वर पुजारा (2033) हैं।

Read More Paris Olympic 2024 के लिए राफेल नडाल नहीं खेलेंगे विंबलडन

ईशान किशन को मिल सकता है मौका

Read More Cricket Champions Trophy : पीसीबी ने दिया चैंपियंस ट्रॉफी करवाने का प्रस्ताव, जानिए कब से शुरू होगी ट्रॉफी

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के लिए टीम इंडिया में केएस भरत और ईशान किशन के रूप में दो विकेटकीपर मौजूद हैं। भारतीय कप्तान रोहित शर्मा प्लेइंग इलेवन में ईशान को मौका दे सकते हैं। टॉप-5 में रोहित शर्मा, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे सभी दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं। रवींद्र जडेजा ही इकलौते एक ऐसे प्लेयर है, जो लेफ्ट हैंड से बल्लेबाजी करते हैं। ऐसे में सही टीम संयोजन तलाशने के लिए ईशान को जगह मिल सकती है, क्योंकि वह लेफ्ट हैंड बैटर हैं और ऊपर आकर ताबड़तोड़ बल्लेबाजी कर सकते हैं। वह ऋषभ पंत की कमी पूरी कर सकते हैं। ईशान किशन ने आईपीएल 2023 में मुंबई इंडियंस के लिए कई शानदार पारियां खेली। उन्होंने आईपीएल 2023 के 16 मैचों में 454 रन बनाए हैं।

दस साल ने नहीं जीती कोई आईसीसी ट्रॉफी

भारत की नजरें आईसीसी खिताब के एक दशक के सूखे को खत्म करने पर टिकी होंगी। डब्ल्यूटीसी के पिछले दो चक्र में भारत सबसे निरंतर प्रदर्शन करने वाली टीम रही है और पिछले 10 साल में सफेद गेंद के लगभग सभी बड़े टूर्नामेंट के नॉकआउट चरण में जगह बनाने में सफल रही लेकिन इसके बावजूद खिताब नहीं जीत पाई। भारत ने पिछला आईसीसी खिताब 2013 में इंग्लैंड में चैंपियन्स ट्रॉफी के रूप में जीता था। इसके बाद भारत को तीन बार फाइनल में हार का सामना करना पड़ा जबकि टीम चार बार सेमीफाइनल में हारी।

आॅस्ट्रेलिया की पेस

बेट्री रहेगी खतरा

भारतीय बल्लेबाजों के लिए पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क और स्कॉट बोलैंड जैसे तेज गेंदबाजों का सामना करना आसान नहीं होगा। इस मुकाबले को अल्टीमेट टेस्ट कहा जा रहा है और बेशक इस मैच में रोहित शर्मा और विराट कोहली जैसे अनुभवी खिलाड़ियों के अलावा शुभमन गिल जैसे उभरते हुए स्टार की परीक्षा होगी। पुजारा काउंटी क्रिकेट की अच्छी फॉर्म को दोहराना चाहेंगे, जबकि रहाणे वापसी करते हुए अच्छा प्रदर्शन करने को बेताब होंगे।

 भारतीय टीम के विपरीतस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को मैच फिट होने का अधिक मौका नहीं मिला है लेकिन वे इस मुकाबले में तरोताजा होकर उतरेंगे।

उस्मान, वार्नर और स्मिथ पर टिकी आस्ट्रेलिया की उम्मीद

मैच का नतीजा काफी हद तक इस पर निर्भर करेगा कि स्तरीय तेज गेंदबाजी के खिलाफ दोनों टीमों  का शीर्ष क्रम कैसा प्रदर्शन करता है। आॅस्ट्रेलिया को सलामी बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा से काफी उम्मीदें हैं जबकि डेविड वार्नर अपने करियर के अंतिम चरण में अपनी छाप छोड़ना चाहेंगे। इस मैदान पर स्मिथ का औसत 100 का है और अगर भारत को मैच पर पकड़ बनानी है तो उन्हें जल्दी आउट करना होगा। पिच चाहे कैसा भी बर्ताव करे अनुभवी आॅफ स्पिनर नाथन लियोन विरोधी बल्लेबाजों को परेशान करने की क्षमता रखते हैं जबकि आॅलराउंडर के रूप में कैमरन ग्रीन की भूमिका भी महत्वपूर्ण होगी।

 

Post Comment

Comment List

Latest News