राजस्थान में करीबी मुकाबला लेकिन सरकार बनाएंगे: राहुल

राजस्थान में करीबी मुकाबला लेकिन सरकार बनाएंगे: राहुल

राहुल ने कहा कि कांग्रेस ने कर्नाटक चुनाव से बहुत जरूरी सबक सीखा है कि भाजपा ध्यान भटकाती है। वह हमें अपना नैरेटिव बनाने से रोकती रही। इसी तरह पिछले कई चुनाव जीतती आई।

एजेंसी/नई दिल्ली। कांग्रेस नेता एवं सांसद राहुल गांधी ने दावा किया है राजस्थान में विधानसभा चुनावों में मुकाबला करीबी हो सकता है, लेकिन उन्हें यकीन है जीत कांग्रेस की ही होगी। कांग्रेस मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव जीत रही है। हम शायद तेलंगाना में जीत सकते हैं, क्योंकि वहां भाजपा पूरी तरह से खत्म हो चुकी है। लेकिन निश्चित रूप से हम मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में जीतेंगे। राजस्थान में मामला बहुत करीबी है। हमें लगता है कि हम वहां भी जीत जाएंगे। बीजेपी भी अंदरखाने यही कह रही है। गांधी ने यहां असम के एक मीडिया नेटवर्क के कार्यक्रम में ये बात कही। राहुल ने कहा कि कांग्रेस ने कर्नाटक चुनाव से बहुत जरूरी सबक सीखा है कि भाजपा ध्यान भटकाती है। वह हमें अपना नैरेटिव बनाने से रोकती रही। इसी तरह पिछले कई चुनाव जीतती आई। इससे ही सबक लेकर हमने अपनी पार्टी का नैरेटिव बनाते हुए कर्नाटक का चुनाव लड़ा था। 

महिला आरक्षण और जनगणना के बीच कोई संबंध नहीं
लोकसभा और विधानसभाओं में महिला आरक्षण लागू करने के समय को लेकर उन्होंने कहा कि उन्हें महिला आरक्षण और दशकीय जनगणना या परिसीमन अभ्यास के बीच कोई संबंध नजर नहीं आता। महिलाओं को लोकसभा और विधानसभा की 33 प्रतिशत सीटें आवंटित करके महिला आरक्षण विधेयक आज लागू किया जा सकता है। राजनीतिक व्यवस्था में महिलाओं की भागीदारी के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि भारतीय महिलाएं राजनीतिक व्यवस्था में उस तरह से हिस्सा नहीं ले रही हैं, जिस तरह उन्हें लेना चाहिए।

2024 में भाजपा को सरप्राइज देगा विपक्ष
राहुल ने कहा कि विपक्ष के साथ भारत की 60 प्रतिशत आबादी है। हम निश्चित रूप से 2024 के आम चुनावों में भारतीय जनता पार्टी को सरप्राइज देने वाले हैं। राहुल ने दावा किया कि उनकी पार्टी ऐसी स्थिति में ढल रहे हैं जहां भाजपा मीडिया को नियंत्रित करती है। ‘इंडिया गठबंधन’ और एकजुट विपक्षी दलों के लचीलेपन के साथ काम करने के बारे में बात करते हुए गांधी ने कहा, सभी चुनौतियों के बीच, हम (इंडिया गठबंधन) एकजुट हुए हैं और मैंने विपक्ष को पहले कभी इस तरह काम करते नहीं देखा। इतने लचीलेपन के साथ क्योंकि हम एक राजनीतिक दल से लड़ रहे हैं लेकिन भारत के विचार का बचाव कर रहे हैं, इसीलिए हमने अपने गठबंधन का नाम आई.एन.डी.आई.ए. रखा है।

 

Read More बिजबेहरा में मतदान केंद्र के बाहर धरने पर बैठीं महबूबा

Post Comment

Comment List

Latest News