आजादी का अमृत महोत्सव : स्वतंत्रता सेनानी दुर्गा प्रसाद चौधरी को श्रद्धांजलि

आजादी का अमृत महोत्सव : स्वतंत्रता सेनानी दुर्गा प्रसाद चौधरी को श्रद्धांजलि

चौधरी ने 1930 से 1947 बीच स्वतंत्रता आंदोलन में निभाई थी अहम भूमिका

 जयपुर। आजादी के अमृत महोत्सव की शृंखला में सोमवार को स्वतंत्रता सेनानी और दैनिक नवज्योति के संस्थापक संपादक कप्तान दुर्गा प्रसाद चौधरी को श्रद्धांजलि दी गई। महोत्सव में कप्तान साहब को श्रद्धांजलि देते हुए उनके व्यक्तित्व और कृतित्व के बारे में जानकारी दी गई। जिसमें बताया कि स्वतंत्रता सेनानी दुर्गा प्रसाद चौधरी ने गांधीजी के आह्वान पर असहयोग आंदोलन में भाग लिया। उन्होंने 1930 से 1947 के मध्य स्वतंत्रता आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए जुलूस, गोष्ठियों और अन्य कई माध्यमों से ब्रिटिश शासन का विरोध किया। राजस्थान सेवा संघ के तत्वावधान में इन्होंने पिछड़े क्षेत्र में लोगों को खेती और चरखा कातने की शिक्षा देकर स्वावलम्बी बनाया। ये निर्भीक पत्रकार भी थे। इन्होंने नवज्योति समाचार पत्र के माध्यम से परतंत्रता, अन्याय व अत्याचार का विरोध किया। स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ पर देश में आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। याद रहे कि 12 मार्च, 1930 को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने नमक सत्याग्रह की शुरुआत की थी। 2020 में नमक सत्याग्रह के 91 वर्ष पूरे होने पर प्रधानमंत्री मोदी ने साबरमती आश्रम से अमृत महोत्सव की शुरुआत पदयात्रा को हरी झंडी दिखाकर की थी। इस महोत्सव की रूपरेखा तय करने के लिए गृहमंत्री की अध्यक्षता में एक राष्ट्रीय क्रियान्वयन समिति बनाई गई है। 15 अगस्त, 2022 को देश की आजादी के 75 साल पूरे होने जा रहे हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए 75वीं वर्षगांठ से एक साल पहले यानी 15 अगस्त 2021 से इन कार्यक्रमों को शुरुआत की थी। इन कार्यक्रमों में देश की अदम्य भावना के उत्सव दिखाने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम भी किए जा रहे हैं। इनमें संगीत, नृत्य, प्रवचन, प्रस्तावना पठन शामिल हैं। इस आयोजन के माध्यम से वोकल फॉर लोकल अभियान को बढ़ावा भी दिया जा रहा है।

महोत्सव स्वाधीनता सेनानियों से प्रेरणा का अमृत
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी कहा है कि आजादी का अमृत महोत्सव यानी आजादी की ऊर्जा का अमृत। आजादी का अमृत महोत्सव यानी स्वाधीनता सेनानियों से प्रेरणाओं का अमृत। आजादी का अमृत महोत्सव यानी नए विचारों का अमृत। नए संकल्पों का अमृत। आजादी का अमृत महोत्सव यानी आत्मनिर्भरता का अमृत।

 

Read More देश जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू करने की है जरुरत : रामदेव

Post Comment

Comment List

Latest News