उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने नए संसद भवन पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया

उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने नए संसद भवन पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया

उन्होंने ने कहा, ''आज हम एक ऐसे समय में हैं जहां ऐसी विकास और उपलब्धियां देख रहे हैं जिनके बारे में हमने कभी सपने में भी नहीं सोचा था। हमारी जमीनी हकीकत आज विश्व स्तर पर सबसे सकारात्मक तरीके से परिलक्षित हो रही है।"

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने नये संसद भवन पर रविवार को राष्ट्रीय ध्वज फहराते हुए कहा कि भारत युग परिवर्तन का साक्षी बन रहा है  और  दुनिया भारतीय ताकत, सामथ्र्य और योगदान को पहचान रही है।

उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ ने नए संसद भवन के गज द्वार पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया। इस अवसर पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला भी उपस्थित रहे। उपराष्ट्रपति ने इसे विकास यात्रा में एक ऐतिहासिक क्षण और मील का पत्थर बताते हुए कहा कि भारत युग परिवर्तन का गवाह बन रहा है, और दुनिया भारत की ताकत, सामथ्र्य और योगदान को पूरी तरह से पहचान रही है।

उन्होंने ने कहा, ''आज हम एक ऐसे समय में हैं जहां ऐसी विकास और उपलब्धियां देख रहे हैं जिनके बारे में हमने कभी सपने में भी नहीं सोचा था। हमारी जमीनी हकीकत आज विश्व स्तर पर सबसे सकारात्मक तरीके से परिलक्षित हो रही है।"

इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री, विभिन्न राजनीतिक दलों के सांसद, राज्यसभा और लोकसभा के महासचिव तथा सचिवालय के अधिकारी उपस्थित रहे।

Read More कश्मीर में कोई नहीं सुरक्षित, शांति बहाली का नमूना दिखाए सरकार : खेड़ा

Tags:

Post Comment

Comment List

Latest News

राज्यवर्धन ने सूचना सहायक पदों की संख्या बढ़ाई राज्यवर्धन ने सूचना सहायक पदों की संख्या बढ़ाई
राठौड़ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल मार्गदर्शन में राजस्थान के युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए हम...
कांग्रेस ने आंध्रप्रदेश के विशेष दर्जे पर मोदी से मांगा स्पष्टीकरण
सीएम को लिखा पत्र : निकायों का पुनः परिसीमांकन एवं वार्डों की संख्या के निर्धारण का कार्य पारदर्शी तरीके से हो: राजेंद्र राठौड़
Single Use Plastic Seizure Campaign: 1 लाख 35 हजार रूपये से अधिक जुर्माने के साथ 109 किलो से अधिक प्रतिबंधित सिंगल यूज प्लास्टिक जब्त
निर्मला सीतारमण लगातार 7वां बजट पेश कर बनाएगी रिकॉर्ड, देश की पहली पूर्णकालिक वित्त मंत्री होगी
अप्रैल की तुलना में मई में खुदरा महंगाई में मामूली राहत
RPA में ‘'क्रिमिनल इन्वेस्टिगेशन में फॉरेंसिक्स‘' की भूमिका पर होगा सेमिनार