चित्तौड़गढ़ के सासंद सीपी जोशी को मिली राजस्थान बीजेपी की कमान

आलाकमान ने दिल्ली, बिहार और उड़ीसा के प्रदेश अध्यक्षों को भी बदला

चित्तौड़गढ़ के सासंद सीपी जोशी को मिली राजस्थान बीजेपी की कमान

सीपी जोशी को सतीश पूनियां की जगह बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। सीपी जोशी चित्तौड़गढ़ से दूसरी बार सासंद है। वे भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

बीजेपी आलाकमान जेपी नड्डा ने गुरुवार को चित्तौड़गढ़ के सासंद चंद्र प्रकाश जोशी (सीपी जोशी) को राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष की कमान सौंप दी। आलाकमान ने दिल्ली, बिहार और उड़ीसा के प्रदेश अध्यक्षों को भी बदला है। सम्राट चौधरी को बिहार, वीरेंद्र सचदेवा को दिल्ली और मनमोहन सामल को उड़ीसा प्रदेश की जिम्मेदारी सौंपी है।

सीपी जोशी को सतीश पूनियां की जगह बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। सीपी जोशी चित्तौड़गढ़ से दूसरी बार सासंद हैं। वे भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। 47 वर्षीय जोशी ने मोहनलाल सुखाड़िया विवि उदयपुर से शिक्षा प्राप्त की है। निवर्तमान अध्यक्ष सतीश पूनियां ने 14 सितंबर 2019 को बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष का कार्यभार संभाला था।

सीपी जोशी ने मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय से स्नातक किया है। वह चित्तौड़गढ़ के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय से छात्रसंघ उपाध्यक्ष भी रहे हैं। उन्होंने 1994 से 96 में जिला परिषद सदस्य के रूप में कार्य करते हुए वर्ष 2000-05 में अपने क्षेत्र के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। क्षेत्र के विकास के लिए 2005-10 के दौरान उप-प्रधान, भदेसर पंचायत समिति के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। युवा मोर्चा अध्यक्ष और वर्तमान में प्रदेश उपाध्यक्ष थे।

सीपी जोशी का नाम पहले से ही प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर शामिल चेहरों में सबसे टॉप पर था। जोशी को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने से भाजपा ने प्रदेश में ब्राह्मण समाज को भी अपने पक्ष में करने और चुनाव में वोट बैंक में तब्दील करने की रणनीति है। राजस्थान में सतीश पूनिया का 3 साल का कार्यकाल दिसंबर माह में पूरा हो गया था। उसके बाद से ही राजस्थान में भाजपा का नया प्रदेश अध्यक्ष बनने की चर्चाएं भी शुरू हो गई थी। राजस्थान भाजपा में आपसी गुटबाजी के चलते पार्टी किसी ऐसे चेहरे को प्रदेश अध्यक्ष बनाना चाहती थी, जो कि निर्गुट हो। वही ऐसे व्यक्ति को भी प्रदेश अध्यक्ष के रूप में चुनना चाहती थी, जो आगामी विधानसभा चुनाव में पूरी तरह से पार्टी के लिए काम कर सके और स्वयं विधानसभा चुनाव में किसी सीट से उम्मीदवार ना हो। वही किसी एक बड़ी जाति को भी उनके नाम के माध्यम से साधने का प्रयास हुआ है। अब सीपी जोशी प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद पार्टी के बड़े चेहरे के रूप में सामने आएंगे।

Read More दिल्ली हाईकोर्ट ने केजरीवाल की याचिका पर फैसला रखा सुरक्षित

Post Comment

Comment List

Latest News

छत्तीसगढ़ कोल ब्लॉक पर दोनों सीएम के बयानों से विरोधाभास: गहलोत छत्तीसगढ़ कोल ब्लॉक पर दोनों सीएम के बयानों से विरोधाभास: गहलोत
इस मुद्दे पर गुमराह कर रहे हैं या दोनों मुख्यमंत्री मिलकर अपने-अपने राजनीतिक हितों के अनुरूप जनता को गुमराह कर...
RPF ने पिछले 7 वर्षों में 'ऑपरेशन नन्हे फरिश्ते' के तहत 84,119 बच्चों को बचाया
सुस्त निवेश से 10 वर्ष में घाटी आर्थिक विकास की रफ्तार : कांग्रेस
आतंकी हमलों की रोकथाम के लिए केंद्र करे गम्भीरता से प्रयास: गहलोत
बड़ी बड़ी बातें नहीं कर केन्द्र आतंकियों के खिलाफ करें सख्त कार्यवाही: डोटासरा
जयपुर संभाग में हुआ 9 लाख 92 हजार से ज्यादा वृक्षारोपण
औषधि के उच्च मानक तय करना जरूरी, विश्व स्तरीय विनियामक ढांचे की आवश्यकता है: नड्डा