किरोड़ी मीणा की हिरासत के बाद बिगड़ी तबियत, एसएमएस अस्पताल में भर्ती

अस्पताल के बाहर समर्थको का हंगामा

किरोड़ी मीणा की हिरासत के बाद बिगड़ी तबियत, एसएमएस अस्पताल में भर्ती

समर्थकों ने उन्हें पुलिस द्वारा जबरन हटाए जाने और मारपीट करने से चोटिल होने की शिकायत भी की है। पुलिस ने इस आरोप के बाद सभी हिरासत में लिए गए किरोड़ी समर्थकों का मेडिकल मुआयना कर आ रही है। 

जयपुर। पुलवामा के शहीदों की वीरांगनाओं का पिछले 10 दिन से जारी धरना गुरुवार की बीती रात तकरीबन 3:00 बजे पुलिस ने हटा दिया है। वही मौके पर मौजूद किरोड़ी लाल के तकरीबन 10 समर्थकों को पुलिस गिरफ्तार करके अजमेर रोड स्थित महिंद्रा सेज इलाके थाना इलाके में हिरासत में लिए हुए हैं। पुलिस ने जब देर रात धरने को हटाया उस वक्त किरोड़ी लाल धरने पर मौजूद नहीं थे। वे अपने जयपुर स्थित आवास पर थे। उन्हें जब डरना हटाए जाने की सूचना लगी तो वह सुबह सबसे पहले महिंद्रा सेज थाना पहुंचे और अपने समर्थकों से मुलाकात की। समर्थकों ने उन्हें पुलिस द्वारा जबरन हटाए जाने और मारपीट करने से चोटिल होने की शिकायत भी की है। पुलिस ने इस आरोप के बाद सभी हिरासत में लिए गए किरोड़ी समर्थकों का मेडिकल मुआयना कर आ रही है। 

जानकारी के अनुसार वीरांगनाओं को उनके करो पर छोड़ा गया है। एक वीरांगना शाहपुरा के सीएससी अस्पताल में भर्ती कराई गई है। किरोड़ी को जब इसकी जानकारी लेगी तो वह अपने समर्थकों के साथ सामोद होते हुए शाहपुरा जा रहे थे। लेकिन रास्ते में पुलिस ने किरोड़ी लाल मीणा और चोमू के स्थानीय भाजपा विधायक रामलाल शर्मा सहित उनके समर्थकों को गिरफ्तार कर लिया। किरोड़ी ने इस दौरान मीडिया से बातचीत में कहा है कि वीरांगनाओं का अपमान दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकार ने उनके साथ दुर्व्यवहार भी किया है। वीरांगनाओं को न्याय दिलाने तक उनका सत्याग्रह जारी रहेगा। पुलिस और सरकार उन्हें नहीं रोक सकेंगी। उन्होंने कहा कि वह तो सामोद में अपने समर्थकों के साथ बालाजी के दर्शन करने गए थे, क्या एक राज्यसभा सांसद स्वतंत्र रूप से भगवान के दर्शन करने भी नहीं जा सकता है क्या। सरकार की इस तानाशाही का जवाब जनता देगी।

किरोड़ी लाल की पुलिस से हुई बहस:
किरोडीलाल जब सामोद पहुंचे तो पुलिस ने उनका रास्ता रोक लिया। इस दौरान किरोड़ी की पुलिस से जोरदार बहस भी हुई। उन्होंने पुलिस से कहा कि वह उनका रास्ता नहीं रोक सकते हैं। वे कहीं भी आने-जाने को स्वतंत्र है। वीरांगनाओं का अपमान किया गया और मेरे भी पुलिस ने धक्के दिए। पुलिस ने जब किरोडी लाल मीणा को पीने के लिए पानी की बोतल भी तो किरोड़ी ने पानी की बोतल भी फेंके दी। बाद में किरोड़ी को गिरफ्तार कर लिया गया।

किरोडी लाल मीणा एसएमएस में भर्ती, बाहर समर्थकों का हंगामा, राठौड़ का ऐलान भाजपा करेगी बड़ा आंदोलन:
गिरफ्तारी दौरान पुलिस के साथ हुई धक्का-मुक्की और बहस के दौरान किरोड़ी की तबीयत बिगड़ गई। जिसके बाद उन्हें पुलिस हिरासत में गोविंदगढ़ के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ले जाया गया और वहां से सवाई मानसिंह अस्पताल रेफर कर दिया गया है। सवाई मानसिंह अस्पताल में उनके आने की सूचना के चलते उनके समर्थक है बड़ी संख्या में एसएमएस अस्पताल के बाहर इकट्ठे हो गए। और जमकर हंगामा किया। किरोड़ी को यहां अस्पताल की इमरजेंसी में प्राथमिक जांच के बाद एमआरआई के लिए ले जाया गया है। साथ ही डॉक्टर उनकी अन्य जांच भी करवा रहे हैं। इस दौरान यहां उनसे मिलने विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी भी पहुंचे। राजेंद्र राठौड़ ने मीडिया से बातचीत में पुलिस द्वारा राज्यसभा सांसद किरोड़ी के साथ की गई बदसलूकी और वीरांगनाओं के धरने को जबरन पुलिस द्वारा हटाए जाने पर गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि राजस्थान की बीजेपी इस मामले में शांत नहीं बैठेगी। उन्होंने कल जयपुर में बड़ा प्रदर्शन करने का ऐलान किया है। साथ ही प्रदेश भर में इस मामले में आंदोलन करने की भी घोषणा की है।

Read More वाहनों में बिना अनुमति के मोडिफिकेशन करा कर दे रहे हादसों को न्यौता

Post Comment

Comment List

Latest News

कम वोटिंग से राजनीति दलों में मंथन का दौर शुरू, दूसरे चरण की 13 सीटों को लेकर रणनीति बनाने में जुटे कम वोटिंग से राजनीति दलों में मंथन का दौर शुरू, दूसरे चरण की 13 सीटों को लेकर रणनीति बनाने में जुटे
ऐसे में इस बार पहले चरण की सीटों पर कम वोटिंग ने भाजपा को सोचने पर मजबूर कर दिया है।...
भारत में नहीं चाहिए 2 तरह के जवान, इंडिया की सरकार बनने पर अग्निवीर योजना को करेंगे समाप्त : राहुल
बड़े अंतर से हारेंगे अशोक गहलोत के बेटे चुनाव, मोदी की झोली में जा रही है सभी सीटें : अमित 
किडनी ट्रांसप्लांट के बाद मरीज की मौत, फोर्टिस अस्पताल में प्रदर्शन
इंडिया समूह को पहले चरण में लोगों ने पूरी तरह किया खारिज : मोदी
प्रतिबंध के बावजूद नौलाइयों में आग लगा रहे किसान
लाइसेंस मामले में झालावाड़, अवैध हथियार रखने में कोटा है अव्वल