पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को रुपए लेकर दी सामरिक सूचनाएं, 3 गिरफ्तार

महत्वपूर्ण स्थलों की फोटो भेज रहा था

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को रुपए लेकर दी सामरिक सूचनाएं, 3 गिरफ्तार

विशेष शाखा के ऑपरेशन सरहद के तहत इंटेलिजेंस टीम ने रुपए लेकर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को सामरिक महत्व की सूचनाएं देने वाले 3 लोगों को गिरफ्तार किया है।

जयपुर। विशेष शाखा के ऑपरेशन सरहद के तहत इंटेलिजेंस टीम ने रुपए लेकर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को सामरिक महत्व की सूचनाएं देने वाले 3 लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अब्दुल सत्तार, नितिन यादव और रामसिंह उम्मेदपुरा है।

चौंकाने वाले खुलासे
- अब्दुल सत्तार 2010 से नियमित रूप से पाकिस्तान जाने के साथ ही पाकिस्तान खुफिया एजेंसी के स्थानीय एजेंट के रूप में काम कर रहा था। पाकिस्तान यात्रा के दौरान वहां की गुप्तचर एजेंसियों के सम्पर्क में आया और सूचनाएं देने लगा। भारत आने के बाद यह लगातार पाकिस्तानी हैंडलर के सम्पर्क में था और महत्वपूर्ण स्थलों की फोटो भेज रहा था।
- नितिन यादव सूरतगढ़ के पास छावनी क्षेत्र में फल व सब्जी की सप्लाई करता है। पूछताछ में नितिन ने पाकिस्तानी महिला एजेंट के हनीट्रेप में फंसकर सामरिक महत्व की सूचनाएं भेजने और रुपए लेना स्वीकार किया है।
- रामसिंह विकास ट्रेडर्स नाम की एक फैक्ट्री में काम करता है। वह निरंतर पाक खुफिया एजेंसी के सम्पर्क में था।
- पूछताछ में अंतराष्ट्रीय सीमा पर स्थित बॉर्डर आउट पोस्ट एवं सीमावर्ती क्षेत्र की सामरिक महत्व की जानकारी, फोटोग्राफ्स, वीडियो पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी से साझा किया जाना व रुपए लेना कबूल किया।

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों की ओर से भारतीय नागरिकों एवं सामरिक महत्व के महत्वपूर्ण संस्थानों में कार्यरत लोगों को स्थानीय एजेंट बनाकर उनसे सोशल मीडिया से सामरिक महत्व की सूचनाएं लेने का प्रयास  है। ऐसे लोगों पर कार्रवाई के लिए ऑपरेशन सरहद चलाया गया है, जिसमें तीन लोगों को पकड़ा गया। आगे की कार्रवाई जारी है।    
- उमेश मिश्रा, महानिदेशक पुलिस इंटेलिजेंस

Read More फांसी की सजा पर रोक लगे: मानवाधिकार समूह

Post Comment

Comment List

Latest News