water
राजस्थान कोटा

शहर में हुई तेज बरसात से सड़कों पर भरा पानी

शहर में हुई तेज बरसात से सड़कों पर भरा पानी शुक्रवार को फिर से शहर में तेज बरसात हुई जिससे सड़कों पर पानी भर गया और नदी नाले उफान पर आ गए। 1 घंटे की जोरदार बरसात में शहर की अधिकतर सड़कों पर पानी ही पानी हो गया । सड़कों पर भरे पानी ने नगर निगम द्वारा बरसात से पहले की गई नालों की सफाई की पोल भी खोल दी ।
Read More...
राजस्थान शिक्षा जगत बूंदी

स्कूल की छत से टपकता है पानी, कैसे होगी पढ़ाई?

स्कूल की छत से टपकता है पानी, कैसे होगी पढ़ाई? क्षेत्र के आजन्दा राजकीय उच्च प्राथमिक स्कूल के बच्चों को टपकती छत के नीचे बैठ पढ़ाई करने को मजबूर है। बरसात के कारण स्कूल परिसर में पानी भर गया है। यहीं नहीं स्कूल के कार्यालय, बरामदे व कक्षा कक्ष में भी पानी भर गया।
Read More...
राजस्थान कोटा

बारिश से मेघवाल भील बस्ती में भरा पानी

बारिश से मेघवाल भील बस्ती में भरा पानी लगातार बारिश से पीपल्दा गांव की मेघवाल भील बस्ती के घरों में भर गया। ग्रामीणों के खाने पीने के सामान भीग गए जिससे कई घरों में चूल्हा तक नहीं जल पाया। बरसाती पानी के कारण घरों में बैठने तक की जगह नहीं है।
Read More...
राजस्थान दौसा

न्यू कालोनी का रास्ता पानी से लबालब

न्यू कालोनी का रास्ता पानी से लबालब विधायक गजराज खटाना के विधायक कोटे से 96 हजार की लागत से बनाया गया पुल खराब होने से रास्त में पानी भरा हुआ है।
Read More...
राजस्थान कोटा

निचली बस्तियों और मुख्य मार्गों पर पानी ही पानी

निचली बस्तियों और मुख्य मार्गों पर पानी ही पानी बरसात के चलते निचली बस्तियों और मुख्य मार्गों पर पानी ही पानी हो गया। कई इलाकों में पानी इतना अधिक बढ़ गया कि किचन तक पानी घुस गया जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा । नगर निगम के गोताखोरों की टीम रेस्क्यू के लिए पहुंची समझाइश कर लोगों को बाहर निकालने का प्रयास किया मगर लोग घरों से बाहर निकलने को तैयार ही नहीं हुए ।
Read More...
राजस्थान कोटा

अब ट्रीटमेंट के बाद ही चंबल में गिरेगा गंदे नालों का पानी

अब ट्रीटमेंट के बाद ही चंबल में गिरेगा गंदे नालों का पानी शहर में एक ओर जहां अभी भी कई गंदे नाले चम्बल नदी में गिर रहे हैं। वहीं रिवर फ्रंट के क्षेत्र में आने वाले गंदे नाले अब नदी में नहीं गिर सकेंगे। इसके लिए नगर विकास न्यास ने सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाया है। नदी पार बालिता में यह प्लांट करीब 9 माह में बनकर तैयार हो गया है।
Read More...
राजस्थान कोटा

कोटा दक्षिण वार्ड 65 : सीवरेज लीकेज की समस्या, घरों में सप्लाई हो रहा गंदा पानी

 कोटा दक्षिण वार्ड 65 : सीवरेज लीकेज की समस्या, घरों में सप्लाई हो रहा गंदा पानी शहर के कोटा दक्षिण वार्ड 65 में जगह-जगह से सीवरेज की पाइपलाइन लीकेज होने से गंदा पानी सड़को पर बिखरा हुआ हैं। जिसकी वजह से यहां से गुजरने वाले लोगों को भारी समस्या का सामना करना पड़ता हैं।
Read More...
स्वास्थ्य

खाना खाने के तुरंत बाद कभी न करें ये काम

खाना खाने के तुरंत बाद कभी न करें ये काम अगर आप ठंडे पानी का इस्तेमाल करते हैं, तो आपकी ब्लड वेसल्स फैल जाती हैं।
Read More...
राजस्थान स्वास्थ्य बारां

जिला अस्पताल में मोटर खराब, पानी के लिए मचा हाहाकार

जिला अस्पताल में मोटर खराब, पानी के लिए मचा हाहाकार जिला अस्पताल बारां में पानी की मोटर खराब हो गई और 52 घंटे तक पानी की सप्लाई न मिलने से हाहाकार मच गया। तीमारदार ही नहीं मरीज और स्टाफ भी परेशान हो गए। भीषण गर्मी में खरीदकर पानी लाना पड़ रहा है।
Read More...
राजस्थान टोंक

टोरड़ी सागर बांध में आया आठ फीट पानी

टोरड़ी सागर बांध में आया आठ फीट पानी क्षेत्र का हर किसान टकटकी लगाकर इसमें पर्याप्त मात्रा में पानी आने की प्रार्थना करता रहता है। जल संसाधन विभाग के अधीन टोरड़ी सागर बांध काफी प्राचीन बांध है। लेकिन इसकी इंजीनियरिंग का लोहा आज भी माना जाता है। इस बांध से तीन नहरें निकली हुई हैं। इस बांध की कुल भराव क्षमता 32 फुट है,लेकिन क्षेत्र के किसान इसमें 25 फुट पानी आने के बाद इसमें आधा पानी आना मानते हैं।
Read More...
राजस्थान कोटा

कोटा दक्षिण वार्ड 69 - जगह-जगह से सीवरेज की पाइप लीकेज, गलियों में भरा पानी

कोटा दक्षिण वार्ड 69 - जगह-जगह से सीवरेज की पाइप लीकेज, गलियों में भरा पानी शहर के कोटा दक्षिण वार्ड 69 महावीर नगर में सीवरेज पाइपलाइन लीकेज की भयंकर समस्या है। वार्ड में जगह-जगह से सीवरेज की पाइपलाइन लीकेज हो रही है, जिसकी वजह से गलियों में गंदा पानी बह रहा है।
Read More...
राजस्थान जयपुर Top-News

13 करोड़ खर्च के बाद 72 की जगह मिलेगा पानी

13 करोड़ खर्च के बाद 72 की जगह मिलेगा पानी विभिन्न उपखंडों में करीब 34 करोड़ के पेयजल संबंधी कार्य होंगे। इसके अलावा गंगानगर जिले के अनूपगढ़ कस्बे में शहरी जल प्रदाय योजना के तहत उच्च जलाशय, डिग्गी, रेपिड ग्रेविटी फिल्टर, पाइपलाइन सहित अन्य पेयजल संवर्धन कार्यों के लिए 4.98 करोड़ मंजूर किए गए है।
Read More...

Advertisement

Advertisement