प्राकृतिक आपदा का जल्द आंकलन कर मुआवजा दे सरकार: सीपी जोशी

बेमौसम बारिश और आंधी तूफान की वजह से पशुधन और जनधन की हानि हुई

प्राकृतिक आपदा का जल्द आंकलन कर मुआवजा दे सरकार: सीपी जोशी

जोशी ने कहा कि कई हिस्सों में लोगों के मकान ढ़हने से लोग बेघर हो गए तो कुछ लोगों की मौत हो गई। इतना ही नहीं इस प्राकृतिक आपदा में पशुओं की भी मौत हुई है।

ब्यूरो/नवज्योति,जयपुर। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी ने गुरुवार रात आई आंधी-तूफान और बारिश से हुए नुकसान का जल्द आंकलन कराके सरकार से जनता को मुआवजा देने की मांग की है।

जोशी ने कहा कि राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के कई जिलों में बेमौसम बारिश और आंधी तूफान की वजह से पशुधन और जनधन की हानि हुई है। कई हिस्सों में लोगों के मकान ढ़हने से लोग बेघर हो गए तो कुछ लोगों की मौत हो गई। इतना ही नहीं इस प्राकृतिक आपदा में पशुओं की भी मौत हुई है। संकट की घड़ी में बीजेपी सभी प्रभावित लोगों के साथ हर संभव मदद के लिए खड़ी है।

दो दिनों में राजस्थान भर में आए भीषण तूफान के बाद विभिन्न क्षेत्रों से नुकसान की सूचनाएं मिली है। टोंक सहित कई जिलों में एक दर्जन से अधिक लोगों की मुत्यु का ह्दयविदारक समाचार भी आया है। कई जगह मवेशियों पर पेड़ गिरे हैं। कहीं बिजली पोल गिरने से बिजली गुल है। तो कही टीन शेड व छप्पर को क्षति पहुंचने से आमजन परेशान है। सरकार से मांग है कि प्रभावित क्षेत्रों में व्यवस्थाओं को दुरूस्त करे और पीड़ित परिवारों की हर संभव सहायता करे।
-वसुन्धरा राजे, पूर्व सीएम, राजस्थान

Post Comment

Comment List

Latest News

निकायों के निर्माण कार्यों में एम-सैंड का उपयोग अनिवार्य, प्रोजेक्ट्स में न्यूनतम 25 प्रतिशत एम-सैंड लेंगे काम निकायों के निर्माण कार्यों में एम-सैंड का उपयोग अनिवार्य, प्रोजेक्ट्स में न्यूनतम 25 प्रतिशत एम-सैंड लेंगे काम
नगरीय विकास एवं आवासन विभाग ने एक आदेश जारी किया है, जिसमें निर्माण कार्यों में खनिज बजरी के विकल्प के...
जल जीवन मिशन कामों की कल होगी समीक्षा, प्रति ग्राम पंचायत दो-दो नल जल मित्र के प्रस्ताव होंगे पारित
राज्य सरकार एवं हुडको के मध्य हुआ एमओयू
शंभू बॉर्डर किसान आंदोलन: बैरिकेडिंग पर सुप्रीम कोर्ट ने दिया स्वतंत्र समिति बनाने का सुझाव
राजस्थान को मिला 9959 करोड़ रुपए का बजट
कस्टम ड्यूटी में कटौती के बाद सोना-चांदी की खरीदारी में वृद्धि
AAP ने लगाए आरोप- केंद्र सरकार ने बजट में दिल्ली और पंजाब के साथ किया सौतेला व्यवहार