सचिन पायलट का कांग्रेस ने बढ़ाया कद, राहुल ने सौंपी दूसरे राज्यों में प्रचार की जिम्मेदारी

सचिन पायलट का कांग्रेस ने बढ़ाया कद, राहुल ने सौंपी दूसरे राज्यों में प्रचार की जिम्मेदारी

कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक पार्टी छोड़कर जा रहे नेताओं के बीच पायलट ने कांग्रेस और राहुल गांधी का साथ देकर भरोसा जीता है।

ब्यूरो/नवज्योति, जयपुर। कांग्रेस महासचिव सचिन पायलट की इन दिनों राहुल गांधी से घनिष्ठता को लेकर कांग्रेस हलकों में खूब चर्चाएं हैं। राहुल गांधी ने भी पायलट को दक्षिण भारत के राज्यों सहित उत्तर भारत के राज्यों में भी सक्रिय कर दिया है। आगामी दिनों में पायलट का कांग्रेस में कद बढ़ने के इसी बात से कयास लगाए जा रहे हैं। राहुल गांधी दो मार्च को धौलपुर में रोड शो में आए तो पायलट को अपने साथ ही दिल्ली ले गए। कांग्रेस हलकों में इन नजदीकियों को लेकर खूब चर्चा हुई।

कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक पार्टी छोड़कर जा रहे नेताओं के बीच पायलट ने कांग्रेस और राहुल गांधी का साथ देकर भरोसा जीता है। पायलट की क्राउड कैचर छवि का कांग्रेस को कई राज्यों में प्रभाव भी दिखाई दिया है। खासकर दक्षिण भारत के राज्यों में पायलट की छवि भी प्रभावशाली नजर आई। राहुल गांधी पायलट के इस राजनीतिक कौशल का आगामी लोकसभा चुनाव में इस्तेमाल करना चाहते हैं, लिहाजा पायलट को कई राज्यों में सक्रियता बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद पायलट की केरल, आंध्र प्रदेश में चुनावी सभाओं से उनके कद बढ़ने के कयास लगाए जा रहे हैं। पायलट ने पंजाब में भी एक जनसभा की। चुनाव से पहले पायलट की दूसरे राज्यों में सक्रियता से कांग्रेस को कई उम्मीदें बढ़ी हैं। कांग्रेस रणनीतिकारों का मानना है कि पायलट की युवाओं के बीच बेहतर छवि और भीड़ खींचने की क्षमता से कांग्रेस देश में कई सीटों पर भाजपा को टक्कर दे सकती है।

लिहाजा पायलट की आगामी दिनों में अन्य राज्यों में भी सक्रियता बनी रहेगी। राजस्थान में भी पायलट सक्रिय रहेंगे। राजस्थान के प्रमुख नेताओं में पूर्व सीएम अशोक गहलोत, पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा, नेता प्रतिपक्ष टीकाराम जूली को छोड़कर पायलट को बड़ी जिम्मेदारियां मिलने पर पायलट समर्थकों में भी खुशी की लहर बनी हुई है।

Post Comment

Comment List

Latest News