जम्मू-कश्मीर: अब बिटकॉइन से की जा रही है आतंकियों को फंडिंग

सात स्थानों पर की छापेमारी

जम्मू-कश्मीर:  अब बिटकॉइन से की जा रही है आतंकियों को फंडिंग

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि जम्मू-कश्मीर के कई स्थानों पर तलाशी ली गई और संदिग्धों के मेंढर, पुंछ, बारामूला, कुपवाड़ा और हंदवाड़ा घरों पर तलाशी ली गई। यह कार्रवाई श्रीनगर के काउंटर इंटेलीजेंस पुलिस स्टेशन में दर्ज एक मामले की जांच के संबंध में की गई।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर पुलिस की राज्य जांच एजेंसी (एसआईए) ने बुधवार को केन्द्र शासित प्रदेश में आतंकवाद के लिए बिटकॉइन  के माध्यम से पैसा उपलब्ध कराने के संबंध में सात स्थानों पर छापेमारी की।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि जम्मू-कश्मीर के कई स्थानों पर तलाशी ली गई और संदिग्धों के मेंढर, पुंछ, बारामूला, कुपवाड़ा और हंदवाड़ा घरों पर तलाशी ली गई। यह कार्रवाई श्रीनगर के काउंटर इंटेलीजेंस पुलिस स्टेशन में दर्ज एक मामले की जांच के संबंध में की गई।

मामला बिटकॉइन व्यापार के जरिए आतंकवादियों को फंडिंग से जुड़ा है। पुलिस ने कहा कि इसमें पाकिस्तानी मास्टरमाइंड की पहचान की गई है।

Read More नीतीश के फूलपुर से लोकसभा चुनाव लड़ने की अटकलें, मौर्य बोले- जमानत जब्त होगी

प्रवक्ता ने कहा कि शुरूआती चरण में जिन विवरणों की जांच की जा रही है, उनमें पाकिस्तान का एक मास्टरमाइंड शामिल है जो पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों के सक्रिय समर्थन के साथ जम्मू-कश्मीर में बड़े पैमाने पर हिंसा और आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ावा दे रहा है। उसके बारे में जानकारी को गोपनीय रखा जा रहा है।

प्रवक्ता के अनुसार जिन घरों की तलाशी ली गई उनसे मिले सबूतों से यह पता चला है कि पाकिस्तान से आने वाला पैसा इन लोगों तक पहुंच गया है।

उन्होंने कहा कि कई खातों का इस्तेमाल इस पैसे को जमा करने के लिए किया गया है जो जम्मू-कश्मीर के बाहर हैं। उन्होंने कहा कि तलाशी के दौरान, डिजिटल उपकरण, सिम कार्ड, मोबाइल फोन और आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई हैं।

Read More 92 विधायकों ने सौंपे सीपी जोशी को इस्तीफे दिल्ली से लेकर राजस्थान तक बढ़ी सरगर्मी

Post Comment

Comment List

Latest News