Kashmir News: अनंतनाग मुठभेड़ तीसरे दिन भी जारी, लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों का पता लगाने के लिए चलाया जा रहा अभियान

छिटपुट गोलीबारी भी जारी

Kashmir News: अनंतनाग मुठभेड़ तीसरे दिन भी जारी, लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों का पता लगाने के लिए चलाया जा रहा अभियान

गुरुवार शाम को तीनों अधिकारियों की शहादत के विरोध में घाटी के कई जिलों में मोमबत्ती जुलूस निकाल कर विरोध प्रदर्शन किया गया।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में सेना और पुलिस के तीन अधिकारियों की शदाहत के लिए जम्मेदार लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों का पता लगाने के लिए चलाया जा रहा अभियान तीसरे दिन में प्रवेश कर गया तथा इस बीच छिटपुट गोलीबारी भी जारी रही।

अधिकारियों ने कहा कि अनंतनाग के कोकरनाग वन क्षेत्र के गारोल में आतंकवादियों को खदेड़ने का अभियान फिर से शुरू हुआ और सुरक्षा बल क्षेत्र की तलाशी के लिए नवीनतम तकनीकों का उपयोग कर रहे हैं। छिपे हुए आतंकवादियों के खिलाफ अभियान में विशिष्ट विशेष बल भी शामिल हो गए हैं।

अधिकारियों ने बताया कि इलाके में गुरुवार शाम को अंधेरा होने के बाद ऑपरेशन रोक दिया गया। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने गुरुवार सुबह कहा,''सुरक्षा बलों ने लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को घेर लिया था जिसमें एक स्थानीय आतंकवादी उजैर खान भी शामिल था, जो अधिकारियों को शहीद करने की घटना में शामिल था।

अभी तक किसी भी आतंकवादी के हताहत होने का कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

Read More पंजाब में स्वर्ण मंदिर में वीडियो बनाने पर प्रतिबंध

बुधवार को आतंकवादियों के साथ हुयी मुठभेड़ में 19 राष्ट्रीय राइफल के कमांङ्क्षडग ऑफिसर कर्नल मनप्रीत ङ्क्षसह और उनके कंपनी कमांडर मेजर आशिष धोनचक तथा जम्मू-कश्मीर पुलिस के पुलिस उपाधीक्षक हिमायूं मुजामिल भट शहीद हो गए और दो अन्य सैनिक घायल हो गए।

Read More Tele Surgery से होगा दूर दराज के क्षेत्रों में उपचार

सेना ने कहा था कि ऊपरी इलाकों में खोजी दस्तों का नेतृत्व कर्नल मनप्रीत और मेजर आशिष की ओर से किया जा रहा था। आशीष और सुरक्षा बलों के कुछ सदस्य ऊबड़-खाबड़ इलाकों से होकर गुजरे जहां घने पत्ते और झाड़यिां थीं।

Read More वैश्विक दक्षिण के लिए महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करेंगे : मोदी

सेना ने कहा कि बुधवार दोपहर को सैनिकों पर भारी गोलीबारी हुई। उन्होंने जवाबी कार्रवाई की और आतंकवादियों से भिड़ गए। इस गोलाबारी में कर्नल मनप्रीत, मेजर आशीष और डीएसपी हुमायूं को गोली लगी जबकि दो अन्य जवान घायल हो गये। बाद में तीनों अधिकारियों ने सेना और सुरक्षा बलों की बेहतरीन परंपराओं को निभाते हुए देश की सेवा में अपनी जानें दे दीं।

गुरुवार शाम को तीनों अधिकारियों की शहादत के विरोध में घाटी के कई जिलों में मोमबत्ती जुलूस निकाल कर विरोध प्रदर्शन किया गया।

Post Comment

Comment List

Latest News

भाजपा को मतदाताओं ने दिखाया वोट की चोट का ट्रेलर, विधानसभा चुनाव में पूरी फिल्म दिखाएं जनता : सैलजा  भाजपा को मतदाताओं ने दिखाया वोट की चोट का ट्रेलर, विधानसभा चुनाव में पूरी फिल्म दिखाएं जनता : सैलजा 
भाजपाइयों ने 10 साल के राज में जितने भी जनविरोधी फैसले लिये हैं, प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही...
घालमेल की राजनीति करना बेनीवाल की पुरानी आदत : ज्योति 
राजस्थान में 2 करोड़ रुपए की हेरोइन बरामद, 3 तस्कर गिरफ्तार
भजनलाल शर्मा ने कर्मचारी चयन बोर्ड के अधिकारी-कर्मचारी संवर्ग के सेवा नियमों संबंधी प्रस्तावों को दी मंजूरी 
पूरी ताकत से विकास की हर योजना पर करना होगा काम : शिवराज
कलराज मिश्र ने किया संविधान पार्क का लोकार्पण
माहेश्वरी समाज ने मनाया महेश नवमी महोत्सव, निकाली शोभायात्रा