गलतियों से सबक लेगी गुजरात, मुम्बई की नजर छठे खिताब पर

आईपीएल : दूसरा क्वालीफायर मुकाबला आज अहमदाबाद में

गलतियों से सबक लेगी गुजरात, मुम्बई की नजर छठे खिताब पर

एलिमिनेटर में लखनऊ सुपर जायंट्स को 81 रन से रौंदने के बाद आत्मविश्वास से लबरेज रोहित शर्मा की मुंबई इंडियन्स भी गुजरात को पछाड़कर रिकॉर्ड छठे खिताब की ओर कदम बढ़ाने के लिए तैयार होगी।

अहमदाबाद। हार्दिक पांड्या की गुजरात टाइटन्स जब शुक्रवार को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के दूसरे क्वालीफायर में मुंबई इंडियन्स का मुकाबला करने उतरेगी तो उसका लक्ष्य होगा कि वह पहले क्वालीफायर की गलतियों से सीखकर जीत दर्ज करते हुए फाइनल में जगह बनाए। दूसरी ओर एलिमिनेटर में लखनऊ सुपर जायंट्स को 81 रन से रौंदने के बाद आत्मविश्वास से लबरेज रोहित शर्मा की मुंबई इंडियन्स भी गुजरात को पछाड़कर रिकॉर्ड छठे खिताब की ओर कदम बढ़ाने के लिए तैयार होगी। गुजरात भले ही पहले क्वालीफायर में चेन्नई का चेपौक किला न भेद सकी हो, लेकिन नरेंद्र मोदी स्टेडियम पर उसे हराना आसान न होगा। पांड्या की पलटन इस मैदान पर आठ में से पांच मैच जीत चुकी है, जिसमें 25 अप्रैल को मुंबई पर दर्ज की गई विजय भी शामिल है। आमने-सामने के मुकाबलों में गुजरात मुंबई को दो बार हरा चुकी है, जबकि एक बार रोहित की टीम ने बाजी मारी है। 

शुभमन का रहा है शानदार रिकॉर्ड
इस मैदान पर गुजरात के सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल का रिकॉर्ड भी शानदार है। वह नरेंद्र मोदी स्टेडियम पर 10 पारियों में 55.66 की औसत से 501 रन बना चुके हैं, जिसमें एक शतक और दो अर्द्धशतक शामिल हैं। इसके अलावा गुजरात के अग्रणी तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी भी इस मैदान पर कुल 11 मैचों में 18 विकेट चटका चुके हैं और उनका सर्वश्रेष्ठ आईपीएल प्रदर्शन (दिल्ली कैपिटल्स, 11 रन, चार विकेट) भी घरेलू मैदान पर ही आया है। इन दोनों प्रतिभावान भारतीयों के अलावा भी गुजरात कई मैच-जिताऊ खिलाड़ियों से भरी हुई है जो मौका मिलने पर मुंबई का फाइनल में पहुंचने का सपना तोड़ सकते हैं। 

उम्मीदें ग्रीन और सूर्या पर
इसके बरक्स मुंबई भले ही इस सीजन एक अपेक्षाकृत नई टीम के साथ मैदान पर उतरी हो, लेकिन रोहित की कप्तानी ने उनके लिए चीजों को आसान बनाया है। जसप्रीत बुमराह की अनुपस्थिति में उत्तराखंड के आकाश मधवाल ने अपना जौहर दिखाया है, जबकि आॅस्ट्रेलियाई युवा कैमरून ग्रीन एक फिनिशर होने के साथ-साथ ऊपरी क्रम में भी शतक जड़ चुके हैं। सूर्यकुमार यादव अगर अपने पूरे रंग में नजर आएं तो अकेले ही गुजरात की गेंदबाजी पर भारी पड़ सकते हैं। गुजरात हालांकि मुंबई की छोटी-मोटी कमियों का फायदा उठाकर लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंचने के लिए आतुर होगी। नरेंद्र मोदी स्टेडियम पर हार्दिक टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करना चाहेंगे। इसका मुख्य कारण यह होगा कि लक्ष्य का पीछा करते हुए मुंबई इस मैदान पर कभी भी जीत नहीं सकी है।

मुंबई भी रोहित की कप्तानी और युवा प्रतिभाओं के दम पर फाइनल में पहुंचकर चिर-प्रतिद्वंदी चेन्नई सुपर किंग्स से भेंट करना चाहेगी। 

Read More कबाड़ बन रहा है एशिया का सबसे बड़ा तीरंदाजी एरिना, कई साल से नहीं है स्थाई कोच, धूल चाट रही हैं करोड़ों रुपए की लागत से जुटाई खेल सुविधाएं 

Post Comment

Comment List

Latest News

छत्तीसगढ़ कोल ब्लॉक पर दोनों सीएम के बयानों से विरोधाभास: गहलोत छत्तीसगढ़ कोल ब्लॉक पर दोनों सीएम के बयानों से विरोधाभास: गहलोत
इस मुद्दे पर गुमराह कर रहे हैं या दोनों मुख्यमंत्री मिलकर अपने-अपने राजनीतिक हितों के अनुरूप जनता को गुमराह कर...
RPF ने पिछले 7 वर्षों में 'ऑपरेशन नन्हे फरिश्ते' के तहत 84,119 बच्चों को बचाया
सुस्त निवेश से 10 वर्ष में घाटी आर्थिक विकास की रफ्तार : कांग्रेस
आतंकी हमलों की रोकथाम के लिए केंद्र करे गम्भीरता से प्रयास: गहलोत
बड़ी बड़ी बातें नहीं कर केन्द्र आतंकियों के खिलाफ करें सख्त कार्यवाही: डोटासरा
जयपुर संभाग में हुआ 9 लाख 92 हजार से ज्यादा वृक्षारोपण
औषधि के उच्च मानक तय करना जरूरी, विश्व स्तरीय विनियामक ढांचे की आवश्यकता है: नड्डा