मन की बात में पीएम मोदी ने कहा- बच्चों को किताब पढ़ने के लिए प्रेरित करें

मन की बात में पीएम मोदी ने कहा- बच्चों को किताब पढ़ने के लिए प्रेरित करें

प्रधानमंत्री ने हैदराबाद में एक लाइब्रेरी का भी उल्लेख किया। इसकी स्थापना सातवीं कक्षा में पढ़ने वाली आकर्षणा सतीश ने की है। इसके साथ लाइब्रेरी कैंसर अस्पतालों में बच्चों के लिए तैयार की गई है।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि पुस्तकें अच्छा मित्र होती हैं और बच्चों को इन्हें पढने के लिए प्रेरित करना चाहिए। मोदी ने रविवार को आकाशवाणी पर अपनी मासिक कार्यक्रम मन की बात कार्यक्रम की 105 वीं कड़ी में उत्तराखंड के  नैनीताल में शुरू हुई घोड़ा लाइब्रेरी का का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि आज का दौर डिजिटल तकनीक और ई- बुक्स का है, लेकिन फिर भी किताबें, हमारे जीवन में हमेशा एक अच्छे दोस्त की भूमिका निभाती है। इसलिए, हमें बच्चों को किताबें पढऩे के लिए प्रेरित करना चाहिए।

मोदी ने कहा कि हमारे देश में शिक्षा को हमेशा एक सेवा के रूप में देखा जाता है।  उत्तराखंड के कुछ ऐसे युवाओं के बारे में पता चला है, जो इसी भावना के साथ बच्चों की शिक्षा के लिए काम कर रहे हैं। नैनीताल जिले में कुछ युवाओं ने बच्चों के लिए अनोखी घोड़ा लाइब्रेरी की शुरुआत की है। इस लाइब्रेरी की सबसे बड़ी विशेषता यही है कि दुर्गम से दुर्गम इलाकों में भी इसके जरिए बच्चों तक पुस्तकें पहुँच रही हैं और इतना ही नहीं, ये सेवा, बिल्कुल निशुल्क है। अब तक इसके माध्यम से नैनीताल के 12 गाँवों को शामिल किया गया है। बच्चों की शिक्षा से जुड़े इस नेक काम में मदद करने के लिए स्थानीय लोग भी खूब आगे आ रहे हैं। इस घोड़ा लाइब्रेरी के जरिए यह प्रयास किया जा रहा है कि दूरदराज के गाँवों में रहने वाले बच्चों को स्कूल की किताबों के अलावा कविताएँ, कहानियाँ और नैतिक शिक्षा की किताबें भी पढऩे का पूरा मौका मिले। ये अनोखी लाइब्रेरी बच्चों को भी खूब भा रही है।

प्रधानमंत्री ने हैदराबाद में एक लाइब्रेरी का भी उल्लेख किया। इसकी स्थापना सातवीं कक्षा में पढ़ने वाली आकर्षणा सतीश ने की है। इसके साथ लाइब्रेरी कैंसर अस्पतालों में बच्चों के लिए तैयार की गई है। मोदी ने कहा कि यह प्रयास बहुत प्रेरित करने वाला है।

Post Comment

Comment List

Latest News

छत्तीसगढ़ कोल ब्लॉक पर दोनों सीएम के बयानों से विरोधाभास: गहलोत छत्तीसगढ़ कोल ब्लॉक पर दोनों सीएम के बयानों से विरोधाभास: गहलोत
इस मुद्दे पर गुमराह कर रहे हैं या दोनों मुख्यमंत्री मिलकर अपने-अपने राजनीतिक हितों के अनुरूप जनता को गुमराह कर...
RPF ने पिछले 7 वर्षों में 'ऑपरेशन नन्हे फरिश्ते' के तहत 84,119 बच्चों को बचाया
सुस्त निवेश से 10 वर्ष में घाटी आर्थिक विकास की रफ्तार : कांग्रेस
आतंकी हमलों की रोकथाम के लिए केंद्र करे गम्भीरता से प्रयास: गहलोत
बड़ी बड़ी बातें नहीं कर केन्द्र आतंकियों के खिलाफ करें सख्त कार्यवाही: डोटासरा
जयपुर संभाग में हुआ 9 लाख 92 हजार से ज्यादा वृक्षारोपण
औषधि के उच्च मानक तय करना जरूरी, विश्व स्तरीय विनियामक ढांचे की आवश्यकता है: नड्डा