तमिलनाडु में लोगों ने किया लोकसभा चुनाव का बहिष्कार

पुलिस की विफलता को लेकर लोकसभा चुनाव का बहिष्कार किया है

तमिलनाडु में लोगों ने किया लोकसभा चुनाव का बहिष्कार

लोगों के एक वर्ग ने जांच में देरी पर चुनाव का बहिष्कार करने की धमकी देते हुए एक बैनर लगाया था, लेकिन पुलिस ने अनुमति नहीं लेने की बात कह कर बैनर हटा दिया।

पुदुकोट्टई। तमिलनाडु में पुदुकोट्टई जिले के अन्नावासल ब्लॉक के एक दूरस्थ गांव वेंगइवायल के लोगों ने पेयजल टैंक में गंदगी मिलाने में शामिल दोषियों को एक वर्ष से अधिक समय बीतने के बाद भी गिरफ्तार करने में पुलिस की विफलता को लेकर लोकसभा चुनाव का बहिष्कार किया है। अज्ञात बदमाशों ने 2022 में गांव में रहने वाले अनुसूचित जाति के लोगों के लिए बने ओवरहेड पेयजल टैंक में गंदगी मिला दी थी। मामले की जांच कर रही अपराध शाखा-आपराधिक जांच विभाग (सीबी-सीआईडी) पुलिस 15 महीने से अधिक समय से मामले में अब तक कोई सफलता हासिल नहीं कर पाई है। पुलिस ने वैज्ञानिक साक्ष्य की तलाश में कुछ संदिग्धों का डीएनए परीक्षण और आवाज का विश्लेषण किया है। इस जघन्य घटना के कारण वेंगईवायल के निवासी लगातार परेशान रहे है। इसलिए लोगों के एक वर्ग ने जांच में देरी पर चुनाव का बहिष्कार करने की धमकी देते हुए एक बैनर लगाया था, लेकिन पुलिस ने अनुमति नहीं लेने की बात कह कर बैनर हटा दिया।

गांव में तैनात चुनाव अधिकारियों ने बताया कि दोपहर 12 बजे तक एक भी मतदाता मतदान केंद्र पर नहीं आया। इस बीच चुनाव अधिकारी निवासियों के साथ चर्चा करते रहे और उन्हें मतदान केंद्रों पर आने तथा अपने मताधिकार का प्रयोग करने का आग्रह किया। मुख्य न्यायाधीश संजय विजयकुमार गंगापुरवाला और न्यायमूर्ति सत्य नारायण प्रसाद की पहली पीठ ने मामले की त्वरित जांच की मांग करने वाली एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए आश्चर्य जताया कि'जांच पूरी करने में इतना समय क्यों लग रहा है। 

 

Tags: elections

Post Comment

Comment List

Latest News