राज्यसभा में बोले PM मोदी- खरगे जी ने NDA को 400 सीट का आशीर्वाद दिया है, मैं विपक्ष को 40 पार करने की चुनौती देता हूं

कांग्रेस ने अपनी ही मान्यताओं को गाली देने का नैरेटिव चलाया

राज्यसभा में बोले PM मोदी- खरगे जी ने NDA को 400 सीट का आशीर्वाद दिया है, मैं विपक्ष को 40 पार करने की चुनौती देता हूं

पीएम ने कहा कि कांग्रेस ने एक नैरेटिव चलाया। अपनी ही मान्यताओं को गाली दी गई। विदेश से आए हुए सामान को स्टेटस बताया जाता था। आज कोई मेक इन इंडिया बोलता है तो इनके पेट में चूहे कूदते है।

नई दिल्ली। पीएम मोदी ने बुधवार को राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर सदन को संबोधित किया। इस दौरान सबसे पहले उन्होंने राष्ट्रपति का देश को दिए दिशा-निर्देश के लिए आभार जताया। इसके बाद कांग्रेस पर करार प्रहार शुरु किया। पीएम ने कहा कि कुछ लोगों के लिए आलोचना करना और कड़वी बातें करना मजबूरी थी। मैं उनके प्रति संवेदना प्रकट करता हूं। उन्होंने कहा कि लोकसभा में मनोरंजन की कमी हो रही है। लेकिन लोकसभा के मनोरंजन की कमी को खरगे जी ने राज्यसभा में पूरा कर दिया है। मुझे खुशी है कि खरगे जी काफी लंबा बोले। मैं सोच रहा था कि इतना लंबा बोलने की आजादी उन्हें कैसे मिली। ऐसा इसलिए क्योंकि दो स्पेशल कंमाडर बाहर थे। इसका फायदा खरगे जी ने उठाया। मुझे लगता है उन्होंने वह गाना सुना होगा- ऐसा मौका कब आएगा। कंमाडर के नहीं होने से खरगे जी को बोलने में मजा आ रहा होगा। उन्होंने एनडीए को 400 पार का आशीर्वाद दिया है।

कांग्रेस को अपने ही नेता की गारंटी नहीं और मोदी की गांरटी पर सवाल उठा रहे है
पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने देश को जात-पात में तोड़ने की कोशिश की। अखबारों पर ताले लगवाए। कांग्रेस पार्टी हमें लोकतंत्र पर प्रवचन दे रही है। इनकी अपने ही नेता की गारंटी नहीं है और मोदी की गांरटी पर सवाल उठा रहे है। ये पार्टी आजादी के बाद से कंफ्यूज रही है। कांग्रेस ने बाबा साहेब को भारत रत्न नहीं दिया। इनके कर्मो का फल इनके सामने है। कांग्रेस के पास न नेता है और न ही नीति।

हम देश को संकट से बाहर लाए, देश ऐसे ही हमें आशीर्वाद नहीं दे रहा
पीएम ने कहा कि 10 साल पहले देश सड़कों पर था। उनके कार्यकाल में संस्थाओं का दुरुपयोग होता था। कांग्रेस के कार्यकाल से देश नाराज था। इन्हें बीमारी का पता था फिर भी सुधार नहीं किया। हम देश को संकट से बाहर लेकर आए हैं। ये देश ऐसे ही हमें आशीर्वाद नहीं दे रहा है। आजादी के बाद भी देश में कांग्रेस ने गुलामी की मानसिकता को बढ़ावा दिया। अगर कांग्रेस अंग्रेजों से प्रभावित नहीं थी तो दंड संहिता को क्यों नहीं बदला। उस जमाने के सैकड़ों कानून क्यों नहीं बदला। भारत का बजट शाम को 5 बजे आता था क्योंकि ब्रिटिश संसद उसी समय शुरु होती थी। कांग्रेस ने इस परंपरा को क्यों चलाए रखा। अगर कांग्रेस अंग्रेजों से प्रेरित नहीं थी तो राज पथ को कर्तव्य करने के लिए मोदी का इंतजार क्यों करना पड़ा। भारतीय भाषाओं को हीन भावना से देखा। अगर आप अंग्रेजो से प्रभावित नहीं थे तो भारत को मदर ऑफ डेमोक्रेसी बताने से कौन रोक रहा था।

मेक इन इंडिया से कांग्रेस के पेट में चूहे कूदते है
मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने एक नैरेटिव चलाया। अपनी ही मान्यताओं को गाली दी गई। विदेश से आए हुए सामान को स्टेटस बताया जाता था। आज कोई मेक इन इंडिया बोलता है तो इनके पेट में चूहे कूदते है। ये वोकल फॉर लोकल बोलने से बच रहे हैं। 

कांग्रेस ने बाबा साहब के विचारों को खत्म करने में कसर नहीं छोड़ी
पीएम ने कहा कि कांग्रेस पिछड़ों की सबसे बड़ी विरोधी है। बाबा साहब न होते तो आरक्षण नहीं मिलता। कांग्रेस दलितों और आदिवासियों की विरोधी है। नेहरु जी जो कहते थे वो कांग्रेस के लिए पत्थर की लकीर होती है। मैं एक उदाहरण देना चाहता हूं। कांग्रेस ने जम्मू कश्मीर में एससी, एसटी और ओबीसी को उनके अधिकारों से दशकों तक वंचित रखा। हमने अनुच्छेद 370 को निरस्त किया तब जाकर इतने दशकों बाद एससी, एसटी और ओबीसी को उनके अधिकार मिले। एससी समुदाय में वाल्मीकी समाज सबसे पीछे रहा लेकिन उन्हें सात-सात दशक बाद भी अधिकार नहीं दिए गए। कांग्रेस ने बाबा साहब के विचारों को खत्म करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। बीजेपी की सरकार जब बनी तब उन्हें भारत रत्न दिया गया। सीताराम केसरी पिछड़ी जाति से थे। उनके साथ क्या हुआ पूरा देश जानता है। कांग्रेस के एक मार्गदर्शक अमेरिका में बैठे है। वह कांग्रेस के परिवार के काफी करीबी है। उन्होंने बाबा साहब के योगदान को छोटा करने का प्रयास किया है। NDA ने एक आदिवासी बेटी को राष्ट्रपति बनाया। विपक्ष ने बीजेपी से गए आदमी को उम्मीदवार बनाया था।

Post Comment

Comment List

Latest News

छत्तीसगढ़ कोल ब्लॉक पर दोनों सीएम के बयानों से विरोधाभास: गहलोत छत्तीसगढ़ कोल ब्लॉक पर दोनों सीएम के बयानों से विरोधाभास: गहलोत
इस मुद्दे पर गुमराह कर रहे हैं या दोनों मुख्यमंत्री मिलकर अपने-अपने राजनीतिक हितों के अनुरूप जनता को गुमराह कर...
RPF ने पिछले 7 वर्षों में 'ऑपरेशन नन्हे फरिश्ते' के तहत 84,119 बच्चों को बचाया
सुस्त निवेश से 10 वर्ष में घाटी आर्थिक विकास की रफ्तार : कांग्रेस
आतंकी हमलों की रोकथाम के लिए केंद्र करे गम्भीरता से प्रयास: गहलोत
बड़ी बड़ी बातें नहीं कर केन्द्र आतंकियों के खिलाफ करें सख्त कार्यवाही: डोटासरा
जयपुर संभाग में हुआ 9 लाख 92 हजार से ज्यादा वृक्षारोपण
औषधि के उच्च मानक तय करना जरूरी, विश्व स्तरीय विनियामक ढांचे की आवश्यकता है: नड्डा