टोक्यो ओलंपिक: डिस्कस थ्रो के फाइनल में पहुंची कमलप्रीत कौर, तीरंदाजी और बॉक्सिंग में मिली निराशा

टोक्यो ओलंपिक: डिस्कस थ्रो के फाइनल में पहुंची कमलप्रीत कौर, तीरंदाजी और बॉक्सिंग में मिली निराशा

टोक्यो ओलंपिक के 9वें दिन भारतीय महिलाओं ने शानदार प्रदर्शन किया है। भारत की कमलप्रीत कौर ने डिस्कस थ्रो कैटेगरी में 64 मीटर का थ्रो करते हुए फाइनल के लिए क्वालिफाई किया। क्वालिफिकेशन राउंड में कमलप्रीत समेत सिर्फ 2 महिला एथलीट ही 64 मीटर का आंकड़ा छूने में सफल रहीं। फाइनल 2 अगस्त को होगा।

टोक्यो। टोक्यो ओलंपिक के 9वें दिन भारतीय महिलाओं ने शानदार प्रदर्शन किया है। भारत की कमलप्रीत कौर ने डिस्कस थ्रो कैटेगरी में 64 मीटर का थ्रो करते हुए फाइनल के लिए क्वालिफाई किया। क्वालिफिकेशन राउंड में कमलप्रीत समेत सिर्फ 2 महिला एथलीट ही 64 मीटर का आंकड़ा छूने में सफल रहीं। फाइनल 2 अगस्त को होगा। कमलप्रीत के पास मेडल जीतने का बेहतरीन मौका होगा। उधर भारतीय महिला हॉकी टीम ने पूल स्टेज के अपने आखिरी मुकाबले में साउथ अफ्रीका को 4-3 से हराकर क्वार्टर फाइनल की उम्मीद बरकरार रखी है। हालांकि तीरंदाजी और बॉक्सिंग में भारत को निराशा मिली है। तीरंदाज अतनु दास और बॉक्सर अमित पंघल प्री-क्वार्टर फाइनल का मैच हारकर बाहर हो गए हैं। अब बॉक्सर पूजा रानी से उम्मीदें हैं, वह क्वार्टर फाइनल मुकाबला जीतते ही पदक पक्का कर लेंगी।

डिस्कस थ्रो के फाइनल में पहुंची कमलप्रीत कौर
डिस्कस थ्रो में भारत की कमलप्रीत कौर ने गजब का प्रदर्शन कर फाइनल में जगह बना ली है। अपने ओलंपिक पदार्पण में 25 वर्षीय कमलप्रीत ने तीसरे प्रयास में 64 मीटर के प्रत्यक्ष योग्यता चिह्न को पार करते हुए पदक राउंड में जगह पक्की की। 31 एथलीटों में कमलप्रीत और अमेरिका की वैलेरी ऑलमैन ही ऐसी दो एथलीट रहीं, जो क्वालीफाइंग राउंड में 64 मीटर के चिह्न को पार करने में सफल रहीं। वैलेरी जहां क्वालीफाइंग राउंड में 66.42 मीटर के थ्रो के साथ शीर्ष पर रहीं, वहीं कमलप्रीत 64 मीटर के प्रयास के साथ दूसरे स्थान पर रहीं। क्रोएशिया की सैंड्रा पेर्कोविक ने 63.75 मीटर के थ्रो के साथ तीसरा स्थान हासिल किया। हालांकि भारत की अनुभवी डिस्कस थ्रोअर सीमा पूनिया क्वालीफाइंग चरणों में 16वें स्थान पर रहने के बाद पदक राउंड में जगह बनाने में विफल रहीं। 4 बार की ओलंपियन सीमा का सर्वश्रेष्ठ थ्रो 60.57 मीटर मापा गया।

बॉक्सर अमित पंघल प्री-क्वार्टर फाइनल में हारे
भारत के पुरुष मुक्केबाजों ने टोक्यो ओलंपिक में निराश किया है। अमित पंघल 52 किग्रा (फ्लाईवेट) वर्ग में राउंड 16 में कोलंबिया के युबरजेन मार्टिनेज से हारने के बाद ओलंपिक से बाहर हो गए। विश्व नंबर एक पंघल रियो के रजत पदक विजेता मार्टिनेज से रयोगोकू कोकुगिकन क्षेत्र में तीन रोमांच से भरे राउंड में 4-1 के बंटे हुए निर्णय से हार गए। अमित की हार के साथ ही टोक्यो ओलंपिक में 5 भारतीय पुरुष मुक्केबाजों में से चार अब अपने-अपने शुरुआती दौर से बाहर हो गए हैं। अब सुपर हैवीवेट डिवीजन में भारत के लिए सिर्फ सतीश कुमार ही स्पर्धा में हैं।

तीरंदाजी में अतनु दास को हार का सामना करना पड़ा
भारतीय तीरंदाज अतानु दास की पुरुष व्यक्तिगत स्पर्धा में हार के साथ भारत की तीरंदाजी में कोई पदक जीतने की उम्मीदें भी समाप्त हो गईं। अतानु राउंड 16 में लंदन 2012 ओलंपिक के रजत विजेता जापान के ताकाहरु फुरूकावा से कड़े संघर्ष में 4-6 से हार गए।। प्रणव जाधव और तरुणदीप राय इससे पहले व्यक्तिगत स्पर्धा के राउंड 32 में हार गए थे। इन तीनों की पुरुष टीम क्वार्टरफाइनल में दक्षिण कोरिया से हार गई थी। प्रवीण और दीपिका कुमारी की मिश्रित युगल टीम सेमीफाइनल से पहले हार गई थी। अतानु की पत्नी दीपिका का व्यक्तिगत स्पर्धा में अभियान क्वार्टरफाइनल में हार के साथ समाप्त हो गया था। 

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News