बीजेपी ने दिया 6 मंत्री-विधायकों के खिलाफ विशेषाधिकार हनन नोटिस, अब स्पीकर करेंगे निर्णय

विशेषाधिकार हनन के मुद्दे पर कांग्रेस और बीजेपी के बीच वार-पलटवार 

बीजेपी ने दिया 6 मंत्री-विधायकों के खिलाफ विशेषाधिकार हनन नोटिस, अब स्पीकर करेंगे निर्णय

नोटिस में 25 सितंबर को स्पीकर के सामने पेश होकर बाकी विधायकों के इस्तीफे सौंपने वाले छह मंत्री-विधायकों पर विशेषाधिकार हनन का आरोप लगाया है।

जयपुर। 81 विधायकों के इस्तीफे मामले में हाईकोर्ट के बाद अब विधानसभा में विशेषाधिकार हनन के मुद्दे पर कांग्रेस और बीजेपी के बीच वार-पलटवार शुरू हो गया है। सीएम सलाहकार एवं निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा की ओर से उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का विधानसभा में प्रस्ताव रखने के बाद अब बीजेपी ने बुधवार को  इस्तीफों के लिए दबाव बनाने का आधार बनाकर कांग्रेस सरकार के मंत्रियों और विधायकों के खिलाफ विधानसभा सचिव को विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया है। नोटिस में 25 सितंबर को स्पीकर के सामने पेश होकर बाकी विधायकों के इस्तीफे सौंपने वाले छह मंत्री-विधायकों पर विशेषाधिकार हनन का आरोप लगाया है।

उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने सीएम के सलाहकार और निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव विधानसभा सचिव को सौंपा है। संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल के खिलाफ बीजेपी विधायक अशोक लाहोटी ने और मंत्री महेश जोशी के खिलाफ रामलाल शर्मा ने विशेषाधिकार हनन को नोटिस दिया है। बीजेपी विधायक वासुदेव देवनानी ने मंत्री रामलाल जाट, अनिता भदेल ने सरकारी उपमुख्य सचेतक महेन्द्र चौधरी और जोगेश्वर गर्ग ने कांग्रेस विधायक रफीक खान के खिलाफ विशेषाधिकार हनन को नोटिस दिया है। सचिव को नोटिस सौंपने  के बाद उपनेता प्रतिपक्ष राठौड़ ने सदन में यह मामला उठाने की स्पीकर से अनुमति मांगी, लेकिन स्पीकर ने कहां की सचिव के माध्यम से विधानसभा को नोटिस मिल गए हैं। अब इन पर जल्द ही विधानसभा अपना निर्णय लेगी।

Post Comment

Comment List

Latest News