खेत की बाउंड्री में था करंट, अफीम की हो रही थी खेती

नारकोटिक्स विभाग और पुलिस टीम ने मंगलवार को खेत में छापा मार करीब चार हजार पौधे बरामद किए हैं।

खेत की बाउंड्री में था करंट, अफीम की हो रही थी खेती

निकटवर्ती भोपालगढ़ के हीरादेसर गांव में खेत पर बड़ी संख्या में अफीम के पौधे बरामद किए गए है। खेत मालिक ने बेहद शातिर अंदाज में बाड़ में करंट छोड़ रखा था, ताकि कोई खेत में प्रवेश नहीं कर सके।

जोधपुर । निकटवर्ती भोपालगढ़ के हीरादेसर गांव में खेत पर बड़ी संख्या में अफीम के पौधे बरामद किए गए है। खेत मालिक ने बेहद शातिर अंदाज में बाड़ में करंट छोड़ रखा था, ताकि कोई खेत में प्रवेश नहीं कर सके। नारकोटिक्स विभाग और पुलिस टीम ने मंगलवार को खेत में छापा मार करीब चार हजार पौधे बरामद किए हैं। 

इन पौधों पर डोडे लगे हुए मिले। कुछ डोडो से अफीम भी निकाल लिया गया। एनसीबी सूत्रों के मुताबिक हीरादेसर गांव एक खेत पर मंगलवार को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो और पुलिस टीम छापा मारने पहुंची। खेत में अन्य फसलों के बीच करीब पचास खोडो में अफीम के करीब चार हजार पौधे लगे मिले। इन पौधों में डोडे भी गए है। कुछ डोडों में कट लगा हुआ निशान भी नजर आया। इससे जाहिर है कि इन डोडो से अफीम निकाल लिया गया। खेत मालिक वृद्ध से पूछताछ की जा रही है, लेकिन उसने अनभिज्ञता जता दी। वहीं उसके चारों बेटे मौके से गायब हो गए।   

सबसे ज्यादा खपत मारवाड़ में 

पूरे राजस्थान में अफीम की सबसे अधिक खपत मारवाड़ में होती है। ग्रामीण क्षेत्र में शादी से लेकर मौत के बाद होने वाले आयोजनों में इसकी खुलकर मनुहार की जाती रही है। वहीं कई लोग इस नशे की गिरफ्त में फंसे हुए है। उन्हें दिन में दो.तीन बार इसका सेवन करने की आदत पड़ चुकी है। तस्करों पर कसते शिकंजे के कारण यह आसानी से मिल भी नहीं पाती। साथ ही इसके दाम भी काफी बढ़ गए। इसका तोड़ निकालते हुए कुछ लोगों ने अपने खेत में सामान्य फसलों के बीच में अफीम की खेती करना शुरू कर दिया। बता दें कि पिछले दो माह में ही जोधपुर जिले में तीन स्थान पर अफीम के पौधे पकड़े जा चुके है।

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News