जीना यहां, मरना यहां” गाने से पायलट फिर आए सुर्खियों में, निकाले जा रहे सियासी मायने

जीना यहां, मरना यहां” गाने से पायलट फिर आए सुर्खियों में, निकाले जा रहे सियासी मायने

पायलट ने एक चैरिटी शो में गाया गाना

जयपुर। पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट का एक चैरिटी शो में गाया गाना सियासी चर्चा का विषय बन गया। उनके समर्थकों ने पहली बार पायलट के मुंह से गाना सुना। अल्बर्ट हॉल पर रोटरी क्लब ने डायलिसिस सेंटर खोलने को लेकर फंड इकट्ठा करने के लिए दो दिन तक कार्यक्रम आयोजित किया था। सचिन पायलट ने यहां 1970 में आई फिल्म मेरा नाम जोकर का गाना- ‘जीना यहां मरना यहां, इसके सिवा जाना कहां’ गाकर सुनाया। पायलट के गाए इस गाने को उनके समर्थक खूब शेयर कर रहे हैं। पायलट के गाए इस गाने की सियासी हलकों में खूब चर्चा हो रही है।


सचिन पायलट को कांग्रेस संगठन में नई जिम्मेदारी मिलने पर राजस्थान से दूर जाने की अटकलों पर पायलट ने एक कार्यक्रम में कहा था कि मैं 50 साल कहीं नहीं जाने वाला। पायलट राजस्थान से लगातार कनेक्ट रहने और यहीं सियासत करने की बात कह चुके हैं। इस गाने के बोल भी उसी बयान की तरफ ही इशारा करने वाले हैं।

Post Comment

Comment List

Latest News