पुलिस की टीम पर आंखों में मिर्च फेंककर आरोपी को छुड़ाया, एसआई का सिर फोड़ा

हमला करने के मामले में बहन और बेटी गिरफ्तार

पुलिस की टीम पर आंखों में मिर्च फेंककर आरोपी को छुड़ाया, एसआई का सिर फोड़ा

आरोपी को पकड़ने के दौरान पहले एएसआई के सिर पर सरिया से हमला कर गंभीर घायल कर दिया। इस दौरान आरोपी को छुड़ाने के लिए घर की महिलाओं ने दो कांस्टेबल की आंखों में भी मिर्ची पाऊडर फेंक कर परिजन छुड़ा लिया।

देई (बूंदी)। जान से मारने की धमकी देने वाले आरोपी को पकड़ने के दौरान देई थाना पुलिस की टीम के एएसआई सहित तीन पुलिसकर्मियों की आंखों में मिर्च पाउडर डालकर जानलेवा हमला किया। आरोपी को पकड़ने के दौरान पहले एएसआई के सिर पर सरिया से हमला कर गंभीर घायल कर दिया। इस दौरान आरोपी को छुड़ाने के लिए घर की महिलाओं ने दो कांस्टेबल की आंखों में भी मिर्ची पाऊडर फेंक कर परिजन छुड़ा लिया। इसके बाद राज्यकार्य में बाधा और पुलिस टीम पर जानलेवा हमला करने के मामले में पुलिस ने आरोपी बहन और बेटी को गिरफ्तार कर लिया। जबकि हमलावर मुख्य आरोपी, पत्नी और एक बेटी की तलाश की जा रही है। 

जगमुंदा निवासी बदरीबाई मीना पत्नी रमेश मीना ने देई थाना पुलिस में आरोपी भंवरलाल मीणा द्वारा गाली गलौच कर धक्का मुक्की कर जान से मारने की धमकी का परिवाद दिया था। ड्यूटी ऑफिसर अर्जुन सिंह, कांस्टेबल विश्वेन्द्र और चालक नरेश थाने की सरकारी गाड़ी से जगमुंदा गांव में आरोपी भंवरलाल से पूछताछ के बाद उसे थाने लेकर आने वाले ही थे कि आरोपी की पत्नी रामपति बाई ने पुलिस टीम से आरोपी को छुड़ाने का प्रयास किया। 

यूं किया हमला
इसी दौरान आरोपी की बेटी पूजा मीना व बहिन केलीबाई घर के अंदर से हाथ में मिर्च पाऊडर लेकर आई और आते ही एएसआई अर्जुन सिंह की आंखों में मिर्च पाऊडर फेंक दिया। कांस्टेबल विश्वेन्द्र पर भी मिर्च पाऊडर फेंका गया। दोनों आरोपी को छोड़कर अपनी आंखों से मिर्च पाऊडर हटाने लगे तो आरोपी भंवरलाल मीणा ने लोहे के सरिये से एएसआई अर्जुन सिंह के सिर पर वार कर दिया जिससे अर्जुन सिंह का सिर फट गया।  आरोपी ने दूसरा वार किया तो एएसआई अर्जुन सिंह ने अपने दोनों हाथ ऊपर कर जान बचाई। पुलिस के ड्राइवर नरेश के ऊपर मिर्ची पाऊडर फेंका पर और तब तक सचेत हो गया था और उसने अपनी आंखों को बन्द कर दिए। सजगता रख कर आंखों के आगे हाथ लगा लिए। 

पुलिस टीम जान बचा कर मौके से भागी और देई अस्पताल पहुंच कर उच्चाधिकारियों को सूचना दी। वहीं देई अस्पताल में घायल एएसआई अर्जुन सिंह को भर्ती कर उपचार कर बूंदी रेफर किया गया। एएसआई अर्जुन सिंह  की रिपोर्ट पर देई थाने में आरोपियों के खिलाफ राजकार्य में बाधा व जानलेवा हमले का मामला दर्ज किया।

मुख्य आरोपी के खिलाफ आधा दर्जन मामले दर्ज
थानाधिकारी बुद्धराम जाट ने बताया कि यह पूरा परिवार अपराधिक प्रवृत्ति का है। भंवरलाल मीणा के खिलाफ देई थाने में आधा दर्जन मामले दर्ज हैं और आरोपी की बहन केली बाई के खिलाफ देई थाने में 2004 में व करवर थाने में 2018 को मारपीट का मामला दर्ज है। इसकी पत्नी व एक बेटी के खिलाफ भी देई थाने में मारपीट करने का मामला दर्ज है। 

Post Comment

Comment List

Latest News

जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम
सचिव शिव जालान ने बताया कि इसमें अनेक कलाकार गीतों, गजलें और नज्मों से स्व. जगजीत सिंह को स्वरांजलि अर्पित...
सतीश पूनियां ने सीएम को लिखा पत्र, आमेर विस क्षेत्र की मांगों को बजट में शामिल करने का किया आग्रह
केरल का इंटरनेशनल थियेटर फेस्टिवल 5 फरवरी से होगा शुरू
मोबाइल फोन के बेतहाशा इस्तेमाल से बढ़ा विजन सिंड्रोम का खतरा
तालिबान प्रशासन व्याख्याता मशाल को तत्काल रिहा करें: संयुक्त राष्ट्र
अडानी सीमेंट के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग
खान सुरक्षा अभियान में निदेशक खान का जोधपुर दौरा