मंत्री के जेल जाने के डर से नहीं कराई रीट की सीबीआई जांच-विधूड़ी

बेगूं विधायक ने फिर साधा सरकार पर निशाना

 मंत्री के जेल जाने के डर से नहीं कराई रीट की सीबीआई जांच-विधूड़ी

अपने बयान एवं अन्य कारण को लेकर आए दिन चर्चा में रहने वाले बेगूं विधायक राजेन्द्र सिंह विधूड़ी ने एक बार फिर अपनी ही सरकार पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि रीट की जांच सीबीआई से इसलिए नहीं करवाई जा रही है, क्योंकि जांच करवाए जाने से कोई मंत्री जेल नहीं चला जाए।

चित्तौड़गढ़। अपने बयान एवं  अन्य कारण को लेकर आए दिन चर्चा में रहने वाले बेगूं विधायक राजेन्द्र सिंह विधूड़ी  ने एक बार फिर अपनी ही सरकार  पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि रीट की जांच सीबीआई से इसलिए नहीं करवाई जा रही है, क्योंकि जांच करवाए जाने से कोई मंत्री जेल नहीं चला जाए।


बेगूं विधायक विधूड़ी  ने पारसोली में चार करोड़ से अधिक की लागत से नव निर्मित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन का लोकार्पण करने के दौरान उपस्थित जन समुदाय को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओ की न तो थानेदार सुन रहा है, और न ही जिला कलक्टर। यदि कार्यकर्ताओं की नहीं सुनेंगे, तो फिर वह मंच पर क्यों बैठेंगे। उन्होंने कहा कि एमएलए को कार्यकर्ता ही जीताता है। वोट डलवाने का काम भी कार्यकर्ता करता है। इसलिए कार्यकतार्ओं को मजबूत किया जाना चाहिए। यदि उन्हें मजबूत नहीं किया तो कोई भी एमएलए चुनाव नहीं जीत पाएगा, और  हम जीतेगे तभी गहलोत मुख्यमंत्री बन पाएंगे।


सीबीआई से होनी चाहिए जांच
विधूड़ी  ने गत दिनों पारसोली पुलिस थाना से हुए डोडाचूरा चोरी हो जाने का उल्लेख करते हुए कहा कि जब  पुलिस थाना से डोडाचूरा चोरी हो सकता है तो हॉस्पिटल किस तरह सुरक्षित रह सकता है। उन्होंने कहा कि इस मामले की सीबीआई से जांच करवाई जानी चाहिए। मुख्यमंत्री को सभी को निलंबित किया जाना चाहिए।  उल्लेखनीय है कि इस प्रकरण में पारसोली पुलिस थाना के तत्कालीन थानाधिकारी को निलंबित किए जाने के बाद विधूड़ी लगातार अन्य जनों के खिलाफ भी कार्रवाई करने की मांग करते रहे है। इस पर जिला पुलिस अधीक्षक भी यह कह चुकी है कि जांच अभी पूरी नहीं हुई है।

Read More मेयर सौम्या ने सीएम से मिलने के बाद डीएलबी को दिया नोटिस का जवाब


कही कोई मंत्री नहीं चला जाए जेल
उन्होंने कहा कि यदि रीट की जांच सीबीआई को नहीं दी जा सकती है, तो यहां की तो दी जा सकती है। रीट की जांच  सीबीआई से करवाने  के लिए वह मुख्यमंत्री को पत्र भी लिख चुके है,लेकिन मुख्यमंत्री को शायद इस कारण डर लग रहा है कि कहीं कोई मंत्री जेल नहीं चला जाए। बेगूं विधायक ने कहा कि बेगूं क्षेत्र में आए दिन रात्रि के समय काली गाड़ियां घुमती रहती है, जिसके बारे में कई लोगो को पता है। डोडाचूरा से भरी गाड़ियों को छोड़ने की एवज में दलाल के माध्यम से पैसे लिए जाते है।


बिना नाम लिए साधा निशाना
उन्होंने चित्तौड़गढ़ के पूर्व विधायक सुरेन्द्र सिंह जाड़ावत का नाम लिए बिना उन पर भी निशाना साधते हुए कहा कि चित्तौड़गढ़ का एक नेता दो बार हार चुनाव हार गए, लेकिन उन्हें राज्य मंत्री का दर्जा दिया जा रहा है। जीतने वालो को नीचे गिरा रहे हो। मुख्यमंत्री की ओर संकेत करते हुए कहा कि कांगे्रस के हम जीतेंगे तभी तो आप मुख्यमंत्री बनेंगे।

उल्लेखनीय है कि गत दिनों मंत्री मंडल विस्तार में विधूड़ी भी मंत्री की दौड़ में शामिल थे, और उन्हें लग रहा था  कि कम से कम उन्हें संसदीय सचिव का दर्जा दे दिया जाएगा, लेकिन ऐसा हो नहीं सका। बेगूं विधायक द्वारा गत दिनों एक थानाधिकारी के साथ की गई गाली गलौच का आॅडियो भी वायरल  हो गया था। इस पर थानाधिकारी द्वारा न्यायालय के दरवाजे खटखटाए गए थे, वहीं  विधूड़ी  इससे पहले भी अपने बड़बोलेपन के कारण चर्चा में रह चुके है। मंत्री का दर्जा नहीं मिलने से वह अपनी सरकार से नाराज बताए जाते है। 

Read More पायलट ने गद्दारी की, सीएम कैसे बन सकता है : गहलोत

 

 

Post Comment

Comment List

Latest News

भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस
उन्होंने कहा कि यात्रा को पहले दक्षिण के पांच राज्यों में भारी समर्थन मिला था और जब यात्रा  महाराष्ट्र पहुंची...
झुंझुनूं में विकास की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी : बृजेंद्र ओला
भारतीय संविधान विश्वभर के लोकतंत्रों की सर्वश्रेष्ठ व्याख्या: राज्यपाल मिश्र
खाद की कमीः क्षेत्र में खाद भी राशन की तरह बांटना पड़ा
वसुंधरा राजे हमारी नेता थी, हैं और हमारी नेता रहेगी : कालीचरण सर्राफ
सेना के जवान का बीमारी के चलते निधन राजकीय सम्मान से किया अंतिम संस्कार
भाजपा के टेपन 978 वोट से हुए विजयी