बेमौसम बारिश से फ्लू के मरीजों का आया तूफान

फ्लू से निजात के लिए करना पड़ सकता है और इंतजार

बेमौसम बारिश से फ्लू के मरीजों का आया तूफान

बेमौसम बारिश पहले से बढ़ रहे फ्लू के मरीजों की संख्या को और बढ़ गई है। सामान्य दिनों में फ्लू के 300 से 400 मरीज प्रतिदिन अस्पताल में आ रहे थे, तापमान में आई गिरावट के कारण मरीजों की संख्या 500 के पार पहुंच गई है।

कोटा। शहर में पिछले तीन दिनों से हो रही बेमौसम बारिश मरीजों पर बीमारियों का कहर ढा रही है। पहले अस्पतालों में फ्लू, खांसी जुकाम और एच3 एन 2 के लक्षणों वाले मरीजों की भरमार चल रही उस पर बारिश और ओलावृष्टि से भीगे लोग अब फ्लू और बुखार की शिकायत लेकर बड़ी संख्या में अस्पताल पहुंच रहे है।  डॉक्टरों का कहना है कि  फ्लू के बढ़ रहे मरीजों के बीच अब बारिश ने आम लोगों की समस्याएं बढ़ा दी हैं। बारिश के कारण मौसम में होने वाले उतार चढ़ाव के चलते स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की नींद हराम हो गई है। बेमौसम बारिश पहले से बढ़ रहे फ्लू के मरीजों की संख्या को और बढ़ गई है। सामान्य दिनों में फ्लू के 300 से 400 मरीज प्रतिदिन अस्पताल में आ रहे थे, तापमान में आई गिरावट के कारण मरीजों की संख्या 500 के पार पहुंच गई है। अस्पताल में इससे निपटने की कोई तैयारी नहीं दिख रही है। अस्पतालों में मरीजों की लंबी कतारे नजर आ रही है। एमबीएस की ओपीडी 2400 पार चल रही है। 

अप्रैल तक मिलेगी फ्लू से निजात
पहले चिकित्सा एवं विभाग के अधिकारी मार्च के अंत तक फ्लू के मरीजों की संख्या में गिरावट की उम्मीद जता रहे थे, लेकिन अब एक बार फिर मौसम ने करवट ले ली है। इससे अब निजात के लिए अप्रैल तक का इंतजार करना पड़ सकता है। नागरिक अस्पताल के चिकित्सकों का कहना है कि जब तक मौसम में स्थायित्व नहीं आता तब तक फ्लू के मरीजों की गिनती घटने वाली नहीं है। इसलिए एहतियात के तौर पर लोगों को सुरक्षा उपायों के साथ साथ सर्द गर्म होने से भी स्वयं का बचाव करना चाहिए।

अस्पताल की ओपीडी में लगी लंबी कतारे
बेमौसम की बारिश से पिछले दो से तीन दिन में मौसमी बीमारियों के साथ अस्पताल में फ्लू में मरीजों की संख्या में 20 फीसदी इजाफा हुआ है। ओपीडी 2400 पार चल रही है। इसके अलावा शहरी क्षेत्र की सभी सीएचसी व पीएचसी पर मरीजों की लंबी कतारे लग रही है। संभाग के सबसे बड़े अस्पताल एमबीएस व जेकेलोन की ओपीडी इन दिनों हाउस फुल चल रही है। जेकेलोन की ओपीडी 1000 पार चल रही है। वहीं न्यू मेडिकल कॉलेज की 1200, रामपुरा की 800, कुन्हाडी सीएचसी की 600, विज्ञान नगर, सकतपुरा, दादाबाड़ी, टिपटा अस्पतालों में मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। एमबीएस की ओपीडी में मरीजों की लंबी कतारे लग रही है।

अगले 15 से 20 दिन रखे विशेष एहतियात
 जेकेलोन के उप अधीक्षक डॉ. गोपीकिशन शर्मा ने बताया कि मौसम में बार-बार हो रहे परिर्वतन आगामी 15 से 20 दिन लोगों को और खासतौर से बच्चों को विशेष एतियात बरतने की जरूरत है। सामान्य फ्लू के मरीजों के बीच एच3 एन2 वायरस मिलते लक्षण वाले मरीज भी आ रहे है। हालांकि उनकी जांच नहीं होने से पुख्ता तौर पर नहीं कह सकते है। आगामी दो चार दिनों में फ्लू के मरीजों में तेजी आने संभावना है।  अगले 15 से 20 दिन एहतियाती उपाय जरूरी है।

Read More  इंडिया हैबिटेट सेंटर में 'मैनिक्विन' एग्जिबिशन को देखने बड़ी संख्या में पहुंचे कला के कद्रदान

इनका कहना है
बारिश से फ्लू के मरीजों की संख्या में तेजी देखी जा सकती है, क्योंकि यह मौसम बारिश का नहीं है। इससे तापमान में गिरावट आई है। यह खांसी, जुकाम, बुखार के मरीजों की संख्या को बढ़ा रही है। इससे लोगों को खासकर पहले से किसी बीमारी से जूझ रहे मरीजों को सतर्क रहने की जरूरत है। सभी चिकित्सों को हाई अलर्ट कर दिया है। 
-डॉ. जगदीश कुमार सोनी, सीएमएचओ कोटा

Read More 5.25 लाख की आबादी भुगत रही जेडीए की हठधर्मिता का खामियाजा

Post Comment

Comment List

Latest News

प्रदेशभर में मनाया लैब टेक्नीशियन दिवस प्रदेशभर में मनाया लैब टेक्नीशियन दिवस
प्रदेश भर के सभी चिकित्सा संस्थानों में 15 अप्रैल को लैब टेक्नीशियन दिवस बड़े जोश उल्लास के साथ मनाया गया।...
5.25 लाख की आबादी भुगत रही जेडीए की हठधर्मिता का खामियाजा
भाजपा के संकल्प पत्र पर गहलोत का निशाना- मंहगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर बात नहीं करती भाजपा
आरपीआई पार्टी के अध्यक्ष और केन्द्रीय मंत्री रामदास अठावले बोले- पार्टी भाजपा के साथ
निर्वाचन आयोग ने की रिकार्ड 4650 करोड़ की जब्ती, 75 साल के इतिहास की सबसे बड़ी जब्ती
ट्यूबवेल सात माह से खराब, पेयजल का संकट
टोल बचाने की जुगत: सुकेत में भारी वाहनों का दबाव बढ़ा