नुकसान में चल रही है रोडवेज 

जबूरन संचालित किया जा रहा है

नुकसान में चल रही है रोडवेज 

इनमें से वर्तमान में केवल 11 हजार 974 ही कार्यरत है। वर्तमान में 10 हजार 437 पद रिक्त चल रहे है।

जयपुर। संचालन के बाद से ही लगातार नुकसान में चल रही राजस्थान रोडवेज के पास ना तो अधिकारी-कर्मचारी है और ना ही बसें है। ऐसे में जनता को कैसे सुविधा मिले। रोडवेज वर्तमान में करीब 6100 करोड़ रुपए के नुकसान में चल रही है। रोडवेज में 22 हजार 411 पद स्वीकृत है। इनमें से वर्तमान में केवल 11 हजार 974 ही कार्यरत है। वर्तमान में 10 हजार 437 पद रिक्त चल रहे है। रोडवेज प्रशासन ने 5200 पदों पर भर्ती करने के लिए सरकार से अनुमति मांगी थी, जो अभी तक नहीं मिली। वहीं रोडवेज में करीब 5 हजार बसें होनी चाहिए। इनमें से वर्तमान में रोडवेज के पास 2915 ही बसें है। इनमें से 1522 बसें अवधिपार हो चुकी है। इन्हें मजबूरन संचालित किया जा रहा है। 

प्रशासनिक अधिकारी व सुरक्षा प्रहरी एक भी नही
रोडवेज में प्रशासनिक अधिकारियों के 42 पद स्वीकृत है। इनमें से एक भी नहीं है। वहीं अतिरिक्त प्रशासनिक अधिकारी के 112 स्वीकृत पदों में से केवल 7 ही कार्यरत है। इसी प्रकार कार्यकारी निदेशक के 3, महाप्रबंधक के 2, संयुक्त महाप्रबंधक के 5, अधिशाषी अभियंता के 2, संभाग प्रबंधक के 12, भंडार नियंत्रक के 2, सहायक यांत्रिक अभियंता के 19, अतिरिक्त निजी सचिव के 15, आगार प्रबंधक के 4, कनिष्ठ अभियंता के 167, सहायक आगार प्रबंधक के 126, सहायक प्रशासनिक अधिकारी के 191, कनिष्ठ लेखाकार के 230, एटीआई के 253, उप भंडार निरीक्षक के 121, आर्टिजन ग्रेड प्रथम के 666, एलडीसी के 369, आर्टिजन ग्रेड द्वितीय के 922, आर्टिजन ग्रेड तृतीय के 1816, सुरक्षा प्रहरी के 300, परिचालक के 2839, चालक के 1302 पर खाली है। 

हर माह 400 करोड़ का नुकसान
राजस्थान रोडवेज हर माह करीब 400 करोड़ रुपए के नुकसान में संचालित हो रही है। रोडवेज वर्तमान में करीब 6100 करोड़ रुपए के नुकसान में चल रही है। वहीं सरकार से हर साल अनुदान नहीं मिले, तो कर्मचारियों को वेतन भी नहीं मिल पाए। 

राजस्थान रोडवेज में अधिकारी-कर्मचारियों की काफी कमी है। पदों की भर्ती का प्रस्ताव वित्त विभाग भेजा गया है। वहीं से अभी अनुमति नहीं मिली है। बसों की खरीद के लिए दोबारा टेंडर किए जाएंगे। इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई है। 
- बृजेन्द्र सिंह ओला, परिवहन मंत्री

Read More बदमाशों ने पुलिस की गाड़ी को मारी टक्कर, कांस्टेबल हुआ घायल

 

Read More अब कोटा के कोचिंग संस्थान नौंवी से पहले स्टूडेंट को प्रवेश नहीं दे सकेंगे: कलक्टर

Tags: loss

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News