पुलिसकर्मी बनकर प्रोपर्टी कारोबारी के घर डकैती डालने घुसी गैंग के 6 बदमाश गिरफ्तार

बाइक और कार जब्त

पुलिसकर्मी बनकर प्रोपर्टी कारोबारी के घर डकैती डालने घुसी गैंग के 6 बदमाश गिरफ्तार

पुलिस ने गैंग के कब्जे से बाइक और कार को जब्त किया है। पूछताछ में सामने आया है कि जेल में बैठकर प्रोपर्टी कारोबारी के घर डकैती डालने की प्लानिंग बनाई गई।

जयपुर। करधनी थाना पुलिस ने फर्जी पुलिसकर्मी बनकर प्रॉपर्टी कारोबारी के घर में डकैती डालने के लिए घुसे गिरोह के 6 बदमाशों को गिरफ्तार किया है। डकैती के लिए मास्टर प्लान बनाने वाले दो बदमाशों की तलाश की जा रही है। पुलिस ने गैंग के कब्जे से बाइक और कार को जब्त किया है। पूछताछ में सामने आया है कि जेल में बैठकर प्रोपर्टी कारोबारी के घर डकैती डालने की प्लानिंग बनाई गई।  लेकिन पालतु डॉग के अटैक के चलते फेल हो गए। 

डीसीपी (वेस्ट) वंदिता राणा ने बताया कि गैंग के बदमाश संजीव मीणा उर्फ संजय (23) पुत्र महेश कुमार मीणा निवासी शाहपुरा अमरसर जयपुर, सरताज (32) पुत्र मेहराज, उसके भाई शाहरूख (26) और प्रमोद जाटव (31) पुत्र सुरजभान सिंह निवासी मुकटेश्वर गढ हापुरा उत्तर प्रदेश और विकास रैगर (20) पुत्र चौथमल निवासी गांव गुटामान सिंह रेनवाल व पवन मीणा (20) पुत्र कैलाश चन्द्र मीणा निवासी गांव लालासर रेनवाल को गिरफ्तार किया गया है। डकैती की प्लानिंग करने वाले मास्टर माइंड महेन्द्रगढ़ हरियाणा निवासी विकास उर्फ विक्की रोहीला और गोपाल उर्फ बन्टू की तलाश की जा रही है। गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे में वारदात में यूज बाइक और कार जब्त की गई। रेकी व वारदात के दौरान यूज की बाइक-कार पर फर्जी नंबर प्लेट लगाई गई थी। पुलिस गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ करने के साथ ही दोनों वाहनों के बारे में जानकारी जुटा रही है। 

पुछताछ में सामने आया है कि मास्टर माइंड विकास उर्फ विक्की और गोपाल उर्फ बन्टू के खिलाफ दर्जनों क्रिमिनल प्रकरण दर्ज है। जेल में एक साथ बंद रहने के दौरान उनकी दोस्ती हो गई। जेल में आए एक बदमाश से बातचीत हुई। उसने बताया कि करधनी के मंगलम सिटी में प्रोपर्टी कारोबारी भंवर सिंह रहता है। हाइपर सिटी से वह प्रोपर्टी और फाइनेंस का काम करता है। उसके घर डकैती डालने पर लाखों रुपए कैश और 2-3 किलो सोने-चांदी के गहने मिल सकते है। दोनों क्रिमिनल दोस्त विकास और गोपाल ने जेल में बैठकर प्रोपर्टी कारोबारी के घर डकैती की प्लानिंग बनाई।

करीब 2 महीने पहले ही दोनों जेल से छूटकर बाहर आए। मास्टर माइंड विकास ने वैशाली नगर में रहने वाले अपने दोस्त संजय मीणा से कॉन्टैक्ट किया। कॉन्टैक्ट कर संजय को कालवाड़ रोड पर रहने वाले प्रोपर्टी कारोबारी के घर डकैती की प्लानिंग के बारे में बताया। खो-खो गेम में गोल्ड मेडलिस्ट संजय को बदमाशों के रुकने और खाने-पीने की व्यवस्था करने की कहा। उसके बाद उत्तर प्रदेश के शाहरूख, सरताज और ब्यावर अलवर से प्रमोद को डकैती के लिए बुलाया। करीब 2 साल पहले आरोपी शाहरूख जयपुर में ज्वेलरी शोरूम में डकैती डालने में गिरफ्तार हो चुका है। ,बदमाश प्लानिंग के तहत 13 सितम्बर को स्विफ्ट कार से  प्रोपर्टी कारोबारी के घर डकैती डालने पहुंच गए। इस दौरान कारोबारी के पालतू कुत्ते ने बदमाशों पर अटैक किया। बदमाश गोपाल गोली चलाने वाला था, लेकिन उससे पहले ही उसके साथी वहां से बाहर भाग गए। उसे छोड़कर भागते देखकर वह भी घबरा गया। चारों बदमाश कार में बैठकर वहां से भाग निकले।

 

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News