लोजपा में विरासत की जंग: बागी गुट ने पशुपति पारस को चुना पार्टी का अध्यक्ष, SC जाने की तैयारी में चिराग

लोजपा में विरासत की जंग: बागी गुट ने पशुपति पारस को चुना पार्टी का अध्यक्ष, SC जाने की तैयारी में चिराग

लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) में विरासत की जंग और तेज हो गई है। पार्टी के बागी गुट ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक करने के बाद पशुपति पारस को नया राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने का ऐलान कर दिया है। पटना में चुनाव प्रभारी सूरजभान के आवास पर चुनाव में अकेला प्रत्याशी होने के कारण पारस का निर्विरोध अध्यक्ष निर्वाचित हो गए। अब पारस गुट चुनाव आयोग के समक्ष असली एलजेपी होने का दावा करेगा।

पटना। लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) में विरासत की जंग और तेज हो गई है। पार्टी के बागी गुट ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक करने के बाद पशुपति पारस को नया राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने का ऐलान कर दिया है। पटना में चुनाव प्रभारी सूरजभान के आवास पर चुनाव में अकेला प्रत्याशी होने के कारण पारस का निर्विरोध अध्यक्ष निर्वाचित हो गए। अब पारस गुट चुनाव आयोग के समक्ष असली एलजेपी होने का दावा करेगा। अध्यक्ष के चुनाव के बाद पशुपति पारस और समर्थक सांसद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलने भी जा सकते हैं। इस बीच चिराग पासवान दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं। साथ ही चिराग की ओर से और बागियों को भी बर्खास्त करने की तैयारी चल रही है। पारस को संसदीय दल का नेता बनाने का विरोध करते हुए चिराग पासवान पहले ही लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिख चुके हैं।

सूरजभान के घर हुई राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक
एलजेपी सांसद सूरजभान के आवास पर गुरुवार को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक हुई। इसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष का निर्वाचन हुआ। इसके लिए पशुपति पारस अकेले उम्मीदवार थे। चुनाव प्रक्रिया पूरी होने के बाद शाम 5 बजे पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी जानकारी दी गई। सूरजभान सिंह के भाई व सांसद चंदन सिंह ने कहा कि पूरी पार्टी पारस के साथ है। जैसे हर पार्टी का नेतृत्व बदलता है, उसी तरह एलजेपी में भी हो रहा है।

Post Comment

Comment List

Latest News