पैदल चंबल पार कर करौली आ रहे सात श्रद्धालु बहे

तीन के शव बरामद, कैला माता के दर्शन करने आ रहे थे

पैदल चंबल पार कर करौली आ रहे सात श्रद्धालु बहे

मुरैना कलक्टर अंकित अस्थाना ने बताया कि राजस्थान मध्यप्रदेश सीमा पर सबलगढ़ अनुविभाग के टेंटरा थाने स्थित रायड़ी राधेन गांव के पास चम्बल नदी पार कर 17 लोग राजस्थान स्थित कैला देवी माता के दर्शन करने जा रहे थे।

करौली। मध्यप्रदेश के मुरैना जिले से शनिवार को पैदल चंबल नदी पार कर राजस्थान के करौली माता दर्शन के लिए आ रहे सात श्रद्धालु करौली जिले के मंडरायल क्षेत्र में रोधई के समीप जगडरपुरा में नदी के तेज बहाव में बह गए। हादसे में अब तक तीन लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं, जबकि चार की तलाश अब भी जारी है। मुरैना कलक्टर अंकित अस्थाना ने बताया कि राजस्थान मध्यप्रदेश सीमा पर सबलगढ़ अनुविभाग के टेंटरा थाने स्थित रायड़ी राधेन गांव के पास चम्बल नदी पार कर 17 लोग राजस्थान स्थित कैला देवी माता के दर्शन करने जा रहे थे। इस दौरान सात लोग पानी के बहाव में बह गए। तीन के शव बरामद कर लिए गए हैं। शेष चार की तलाश जारी है। प्रशासन लगातार बचाव कार्य में जुटा है। 

सभी श्रद्धालु शिवपुरी जिले के 
सूत्रों के अनुसार सभी लोग मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले के चिलावद गांव निवासी थे। इनमें से से 10 लोग सुरक्षित हैं। दो के शव मिले हैं। प्रशासन मौके पर पहुंच गया है, राहत व बचाव कार्य जारी है। 

मगरमच्छ की अफवाह से मची अफरातफरी
बताया जा रहा है कि जब लोग नदी पैदल पार कर रहे थे, उसी दौरान मगरमच्छ दिखाई देने की अफवाह फैली और श्रद्धालु नदी के भीतर ही घबरा गए। इसी दौरान यह हादसा हुआ। सात लोग नदी पार कर राजस्थान की सीमा में पहुंच गए, वहीं तीन लोग रायड़ी गांव के पास ही रह गए।    

राज्यपाल मिश्र ने व्यक्त की शोक संवेदनाएं 
राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने जान गंवाने वाले तीन श्रद्धालुओं के प्रति गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने ईश्वर से मृतकों की पुण्यात्मा की शांति और परिजनों को यह दु:ख सहन करने की शक्ति प्रदान करने की कामना की है।

Read More पूर्व सैनिकों की समस्याओं का समयबद्ध हो समुचित समाधान : मिश्र

Post Comment

Comment List

Latest News