रूस ने आक्रामक व्यवहार दिखाया, उसे अब उसके परिणाम भी झेलने चाहिए: जेलेंस्की

कहा- यूक्रेनी लोगों के जीवन की रक्षा की जानी चाहिए

रूस ने आक्रामक व्यवहार दिखाया, उसे अब उसके परिणाम भी झेलने चाहिए: जेलेंस्की

यूरोपीय यूनियन के विदेश नीति प्रमुख ने कहा है कि ईयू के देश रूस पर नये प्रतिबंध लगाने को सहमत हैं।

यूक्रेनी राष्ट्रपति ने कहा कि रूस के खिलाफ विशेष न्यायाधिकरण के गठन से दूसरे देश की भूमि हथियाने और हजारों निर्दोष लोगों की हत्या करने वाले रूस पर लगाम कसने में मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि हाल ही में रूस के कब्जे से छुडाए गए पूर्वोत्तर शहर इज़ुम में 445 नयी कब्रें मिली हैं। उन्होंने अपने भाषण और शांति के लिए पांच जरूरी शर्तों को बताते हुए कम से कम 15 बार सजा शब्द का इस्तेमाल किया। उन्होंने कहा कि रूस ने जो आक्रामक व्यवहार दिखाया है उसे अब उसके परिणाम भी झेलने चाहिए।

जेलेंस्की ने रूस के खिलाफ कड़े प्रतिबंध लगाने और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य के रूप में एक शक्तिशाली भूमिका से अलग करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि यूक्रेनी लोगों के जीवन की रक्षा की जानी चाहिए और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्वीकार्य देश की सीमाओं का सम्मान भी किया जाना चाहिए। जेलेंस्की ने राजधानी कीव के लिए एक नई सुरक्षा गारंटी की मांग की और रूस के सैन्य आक्रमण के खिलाफ विश्व से एकजुट होने की अपील की है।

इस बीच यूरोपीय यूनियन के विदेश नीति प्रमुख ने कहा है कि ईयू के देश रूस पर नये प्रतिबंध लगाने को सहमत हैं। जेलेंस्की ने सहयोग के लिए संयुक्त राष्ट्र में 101 देशों का धन्यवाद भी दिया।

Read More अमेरिका में इयान तूफान से टूटी बिजली की लाइनें 

Post Comment

Comment List

Latest News

विकास के लिए धन की कोई कमी नहीं, आप मांगते-मांगते थक जाएंगे पर मैं देते-देते नहीं थकूंगा: गहलोत विकास के लिए धन की कोई कमी नहीं, आप मांगते-मांगते थक जाएंगे पर मैं देते-देते नहीं थकूंगा: गहलोत
गहलोत ने रायपुर में कैलाश त्रिवेदी के नाम से स्टेडियम बनाने की घोषणा करते हुए कहा कि जो भी मांगे...
दिल्ली के कपड़ा मार्केट में लगी भीषण आग, 1 व्यक्ति की मौत
सोनिया की मौजूदगी से भारत जोड़ो यात्रा को मिलेगी मजबूती : राहुल-प्रियंका
फकीर आदमी हूं, मेरे यहां धेला नहीं मिलेगा और चुनाव में अखिलेश-जयंत की मदद करूंगा: सत्यपाल मलिक
बॉन्ड नीति के विरोध में रेजिडेंट डॉक्टर्स का अस्पतालों में पूर्णतया कार्य बहिष्कार
पूर्व पुलिसकर्मी ने चाइल्ड केयर सेंटर में की फायरिंग, 23 बच्चों समेत 34 लोगों की मौत
भारत में निर्मित कफ सिरप पीने से गाम्बिया में 66 बच्चों की मौत, डब्ल्यूएचओ ने दी चेतावनी